वैसे तो शिमला की वादियां अपनी खूबसूरती के लिए विख्यात हैं। यहां दूर-दूर से पर्यटक प्रकृति का मज़ा लेने आते हैं। लेकिन यहां स्थित जाखू मंदिर मुख्य आकर्षण का केंद्र है। शिमला जाने वाले सभी पर्यटक यहां के प्रसिद्ध हनुमान मंदिर यानी जाखू मंदिर के दर्शन जरूर करते हैं। ऐसी मान्यता है कि यहाँ के दर्शन मात्र से भगवान् हनुमान प्रसन्न होकर भक्तों की सारी  इच्छाएं पूर्ण करते हैं।

क्या है इस मंदिर की कथा 

jakhoo temple hanuman ()

इस मंदिर के लिए एक विख्यात कथा के अनुसार राम और रावण युद्ध के दौरान जब युद्ध भूमि में लक्ष्मण जी मूर्छित हो गए थे उस समय भगवान् हनुमान संजीवनी बूटी लेने के लिए आकाश मार्ग से हिमालय की ओर जा रहे थे।आकाश मार्ग से जाते हुए हनुमान जी ने जाखू पहाड़ी पर विश्राम किया था और अपने अन्य वानर साथियों को विश्राम करता हुआ छोड़कर हनुमान जी आगे निकल गए थे। हालांकि लौटते समय उनका एक असुर से युद्ध होने लगा और वे जाखू पहाड़ी पर नहीं जा पाए। माना जाता है कि वानर साथी इसी पहाड़ी पर बजरंग बली के लौटने का इंतजार करते रहे। इसी वजह से आज भी यहां बड़ी संख्या में वानर पाए जाते हैं। इन वानरों को हनुमान जी का ही रूप कहा जाता है। मान्यता है कि यहां मांगी गई हर मुराद पूरी होती है।इस मंदिर को हनुमान जी के पैरों के निशान के पास बनाया गया है। आज भी भगवान हनुमान के पद चिह्नों को संगमरमर से बनवा कर वहां रखा गया है। मान्यता के अनुसार इस मंदिर को रामायण काल के समय का बताया जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें: आज भी मौजूद है रावण की अशोक वाटिका, जहां कैद में थीं सीता माता

कैसी है हनुमान जी की प्रतिमा 

jakhoo temple hanuman ()

जाखू मंदिर में हनुमान जी की एक अति विशाल प्रतिमा स्थापित की गयी है। ये शिमला के किसी भी स्थान से दिखाई देती है। मंदिर शिमला में रिज से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जाखू मंदिर में हनुमान जी की मूर्ति देश की सबसे ऊंची मूर्तियों में से एक है जो 33 मीटर यानी 108 फीट ऊंची है। इसलिए ऐसा कहना गलत नहीं होगा कि यदि आप शिमला घूमने के लिए जाते हैं तो जाखू मंदिर के दर्शन के बिना आपकी यात्रा अधूरी रहेगी।

Recommended Video

पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण 

jakhoo temple hanuman ()

हनुमान जी को समर्पित यह धार्मिक स्थल शिमला के रिज के निकट स्थित है। यहां के आस पास की पहाड़ियों से और मुख्य मंदिर परिसर से पर्यटक सूर्योदय और सूर्यास्त के लुभावने दृश्यों का आनंद ले सकते हैं। इस मंदिर परिसर में बहुत से बंदर रहते हैं। इस पहाड़ी पर विभिन्न ट्रैकिंग और पर्वतारोहण गतिविधियां आयोजित की जाती हैं। ट्रैकिंग मार्ग खूबसूरत वृक्षों से घिरा हुआ है। यहां पहुंचने के लिए पर्यटक टट्टू भी किराए पर ले सकते हैं। मंदिर के आस-पास स्थित कई दुकानों में शॉपिंग भी यहां का मुख्य आकर्षण है। 

जाखू मंदिर भारत के प्रमुख मंदिरों में से एक है साथ ही यहां मांगी गयी मन्नत अवश्य पूर्ण होती है। इसलिए आप कहीं भी घूमने का प्लान बना रहे हैं तो इस बार शिमला के जाखू मंदिर जाकर यहां स्थित हनुमान मूर्ति की भव्यता के दर्शन जरूर करें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik