• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

जानें 80,000 से ज्यादा मामलों को सुलझाने वाली भारत की पहली महिला जासूस की रजनी पंडित की कहानी

देश की पहली महिला डिटेक्टिव रजनी पंडित के बारे में आपने जरूर सुना होगा। जिन्हें लेडी जेम्स बॉन्ड कहा जाता है, जानें उनके संघर्ष की कहानी।
author-profile
Published -12 Jul 2022, 08:00 ISTUpdated -03 Aug 2022, 16:40 IST
Next
Article
Rajani Pandit first women ditective story

आपने जासूसी से जुड़ी फिल्में कभी न कभी जरूर देखीं होंगी। या फिर उस प्राइवेट डिटेक्टिव की कहानी सुनी होगी, जो चुटकियों में मुश्किल से मुश्किल केस सुलझा लेता है। डिटेक्टिव शब्द से हमारे मन में कोट पहने एक आदमी का ख्याल आता है। लेकिन आज हम आपको असल जिंदगी में डिटेक्टिव रहीं रजनी पंडित की के बारे में बताएंगे। जिन्हें नाम भारत के प्रसिद्ध जासूसों में शुमार है। आइए जानते हैं रजनी पंडित की दिलचस्प कहानी और उनके संघर्ष के बारे में- 

रजनी पंडित कौन हैं?

who is rajani pandit

देश में लेडी जेम्स बॉन्ड के नाम से मशहूर रजनी का जन्म 1962 में महाराष्ट्र के पालघर जिले में हुआ। बचपन से ही उन्हें जासूसी वाले उपन्यास पढ़ने बेहद पसंद थे। उस वक्त रजनी को बिल्कुल भी खबर नहीं थी कि एक दिन वो देश की जानी मानी जासूस बनेंगी। 

पिता के कारण मिले जासूसी के गुण

रजनी के पिता पुलिस में थे। इस कारण हमेशा से उन्हें क्राइम और रहस्य से जुड़ी चीजों के बारे में जानना बेहद पसंद था। 

कॉलेज जाकर बढ़ी जासूसी में दिलचस्पी

Who is India's First Lady Detective

रजनी ने मुंबई के रुपारेल कॉलेज से मराठी साहित्य में ग्रेजुएशन की पढ़ाई की। दरअसल साल 1983 में रजनी ने अपनी एक क्लासमेट वे विहेवियर को नोटिस करते हुए उस पर जासूसी की थी। तब उन्होंने बड़ी ही चालाकी से यह पता लगाया था कि उनकी क्लासमेट वैश्यावृत्ति में शामिल है। इस तरह रजनी को जासूसी से जुड़ा अपना पहला केस मिला। 

नौकरी छोड़कर बनी जासूस

कॉलेज खत्म होने के बाद रजनी को क्लर्क की नौकरी मिली। उस दौरान ऑफिस में काम कर रही एक महिला के घर चोरी हुई। महिला को अपनी बहु पर शक था। तब रजनी ने इस केस को अपनी जासूसी से सुलझा दिया। महिला का शक अपनी बहु पर था, मगर असल में उनका बेटा चोरी कर रहा था। केस सॉल्व होने के बाद रजनी को पैसे मिले। इसी के साथ यह रजनी का पहला पेड केस था जहां उन्होंने अपनी स्किल्स से कमाल कर दिया। 

देश की पहली महिला जासूस के तौर पर जानी गईं रजनी

चोरी का केस सॉल्व करने के बाद रजनी पंडित की बहुत तारीफ हुई। लेकिन जब यह बात रजनी के पिता को पता चली, तब उन्होंने जासूसी के खतरे से आगाह किया। हालांकि रजनी की मां ने उन्हें सपोर्ट किया और वो जासूस के तौर पर उभर कर सामने आईं। 

इसे भी पढें- अरुंधति रॉय: भारत की वो पहली महिला जिसने जीता बुकर पुरस्कार अवॉर्ड

रजनी ने सॉल्व की मर्डर मिस्ट्री

first female private detective of india

रजनी के जासूसी करियर में उन्हें कई मुश्किल केस मिले। लेकिन वो मानती हैं कि एक मर्डर मिस्ट्री का केस उनके लिए बेहद मुश्किल था। हालांकि कई मुश्किलों के बाद रजनी ने इस केस को सॉल्व कर लिया। 

साल 1991 में शुरू की डिटेक्टिव एजेंसी

अपने करियर में कई केस सॉल्व करने के बाद रजनी ने साल 1991 में अपनी एजेंसी की शुरुआत की, जो रजनी इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो के नाम से फेमस हुआ। उन्होंने मुंबई के माहिम में एक कार्यालय स्थापित किया और 2010 तक 30 जासूसों को नियुक्त किया। उस दौरान वो करियर के टॉप पर थीं, जहां वो एक महीने में लगभग 20 मामलों पर काम करती थीं। 

इसे भी पढ़ें- आतंकियों से लोगों को बचाकर खुद हो गईं शहीद, जानिए पहली अशोक चक्र से सम्मानित महिला नीरजा भनोट की कहानी

80 हजार मामलों को सुलझा चुकी हैं रजनी

first indian female private detective

रजनी की मानें तो अब तक वो कुल 80,000 मामलों को सुलझा चुकी हैं। रजनी ने जासूसी(महिलाओं के रिस्की करियर) से जुड़े अनुभवों पर ‘फेसेस बिहाइंड फेसेस’ और मायाजाल नाम की 2 किताबें लिखीं। अपने काम के लिए उन्हें कई अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है, यही वजह है कि बॉलीवुड में भी उन पर फिल्म बनाई जा चुकी है। 

तो ये थीं भारत की पहली महिला जासूस रजनी की कहानी, जो कई महिला जासूसों को इंस्पायर करती है। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया है तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ। 

Image Credit- reditt.com

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।