मसूरी एक ऐसा हिलस्टेशन है, जहां आप कुदरती खूबसूरती निहारने के साथ कई तरह की एडवेंचर एक्टिविटीज का मजा उठा सकती हैं। उत्तराखंड के देहरादून डिस्ट्रिक्ट में पड़ने वाला मसूरी पर्वतों की रानी के नाम से जाना जाता है क्योंकि यहां हिमायल से नेमतें बरसती हैं। अगर आप उत्तर भारत में एडवेंचर ट्रिप पर जाती रहती हैं और आप मसूरी नहीं गईं तो आपकी यात्रा अधूरी ही समझिए। मसूरी में आप कई तरह की एचवेंचर एक्टिविटीज का मजा ले सकती हैं जो यहां से वापस लौटने के बाद भी लंबे वक्त तक आपके जेहन में ताजा बनी रहेंगी। आइए जानें ऐसी ही कुछ मजेदार एक्टिविटीज के बारे में-

केबल कार और ब्रिज से देखिए अद्भुत नजारे

हिमालय के पर्वतों के नजदीक गढ़वाल मंडल में मसूरी यमुनोत्री और गंगोत्री का द्वार माना जाता है। यहां चढ़ाई के लिए कई ट्रेक्स होने के साथ-साथ झील, बगीचे, वॉटरफॉल जैसी चीजें हैं, जो आपको बांधे रखेंगी। मसूरी में कैंप्टी फॉल्स, हैप्पी वैली, कैमल्स बैक रोड, गन हिल, मसूरी लेक, ज्वालाजी मंदिर बड़े अट्रैक्शन हैं। अगर आप केबल कार में धूमने का मन बना रही हैं तो झूलाघाट से गन हिल तक की यह राइड 5-10 मिनट की होती है। सुबह 10 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक यह राइड उपलब्ध रहती है, वहीं गर्मियों में इसका समय बढ़ जाता है। गर्मियों में यह सुबह 8 बजे से लेकर रात 10 बजे तक मिल जाती है। 

अगर स्काई ब्रिज की बात करें तो यहां का स्काई ब्रिज भारत में तार, रस्सियों और बांस का बना सबसे लंबा ब्रिज है। 80 फीट की हाई पर बने इस 300 फीट लंबे ब्रिज पर एक बार में सिर्फ 25 लोग ही आ सकते हैं। इसीलिए इसका मजा लेने के लिए आपको थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है। 

पहाड़ों में ट्रैकिंग का मजा

activities enjoy in mussourie inside

मसूरी में बेहतरीन लैंडस्केप्स देखने को मिलते हैं। ऊंचे-ऊंचे पर्वत, हरी-भरी घाटियां, करीब तैरते बादल आपको किसी जादुई दुनिया में होने का अहसास देते हैं। साथ ही यहां हैप्पी वैली से लेकर लाइब्रेरी तक और वेवरली कॉन्वेंट से लेकर कंपनी बाग तक के रास्ते सबसे खूबसूरत हैं। जब आप यहां की सड़कों से गुजरेंगी तभी आप यह महसूस करेंगी कि पहाड़ों को करीब से जानने के लिए यहां चलना ही सबसे अच्छा जरिया है। यहां नाग टिब्बा चोटी, भद्रराज मंदिर और फॉरेस्ट ट्रैक, हर की दून ट्रैक, यमुनोत्री सप्तऋषि कुंड ट्रैक और डोडीताल ट्रैक पर आप चढ़ाई का प्लान बना सकती हैं। ट्रैकिंग की कीमत आपके समूह, चढ़ाई में लेने वाले समय, दूरी और ली जाने वाली सुविधाओं के हिसाब से घटना-बढ़ता है। 

पैराग्लाइडिंग

अगर आपकी पैराग्लाइडिंग में दिलचस्पी है तो इसके लिए मसूरी देश के सबसे अच्छे डेस्टिनेशन्स में से एक है। यहां ऑपरेटर्स ज्यादातरन 2 सीटर ग्लाइडर पर जॉय राइड ऑफर करते हैं। 3000 घटों के फ्लाइंग एक्सपीरियंस वाले प्रोफेशनल पायलट्स इन्हें चलाते हैं। खुली हवा में उड़ने और रोमांच महसूस करने का यह बेस्ट तरीका है। इस राइड पर सवार होने के लिए ना तो आपके लिए कोई पिछला अनुभव होना जरूरी है और ना ही इसकी कोई अपर लिमिट है। ये फ्लाइट कम से कम एक घंटे की होती हैं और ये 10,000 फीट की ऊंचाइयों तक भी जाती है। मॉनसून में यह सर्विस उपलब्ध नहीं होती, इसके अलावा यह बारहों महीने उपलब्ध है। एक घंटे की फ्लाइट के लिए खर्च 10,000 रुपये से ऊपर आता है। 

रिवर राफ्टिंग

मसूरी में रिवर राफ्टिंग करना काफी ज्यादा पॉपुलर है। नदियों के उफनते पानी और उतार चढ़ाव के बीच राफ्टिंग करना काफी रोमांचक है। ये नदियां घने जंगलों, पथरीली चट्टानों, पर्वतों और ग्लेशियर्स से गुजरती हुई बहती हैं। अलखनंदा, धौलीगंगा और काली नदियों में कई तीव्र मोड़ आते हैं। आप आधे दिन के लिए भी राफ्टिंग कर सकती हैं और बारकोट से लेकर लाखमंडल और दामता से लेकर यमुना ब्रिज तक राफ्टिंग का मजा ले सकती हैं। इसके अलावा आप मछली पकड़ने और बोटिंग का भी मजा ले सकती हैं। हालांकि मछली पकड़ने के लिए डिवीशनल फॉरेस्ट ऑफिसर से इजाजत लेनी पड़ती है। राफ्टिंग की कीमत भी कस्टमाइज्ड प्लान के आधार पर होती है, जिसमें कैंपिंग और राफ्टिंग की अवधि मायने रखते हैं। 

Recommended Video