आज के समय में महिलाएं अपनी हेल्थ को लेकर काफी सजग हो गई हैं और यही कारण है कि वह वर्कआउट के साथ-साथ अपनी डाइट पर भी पूरा ध्यान देती हैं। वह हर उस चीज को अपनी डाइट से बाहर रखना चाहती हैं, जो उनके वजन को बढ़ाए या फिर उनकी सेहत पर विपरीत असर डाले। यह तो हम सभी जानते हैं कि व्हाइट शुगर या जिसे सफेद चीनी भी कहा जाता है, सेहत के लिए बिल्कुल भी अच्छी नहीं होती। इसे तो धीमा जहर भी कहा जाता है। ऐसे में अब महिलाएं इसे स्विच करके एक हेल्दी ऑप्शन चुनना चाहती हैं। 

ऐसे में दिमाग में कई सारे नाम आते हैं, जैसे शहद, गुड़ या फिर ब्राउन शुगर। इन्हें व्हाइट शुगर की अपेक्षा अधिक हेल्दी माना जाता है। शहद तो हमें प्राकृतिक रूप से प्राप्त होता है और इसके फायदे तो हम सभी जानते हैं। अधिकतर ड्रिंक्स में नेचुरल स्वीटनर के रूप में शहद का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। लेकिन अगर कोई आपसे पूछे कि गुड़ या ब्राउन शुगर में से ज्यादा हेल्दी ऑप्शन कौन सा है तो क्या आप बता पाएंगी। शायद नहीं। तो चलिए आज हम आपको बता रहे हैं कि ब्राउन शुगर और गुड़ में क्या अंतर है और इनमें से अधिक हेल्दी ऑप्शन कौन सा है, जिसे आपको अपनी डाइट का हिस्सा बनाना चाहिए-

अलग तरीके से प्रोसेस्ड

ब्राउन शुगर और गुड़ को प्रोसेस्ड करने का तरीका काफी अलग है और जिससे इनकी न्यूट्रिशन वैल्यू पर भी असर पड़ता है। ब्राउन शुगर और गुड़ दोनों को ही गन्ने के रस से बनाया जाता है। जब गन्ने के रस में चारकोल का इस्तेमाल किया जाता है, तब रस से चीनी बनती है, लेकिन गुड़ को बनाने के लिए ऐसे किसी प्रोसेस की जरूरत नहीं होती। यह निश्चित रूप से कम संसाधित है और इसलिए इसकी न्यूट्रिशन वैल्य ब्राउन शुगर से अधिक है। ब्राउन शुगर एक रिफाइंड शुगर है, जबकि गुड़ एक अनरिफाइंड शुगर है और इसलिए इसे अधिक हेल्दी कहा जा सकता है।

gud sugar

इसे जरूर पढ़ें- शादी से पहले स्किन और बालों में ऐसे आएगी शाइन, एक्सपर्ट स्वाति बथवाल से जानें टिप्स 

ब्राउन शुगर नहीं है वेगन

बहुत से लोगों को यह पता नहीं होता, लेकिन गुड़ को वेगन माना जाता है, जबकि ब्राउन शुगर इसलिए नहीं है क्योंकि चारकोल ट्रीटमेंट शुगर रिफाइनमेंट प्रोसेस का एक हिस्सा है।

gud or brown sugar

मीठे में होता है फर्क

गुड़ ब्राउन शुगर जितना मीठा नहीं होता है और इसका रंग विभिन्न रंगों के भूरे से गहरे भूरे रंग तक हो सकता है। जबकि ब्राउन शुगर कंसिस्टेंट है और आपको इसके रंग में अंतर देखने को नहीं मिलेगा। दरअसल, यह मूल रूप से सफेद चीनी है जिसे गुड़ के साथ मिश्रित किया जाता है।

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें-इन टिप्स की मदद से खाने में कम लगेगा तेल, जानें एक्सपर्ट की राय  

क्या खाएं 

आपने दोनों में अंतर तो जान लिया। अब सवाल यह उठता है कि इन दोनों में से किसका सेवन किया जाए। इस बात में कोई दोराय नहीं है कि गुड़ को अधिक स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है। हालांकि, गुड़ ठोस रूप में आता है और अगर आप इसे भोजन में शामिल करना चाहती हैं तो इसे टुकड़ों में तोड़ना होगा। वहीं अगर आप ब्राउन शुगर का इस्तेमाल करती हैं तो आपको काफी सीमित कर देना चाहिए। इतना ही नहीं, गुड़ आपके खाने में एक विशिष्ट स्वाद भी जोड़ेगा और आपकी डिश को और भी अधिक लजीजदार बनाएगा।

 

हम आशा करते हैं कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपको यह समझ में आ गया होगा कि आपकी सेहत के लिए अच्छा क्या है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।