अच्छा! आपसे एक सवाल है।  क्या आप सेहत के प्रति सचेत रहते हैं? अगर हां, तो फिर आपको डिजिटल हेल्थ कार्ड के बारे में ज़रूर मालूम होगा? अगर आपको इसके बारे में कुछ अधिक जानकारी नहीं है, तो आज इस लेख में हम आपको इसके बारे में बताने जा रहे हैं।

पिछले कुछ दिनों से डिजिटल हेल्थ कार्ड चर्चा का विषय बना हुआ है। खासकर जब से विश्व भर में कोरोना फैला है, तब से सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि, विश्व भर में इस पर खासा ध्यान दिया जा रहा है। आज के समय में लगभग हर कोई इसके माध्यम से बहुत कम पैसे में आसानी से अपना इलाज करवा सकता है। इस पहचान पत्र में लोगों का स्वास्थ्य संबंधी जानकारी आसानी से मौजूद होती है, तो आइए इसके बारे में जानते हैं।

क्या है डिजिटल हेल्थ कार्ड?

 what is digital health card and how to make it inside

सबसे पहले आपको बताते है कि डिजिटल हेल्थ कार्ड क्या होता है। आपको बता दें कि यह एक तरह से सामान्य कार्ड की तरह होता है जिसमें स्वास्थ्य संबंधी रिकॉर्ड मौजूद रहता है। अगर सीधे शब्दों में बोला जाए तो, आपकी बीमारियों के इतिहास के बारे में पूरी जानकारी डिजिटल रूप में उपलब्ध होगी। इसमें पता, पिता का नाम, आदि चीजें डिजिटल रूप में मौजूद होंगी। इसे आधार कार्ड की तरह आसानी से कैरी कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: क्या कहता है इवनिंग में एक्सरसाइज करने के बारे में आयुर्वेद, आप भी जानें

Recommended Video


कैसे बनेगा डिजिटल हेल्थ कार्ड

what is digital health card and how to make it inside

डिजिटल हेल्थ कार्ड को आप आसानी से घर पर ही ऑनलाइन माध्यम से बना सकते हैं। इसके अलावा आप कॉमन सर्विस या साइबर कैफे में जाकर भी बनवा सकते हैं। अगर आप खुद ही बनाना चाहते हैं, तो फिर आपको ndhm.gov.in पर जानकर स्टेप-बाय-स्टेप फॉर्म को भरना होगा।

  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपको 'क्रिएट हेल्थ आईडी' विकल्प पर क्लिक करना होगा।    
  • डिजिटल हेल्थ कार्ड बनाने के लिए आप आधार कार्ड या मोबाइल नंबर में से विकल्प का चुनाव कर सकते हैं।
  • फ़ोन नंबर डालते ही आपको एक ओटीपी मिलेगी।
  • ओटीपी जैसे ही डालेंगे आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा जिसके बाद आपको सभी जानकारी देनी होगी।
  • जब आप सभी जानकारी भर देंगे तो आपके डिजिटल हेल्थ कार्ड बनकर तैयार हो जाएगा। 
  • इस कार्ड में एक क्यूआर कोड भी होता है।
 

डिजिटल हेल्थ कार्ड के फायदे 

what is digital health card and how to make it inside

डिजिटल हेल्थ कार्ड के सबसे बड़े फायदे ये है कि आपको डॉक्टर के पुराने पर्चे और टेस्ट की रिपोर्ट को साथ लेकर जाने की ज़रूरत नहीं है। इस कार्ड के माध्यम सभी जानकारी एक साथ रहती है। इस कार्ड के ऊपर मौजूद यूनिक आईडी नंबर से डॉक्टर आपकी पिछली स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के बारे में आसानी से जान जाएंगे। अगर कोई रिपोर्ट खो जाती है, तो इस कार्ड में मौजूद जानकारी काम आ जाएगी। एक तरह से आपकी मेडिकल हिस्ट्री इस कार्ड में मौजूद होगी।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:(@img.onmanorama.com,feeds.abplive.com)