नेहा धूपिया और अंगद बेदी हाल ही में दूसरी बार माता-पिता बने हैं। किसी भी जोड़े के लिए दूसरी बच्चे का सुख बहुत ही निराला होता है और इस दौरान वो बहुत अलग-अलग तरीकों के बदलाव अपनी जिंदगी में महसूस करता है। ऐसा नहीं है कि इस दौरान किसी जोड़े को खुशी नहीं महसूस होती, लेकिन इस दौरान कई चीज़ों का प्रेशर भी रहता है। पर नेहा और अंगद इस प्रेशर को कैसे हैंडल कर रहे हैं?

नेहा धूपिया और अंगद बेदी ने अपनी जिंदगी के इस नए पड़ाव को बखूबी निभाया है और इस दौरान वो अलग-अलग तरह की चीज़ों को एक्सपीरियंस कर रहे हैं। दिल्ली में आयोजित हुए Mark and Spencer के खास इवेंट के दौरान नेहा और अंगद से दैनिक जागरण ने खास बातचीत की जहां पति-पत्नी के रिश्ते, बच्चों की जिम्मेदारी और घरेलू चर्चाओं से जुड़ी बातें हुईं। 

नेहा और अंगद ने खुशहाल जिंदगी के कुछ राज़ भी खोले। तो चलिए जानते हैं कि उन दोनों ने इस इंटरव्यू में क्या और कैसे कहा। 

neha and angad second baby thoughts

दूसरी बार माता-पिता बनने पर कैसे हैं विचार?

इस सवाल के जवाब में नेहा ने कहा, 'इन तीन पड़ावों ने मेरी जिंदगी बदल दी है। मैं अपने अंदर ही बहुत बदलाव महसूस कर रही हूं। जब से हमारी शादी हुई, फिर मेहर हुई और अब हमारा बेटा हुआ है, मैं इन तीनों पड़ावों को जिंदगी भर याद रखूंगी और संजो कर रखूंगी।'

 

इसे जरूर पढ़ें- नेहा धूपिया की जिंदगी से जुड़ी कुछ रोचक बातों को जानें

इसी सवाल के जवाब में अंगद का जवाब भी बेहद खूबसूरत था, अंगद ने कहा, 'हमारा परिवार पूरा हो गया है और हम ऊपरवाले के शुक्रगुजार हैं कि उसने हमें ये नेमत दी है। हम सभी के शुक्रगुजार हैं जिन्होंने हमें इतना प्यार दिया है। मेरी पत्नी को सभी प्यार करते हैं और वो एक बहुत ही खूबसूरत इंसान हैं। मैं बहुत खुशकिस्मत हूं कि मेरी उनसे शादी हुई है।'

neha and angad both children

प्रेग्नेंसी और बच्चों के पालन में पिता का क्या रोल होता है?

ये एक बहुत अहम सवाल है जो माता-पिता बने हर नए जोड़े के सामने आता है वो ये कि आखिर बच्चे के पैदा होने के बाद पिता का क्या रोल होता है। इसपर अंगद बेदी का जवाब कुछ ऐसा था, 'जहां तक पुरुषों का सवाल है उन्हें अपनी पत्नी और बच्चों के लिए मौजूद रहना होता है। सिर्फ नाम के लिए नहीं बल्कि हर काम के लिए।' 

'हमारे समाज में कहीं ना कहीं पिता को क्रेडिट दे ही दिया जाता है जबकि मां का रोल बहुत अहम है। जो महिला 9 महीने अपने बच्चे को अपनी कोख में रखती है उसे बहुत प्यार और सम्मान की जरूरत होती है। एक महिला का सिर्फ शरीर नहीं बदलता उसका मन भी बदलता है और दोबारा वापसी करने में उसे बहुत हिम्मत लगती है। इस समय सपोर्ट की आवश्यकता बहुत होती है।' 

'वो सोच कि एक पुरुष को पैसा कमाने जाना है और महिला घर में काम करेगी ये पुरानी सोच है। मेरी पत्नी हर जगह काम करती है। वो घर से काम करती है, फिल्मों की शूटिंग के लिए जाती है, हर तरह की जिम्मेदारी बराबर उठाती है तो फिर उसे क्रेडिट मिलना चाहिए।' 

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- नेहा धूपिया महिलाओं को देती हैं इंडिपेंडेंट लाइफ जीने का संदेश 

हर वक्त परफेक्ट दिखने का प्रेशर कैसा होता है? 

ये बहुत जरूरी सवाल है कि हर वक्त परफेक्ट दिखने का प्रेशर बहुत ज्यादा है और ऐसे में नेहा और अंगद इसे कैसे झेलते हैं। इसपर नेहा धूपिया ने बहुत ही खूबसूरत जवाब दिया है।  

'मैं उन इंसानों में से एक हूं जिसने ऐसा प्रेशर फील किया है। मैं एक परफेक्ट साइज में रहना चाहती थी और उसके लिए बहुत कुछ करती थी और 30 के पार होने के बाद एक चीज बहुत अच्छी होती है कि आपको अपने साइज को लेकर खराब नहीं लगता और आप खुद ही बेहतर फील करते हैं। किसी की सक्सेस जिम में नहीं लिखी जाती है। इससे फर्क नहीं पड़ता कि कौन से साइज में हैं आप, लेकिन हर तरह से परफेक्ट हैं और अगर आप चाहें तो कुछ भी कर सकते हैं।' 

'आपको अपने साइज को सेलिब्रेट करना चाहिए क्योंकि ये आपकी शख्सियत है।' 

नेहा और अंगद ने इसके साथ ही मार्क एंड स्पेंसर ब्रांड की भी बात की जिसके शो में ये दोनों दिल्ली आए थे। नेहा का कहना था कि वो इस समय अपने सबसे बड़े साइज में हैं और फिर भी शो स्टॉपर बनी हैं और हर तरह का साइज अपने आप में परफेक्ट है।  

नेहा और अंगद की इन खूबसूरत बातों को जानकर आपको कैसा लगा ये हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरीज पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।