जब भी बिस्कुट की बात होती है तो सबसे पहले पारले जी का नाम ही जुबां पर आता है। हमारी स्वतंत्रता से भी अधिक पुराने इस ब्रांड के बिस्कुट को लोग आज भी इतना ही पसंद करते हैं और इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि लॉकडाउन के समय इस बिस्कुट ने रिकॉर्ड तोड़ ब्रिकी की थी और इस बात की पुष्टि पारले-जी के आधिकारिक ट्विटर चैनल पर भी की गई थी। वैसे तो ये बिस्कुट सदियों से हमारी चाय का हिस्सा रहा है लेकिन हाल ही में इसके बढ़े हुए दामों की वजह से ये चर्चा में है। आइए जानें इससे जुड़ी कुछ बातों के बारे में। 

हाल ही में बढ़े बिस्कुट के दाम 

पिछले कई सालों में कई अलग-अलग ब्रांड और फ्लेवर के बिस्कुट आए और गए, लेकिन पारले जी आज भी सबका फेवरिट है। इसे बच्चों से लेकर बड़ों तक हर किसी के द्वारा खाया जाता है। यह कुछ ऐसा है जो अमीर और गरीब दोनों के पास होता है और हर तबके के लोग इसे इसके कम दामों की वजह से आसानी से खरीद सकते हैं। लेकिन इसके दामों में हाल ही में 5-10% की बढ़ोत्तरी हो गई है। जिसकी वजह से ये बिस्कुट आजकल लोगों के बीच चर्चा में आ गया है।

सबसे ज्यादा बिकने वाला बिस्किट

facts about parle g biscuits

एक सर्वेक्षण के अनुसार, पारले-जी दुनिया में सबसे अधिक बिकने वाला बिस्कुट ब्रांड है। हाल के एक बयान में, कंपनी ने यह भी साफ़ किया कि COVID-19 के कारण राष्ट्रीय लॉकडाउन के दौरान, उन्होंने पिछले 8 दशकों में बिस्कुट की रिकॉर्ड बिक्री दर्ज की।

इसे जरूर पढ़ें- घर में सिर्फ 30 मिनट में बचे हुए बिस्कुट से कुकर में केक बनाएं

हमारी आजादी से भी पुराना

facts about parle g biscuits

सुनकर आपको शायद हैरानी हो, लेकिन यह बिस्कुट हमारी आजादी से भी पुराना है। यह बिस्कुट पिछले 8 दशकों से अधिक समय से सफलतापूर्वक चल रहा है। आपको बता दें कि पारले जी ने 1939 में अपने विले पार्ले हलवाई की दुकान में बिस्कुट का उत्पादन शुरू किया। जबकि भारत को स्वतंत्रता साल 1947 में मिली थी (स्वतंत्रता दिवस से जुड़े कुछ फैक्ट्स)।

G का मतलब ग्लूकोज

facts about parle g biscuits

क्या आपने कभी सोचा है कि पारले-जी में जी का क्या अर्थ है? ब्रांड के अनुसार, यह ग्लूकोज को संदर्भित करता है, 80 के दशक की शुरुआत में बिस्कुट को पारले ग्लूको कहा जाता था। बाद में, कुछ कूल फैक्टर को जोड़ने के लिए इसका नाम बदलकर Parle-G कर दिया गया। हालाँकि, समय के साथ लोगों को विश्वास होने लगा कि Parle-G का मतलब जीनियस है।

स्वाद में नहीं हुआ कोई बदलाव

facts about parle g biscuits

आमतौर पर नए ब्रांड्स ग्राहकों को लुभाने के लिए एक ही प्रॉडक्ट के कई फ्लेवर्स मार्केट में उतारते हैं। लेकिन पारले जी के स्वाद में आजतक किसी तरह का समझौता या बदलाव नहीं हुआ है। एक ब्रांड जो 73 से अधिक वर्षों से सफलतापूर्वक चल रहा है, उसके स्वाद को आज भी ऐसे ही बरकरार रखा गया है। एक ही सफेद और पीले रंग की एक प्यारी सी लड़की की तस्वीर के साथ हल्के से मीठे कुरकुरे बिस्कुट ले जाते हुए तस्वीर आपको इस पर देखने को मिलेगी।

Recommended Video

पैकेट पर छपी लड़की की सच्चाई

facts about parle g biscuits

इस बिस्कुट को लोग जितना पसंद करते हैं, इस पर छपी लड़की के बारे में भी उतना ही जानना चाहते हैं। अगर सोशल मीडिय रिपोर्टों पर विश्वास किया जाए, तो कवर पर सबसे सुंदर लड़की नागपुर के नीरू देशपांडे नाम की एक जीवित इंसान है।

इसे जरूर पढ़ें- डायमंड से जुड़े ये फैक्ट्स आपको नहीं होंगे मालूम

हालांकि, पारले कंपनी के प्रॉडक्ट मैनेजर मयंक शाह यह बात साफ कर चुके हैं कि यह किसी वास्तविक व्यक्ति की तस्वीर नहीं है, बल्कि सिर्फ एक इलस्ट्रेशन है। इस इलस्ट्रेशन को एवरेस्ट क्रिएटिव के कलाकार मगनलाल दइया द्वारा 1960 के दशक में बनाया गया था।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।