चाहे वेस्टर्न ड्रेस हो या फिर साड़ी या सूट, हाई हील्स के साथ उनकी खूबसूरती और भी ज्यादा बढ़ जाती है। इसीलिए महिलाएं खास मौकों पर हाई हील्स पहनना पसंद करती हैं। हाई हील्स की शॉपिंग करते हुए कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए, जिनसे हील्स का कंफर्ट और क्वालिटी सुनिश्चित किए जा सके। आइए जानें ऐसी ही कुछ जरूरी बातों के बारे में-

शूज ट्राई करने से पहले ले लें नाप

high heel look for comfort

कुछ महिलाओं के बाएं और दाएं पैर का साइज अलग-अलग होता है। साथ ही वजन घटने या बढ़ने के दौरान भी पैरों के साइज में फर्क आ जाता है। इसीलिए हाई हील्स की शॉपिंग से पहले अपने पैरों का सही नाप ले लें। ज्यादातर दुकानों में पैरों का साइज नापने के लिए टूल्स होते हैं, जिनसे सटीक मेजरमेंट किया जा सकता है। इस साइज के अनुसार ही अपनी हाई हील्स खरीदें।  

इसे जरूर पढ़ें: इन Cleaning Hacks को जानने के बाद पुराने जूते चुटकियों में हो जाएंगे नए

शाम में ट्राई करें शूज

आमतौर पर महिलाएं हाई हील्स की शॉपिंग के लिए दिन में निकलती हैं, लेकिन इसकी बजाय रात में इन्हें ट्राई करना ज्यादा अच्छा रहता है। ऐसा इसलिए क्योंकि दिनभर चलने के बाद रात तक पैरों में थोड़ी सूजन आ जाती है। जो हाई हील्स दिन में आपको लूज हो रही हों, मुमकिन है कि रात में उनका साइज पूरी तरह फिट आए। ऐसे में रात में फुटवियर ट्राई करने पर उनकी सही फिटिंग मिलने के ज्यादा आसार रहेंगे। 

Recommended Video

हाई हील्स पहनने के बाद चलकर देखें

कई बार हाई हील्स पैरों में फिट आती हैं, लेकिन चलकर देखने के दौरान उनमें कंफर्टेबल फील नहीं होता। हाई हील्स को ट्राई करते हुए 4-5 राउंड लगाकर देखें। कई बार हाई हील्स पहनकर देखे जाने के दौरान सही फिटिंग देती हैं, लेकिन कुछ घंटों बाद उनमें चलना मुश्किल हो जाता है। इस बात का ध्यान रखें कि आप जिस दुकान से हील्स खरीदें, वहां पर रिटर्न पॉलिसी अवेलेबल हो, ताकि फुटवियर वापस करने में किसी तरह की समस्या ना आए।

अलग-अलग ब्रांड्स में भी साइज में होता है फर्क

high heel buying tips

हाई हील्स के कट के अनुसार हर ब्रांड के साइज में फर्क आ जाता है। मुमकिन है कि अगर आपको एक ब्रांड में 7 नंबर की हाई हील आती हो तो दूसरे ब्रांड में वही साइज 7.5 नंबर में मिले। इसके साथ ही यूरोपियन साइजेज के बारे में भी जानकारी रखें, क्योंकि ज्यादातर इंटरनेशनल ब्रांड्स इसके अनुसार ही फुटवियर्स बनाते हैं। 

सोल पर दें ध्यान

कुछ हील्स में सोल नीचे से सिला हुआ होता है तो कुछ में चिपकाया जाता है। सिला हुआ सोल लंबे समय तक चलता है, लेकिन अगर सोल चिपकाया हुआ है तो इस बात पर ध्यान दें कि किनारों और सोल के बीच में किसी तरह का गैप ना हो, क्योंकि स्पेस होने से सोल के जल्दी निकल जाने की आशंका होती है। जाहिर है कि आप अपने लिए ऐसी हाई हील ही पसंद करेंगी, जिसका सोल जूते से फिक्स्ड रहे। 

इसे जरूर पढ़ें: फुटवियर सिलेक्शन से जुड़ी इन बातों का रखें ध्‍यान, नहीं होगी कोई परेशानी

रबड़ वाले हाई हील्स रहते हैं बेहतर

how to buy high heels

हाई हील्स पहनने पर महिलाएं स्टाइलिश नजर आती हैं, लेकिन इस तरह के फुटवियर्स में चलने पर स्लिप होने का डर बढ़ जाता है। साथ ही ऐसे फुटवियर्स में बैलेंस बनाने में भी कुछ महिलाओं को मुश्किल होती है। इस मुश्किल को आसान बनाने के लिए रबड़ वाले हाई हील्स का चुनाव बेहतर रहता है। इनसे अच्छी ग्रिप मिलती है और स्लिप होकर गिरने या बैलेंस बिगड़ने की आशंका कम हो जाती है। 

लाइनिंग पर ध्यान दें

अच्छी क्वालिटी के हाई हील्स में सोल के साथ भीतर की लाइनिंग लेदर की बनी होती है, जबकि साधारण हाई हील्स में आमतौर पर सिंथेटिक मटीरियल जैसे कि विनाइल यूज होता है, जो पैर से आने वाले पसीने को सोख नहीं पाता। लेदर पहनने में काफी कंफर्टेबल फील होता है, जबकि सिंथेटिक मटीरियल इसकी तुलना में रफ महसूस होता है। 

मटीरियल पर भी ध्यान दें

आजकल जागरूकता काफी ज्यादा बढ़ गई है और बहुत सी महिलाएं लेदर के लिए जानवरों के साथ होने वाली हिंसा को सही नहीं मानतीं। अगर आप Vegan विचारधारा वाली हैं, तो लेदर के बजाय दूसरे आरामदायक मटीरियल से बनी हाई हील्स पहन सकती हैं। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि आपकी हील्स नायलॉन या प्लास्टिक जैसे मटीरियल की ना हों, क्योंकि ये कंफर्टेबल नहीं होते।  

इन हाई हील्स के फैशन टिप्स को फॉलो करके आप भी अपने लिए अच्छे फुटवियर्स खरीद सकती हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे जरूर शेयर करें। फैशन से जुड़ी अन्य अपडेट्स पाने के लिए विजिट करती रहें। हरजिंदगी।

Image Courtesy: Freepik