भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री रही सुषमा स्वराज अब हमारे बीच नहीं रहीं। मंगलवार देर शाम हार्ट अटैक आने से दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में उनका निधन हो गया। सुषमा स्वराज को देर शाम हार्ट अटैक आया था। तब उनके परिवार वालों ने उन्हें एम्स में एडमिट करा दिया था। तबियत बिगड़ने के कारण रात 9 बजकर 50 मिनट के आसपास सुषमा स्वराज के घर वाले उन्हें एम्स में एडमिट कराने ले आए थे। सुषमा स्वराज के एडमिट होने के बाद से ही लोगों का उन्हें देखने के लिए तातां लगने लगा। स्वषमा को देखने सबसे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन पहुंचे थे। वैसे इस बात का पता सभी को था कि सुषमा स्वराज कुछ दिन से बहुत ज्यादा बिमार थीं। अपनी तबियत से परेशान होने के कारण ही उन्होंने इस बार लोकसभा चुनाव भी नहीं लड़ा था। मगर, बीजेपी की इस नेत्री के मात्र 67 की उम्र में दुनिया को अलविदा कह जाने का अनुमान शायद किसी को नहीं था। सुषमा स्वराज ने अपने आंखें सदा के लिए मूंदने से पहले आखरी शब्द सोशल मीडिया पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम लिखे थे। 

सुषमा स्वराज ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटने के बाद अपने ट्विटर अकाउंट से पीएम मोदी के लिए लिखा था, ‘ प्रधानमंत्री जी, आपका हार्दिक अभिनन्दन, मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी।’

सुषमा स्वराज के निधन से मात्र 3 घंटे पहले ही इस ट्वीट को किया गया था। इसके बाद बीजेपी की तेजतर्रार नेता अपनी आंखों को सदा के लिए मूंदने के सफर पर निकल पड़ीं। उन्हें अटैक आया तो घर वाले उन्हें अस्पताल ले आए। अस्पताल लाने के बाद उनकी हालत गंभीर ही बनी रहीं। 

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अभिनंदन करने से पहले सुषमा स्वराज ने गृह मंत्री अमित शाह को बधाई दी थी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘ राज्य सभा के उन सभी सांसदो का बहुत बहुत अभिनंदन जिंहोंने आज धारा 370 को समाप्त करने वाले संकल्प को पारित करवा कर डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान को सच्च्ी श्रद्धांजलि दी और उनके एक भारत के सपने को साकार किया।’

दूसरे ट्वीट में सुषमा स्वराज ने लिखा, ‘गृह मंत्री श्री अमित शाह जी को उत्कृष्ट भाषण के लिए बहुत बहुत बधाई।’ यह दोनों ही ट्वीट सुषमा स्वराज ने 5 अगस्त को किए थे। सुषमा स्वराज के गुजर जाने के बाद पीएम मोदी से लेकर देश का हर बड़ा नेता उनके इस तरह चले जाने पर दुख प्रकट कर रहा हैं। 

सूत्रों की माने तो ढाई साल पहले  सुषमा स्वराज ने किडनी ट्रांसप्लांट करवाया था और तब ही से उनका स्वास्थ्य सही नहीं रहता था। मगर, जब तक सुषमा स्वराज स्वस्थ्य रही तब तक वह लोगों की मदद करने से पीछे नहीं हटीं। विदेश मंत्री के पद पर रहीं सुषमा स्वराज ने बड़े बड़े काम किए। लोगों ने उनसे ट्वीट करके मदद मांगी तो वह हमेशा आगे बढ़कर उनका सहारा बनीं। देश के लिए सुषमा स्वराज ने जो महत्वपूर्ण कार्य किए उनके लिए देश हमेशा उन्हें याद करेगा।