वाटरफॉल्स प्रकृति की सबसे सुंदर क्रिएशन में से एक है। वैसे तो देशभर में कई वाटरफॉल्स मौजूद हैं, लेकिन समर्स वेकेशन की बात हो तो हैदराबाद यकीनन घूमने की एक बेहतरीन जगह है। इस शहर की खासियत यह है कि इसके आसपास कई वाटरफॉल्स मौजूद हैं, जो इसे एक बेहतरीन टूरिस्ट प्लेस बनाते हैं।

निजाम के शहर हैदराबाद में आपको व्यंजन और वास्तुशिल्प चमत्कारों के अलावा प्रकृति के मनोरम दृश्यों का आनंद लेने का मौका भी मिलेगा। हैदराबाद के करीब कई बेहतरीन झरने हैं जो यहां रहने वाले लोगों को एक परफेक्ट वीकेंड गेटवे प्रदान करते हैं। वहीं प्रकृति प्रेमियों के लिए यह वाटरफॉल्स किसी स्वर्ग से कम नहीं हैं। तो चलिए आज हम आपका ऐसे ही कुछ वाटरफॉल्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें आप हैदराबाद के करीब एक्सप्लोर कर सकती हैं-

इथीपोथला वाटरफॉल

ethypothla water fall

इथीपोथला वाटरफॉल हैदराबाद से करीबन 161 किमी की दूरी पर है। यह तीन माउंटेन स्ट्रीम चंद्रावन वागु, तुममला वगु और नक्का वागु द्वारा बनाई गई है जो लगभग 70 फीट की ऊंचाई से गिरती है। वाटरफॉल्स के करीब दो मंदिर हैं, दत्तात्रेय मंदिर और रंगनाधा स्वामी मंदिर, जो इसे एक आध्यात्मिक स्पर्श देते हैं। यह वाटरफॉल एक शांत व एकांत स्थान पर स्थित है, यह उन लोगों के लिए आदर्श है जो प्रकृति की गोद में डेरा डालने के साथ-साथ हल्की ट्रेकिंग करना पसंद करते हैं। आप नागार्जुन सागर से सड़क के माध्यम से फॉल्स तक पहुँच सकते हैं।

मल्लेला थीर्थम वाटरफॉल

mallela water fall

घने नल्लामाला फॉरेस्ट में स्थित, मल्लेला थीर्थम वाटरफॉल यकीनन बेहद ही खूबसूरत वाटरफॉल है। घने जंगल से होकर बहने वाला पानी अपनी सारी एनर्जी के साथ सीधे चट्टानों पर गिरता है, जो लगभग 150 फीट की ऊंचाई से शिवलिंग जैसा दिखता है। पौराणिक कथा के अनुसार, भगवान शिव ने अपने भक्तों को इस स्थान पर कई अवसरों पर दर्शन दिए। माना जाता है कि गर्मियों के दौरान बाघों के लिए पानी पीने का स्थान भी होता है। यदि आप एक साहसिक प्रवृत्ति की हैं, तो आपको यह जानकर खुशी होगी कि साइट ट्रेकिंग, रिवर क्रॉसिंग और कैंपिंग जैसी गतिविधियां प्रदान करता है।

इसे जरूर पढ़ें:क्या आप जानते हैं हुसैन सागर झील की बुद्धा मूर्ति से जुड़े ये रोचक तथ्य

Recommended Video

भीमुनि पदम वाटरफॉल

shrimuni water fall

तेलंगाना राज्य के वारंगल जिले के गुडूर में स्थित, 70 फीट ऊंचा भीमुनि वाटरफॉल हैदराबाद से करीबन 200 किमी की दूरी पर है। यदि आप सूर्योदय या सूर्यास्त के दौरान झरने की यात्रा करते हैं, तो आपको यहां इंद्रधनुष के रंगों में पानी के चमकते हुए बेहतरीन दृश्य देखने को मिलेंगे। यह झरना एक चट्टान के आकार का है, जिसका नाम भीम की तरह है, जो भीम के साथ किंवदंतियों से जुड़ा है। झरने के आसपास कई प्राचीन झीलें स्थित हैं। अन्य झरनों के विपरीत, भीमुनि पदम झरने के पास में कई मंदिर नहीं है, बस यहां पर आपको भगवान शिव और नागदेवता की मूर्तियां देखने को मिलेंगी। इस क्षेत्र में एक 10 किमी लंबी गुफा एक और लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है। इस वाटरफॉल तक पहुंचने के लिए आप हैदराबाद से गुदुर के लिए बस लें, और गुदुर बस स्टैंड पहुंचने के बाद, झरने तक पहुंचने के लिए एक टैक्सी किराए पर ले सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें:नॉर्थ गोवा में एक बार इन जगहों पर जरूर जाएं, आएगा बेहद मजा

पोचेरा वाटरफॉल

pochela water fall

अगर आप डे टाइम में मौज-मस्ती और आराम की योजना बना रही हैं तो आपको पोचेरा वाटरफॉल जरूर जाना चाहिए। यह हैदराबाद के पास सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है, जो कादेम नदी पर स्थित है। यह वाटरफॉल चारों ओर हरे भरे जंगलों से घिरा हुआ है जो कई जानवरों और पक्षियों की प्रजातियों के लिए घर हैं इसके अलावा यह वन्यजीव पर्यटन और हाइक्स के लिए भी एक शानदार स्थान है। पोचेरा वाटरफॉल तेलंगाना राज्य के सभी झरनों में सबसे गहरा है।  

अगर आपके यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।