Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    श्रीलंका के इस स्‍थान पर हुआ था राम और रावण का युद्ध, और भी मिलते है रामायण से जुड़े निशान

    श्रीलंका कई स्‍थान है जहां आज भी रामायण काल के कई निशान मौजूद हैं, जो इस बात की प्रामाणिकता देते हैं‍कि रामायण की कथा सत्‍य है। चलिए आज हम आपको श्रीलं...
    author-profile
    Updated at - 2018-11-02,14:56 IST
    Next
    Article
    ram ravana fighting place in sri lanka

    भारत में छोटे बच्‍चे से लेकर बड़े बूढ़े तक सभी को रामायण की कहानी पता है। सभी जानते हैं राम और सीता के विवाह के बाद उन्‍हें 14 वर्ष के लिए वनवास पर जाना पड़ा था। वनवास पर रहने के दौरान राम और सीता को कई मुसीबतों का सामना करना पड़ा था। इसी दौरान लंका के राजा रावण ने सीता का हरण कर लिया था और अपने साथ लंका ले जाकर उन्‍हें अशोक वाटिका में कई दिन रखा था। लंका में आज भी यह अशोक वाटिका मौजूद है। इतना ही नहीं श्रीलंका और भी कई स्‍थान है जहां आज भी रामायण काल के कई निशान मौजूद हैं, जो इस बात की प्रामाणिकता देते हैं‍कि रामायण की कथा सत्‍य है। चलिए आज हम आपको श्रीलंका के ऐसे ही कुछ स्‍थानों का भ्रमण कराएंगे जहां आज भी रामायण काल के निशान मिलते हैं। 

    ram ravana fighting place in sri lanka

    यहां हुआ था राम और रावण में युद्ध

    श्रीलंका की रामायण रिसर्च कमेटी की जानकारी के अनुसार श्रीलंका में एक स्‍थान जिसे रामायण काल से जोड़ कर देखा जाता है। अनुसंधान में यहां पर भगवान हनुमान का श्रीलंका में प्रवेश के लिए उत्तर दिशा में मौजूद नागदीप पर पैरों के निशान भी मिलते हैं। इस स्थान की छानबीन में यह भी पाया गया कि राम व रावण के बीच यहीं पर भीषण युद्घ हुआ था। श्रीलंका में आज भी इस युद्घ-स्थान को युद्घगनावा नाम से जाना जाता है जहां पर रावण का भगवान राम ने वध किया था।

    Read More: आज भी मौजूद है रावण की अशोक वाटिका, जहां कैद में थीं सीता माता

    लंका में यहां रुकी थी माता सीता

    माता सीता का हरण करने के बाद रावण ने उन्हें अपने महल की अशोक वाटिका में रखा था। यह जगह आज भी श्रीलंका में मौजूद है। यहां पर सीता माता का एक प्राचीन मंदिर भी बनाया गया है। इस जगह को सेता एलीया के नाम से जाना जाता है। ये नूवरा एलिया नामक जगह के पास स्थित है। मंदिर के पास ही एक झरना भी है। माना जाता है कि इस झरने में सीता माता स्‍नना करती थीं। इस झरने के आसपास की चट्टानों पर हनुमान जी के पैरों के निशान भी मिलते हैं। यही वो पर्वत है जहां हनुमान जी ने पहली बार कदम रखा था। इसे पवाला मलाई कहते हैं। ये पर्वत लंकापुरा और अशोक वाटिका के बीच में है।

    Read More: इस एक वजह के लिए रावण की मृत्यु के बाद भी सुपर्णखा सीता से मिलने आई

    ram ravana fighting place in sri lanka

    यहां गिरे थे माता सीता के आंसू

    रावण जब सीता माता को हरण करके ले जा रहा था तब सीता माता अपने पति भगवान राम के पास जाने के लिए रावण से कह रही थीं। मगर, रावण उन्‍हें जबरन अपने साथ लंका ले जा रहा था। उस दौरान सीता माता के आंसू जिस-जिस स्‍थान पर गिरे वहां पर तलाब बन गया। श्रीलंका में भी एक ऐसा ही स्‍थान है जहां सीता माता के आंसू गिरे थे। तब से इस जगह को सीता अश्रु ताल कहा जाता है। श्रीलंका में कैंडी से लगभग 50 किलोमीटर दूर नम्बारा एलिया मार्ग पर यह तालाब मौजूद है। इसे कुछ लोग सीता टियर तालाब कहते हैं। जब लंका में गर्मी पड़ती है और सारे तलाब सूख जाते हैं तब भी यह तलाब नहीं सूखता। इस तलाब का पानी भी बहुत मीठा है। 

    माता सीता ने यहां दी थी अग्नि परीक्षा

    श्रीलंका में वेलीमड़ा नामक एक जगह है। यहां एक मंदिर डिवाउरूम्पाला है। कहा जाता है कि यहां पर माता सीता ने अग्नि परीक्षा दी थी। अगर आपने रमायण पढ़ी होगी तो आप जानते होंगे कि रावण की कैद से रिहा करवाने के बाद सीता माता कि पवित्रता पर सवाल उठाए गए थे। इसलिए उन्‍होंने अग्नि परीक्षा देकर इस बात का निश्चित किया था कि वह पवित्र हैं। आज भी स्थानीय लोग इस जगह पर सुनवाई करके न्याय करने का काम करते हैं। मान्यता है कि जिस तरह इस जगह पर देवी सीता ने सच्चाई साबित की थी उसी तरह यहां लिया गया हर फैसला सही साबित होता है।

    ram ravana fighting place in sri lanka

    यहां उतरता था पुष्पक विमान

    श्रीलंका में एक शहर है जिसका नाम सिन्हाला है। यहां एक वेरागनटोटा नाम की जगह है जिसका मतलब होता है विमान उतरने की जगह। कहते हैं कि यही वो जगह है जहां दशानन अपना पुष्पक विमान उतरता था। अगर आप इस स्‍थान को देखेंगे तो यह एक हैलपैड की तरह लगती। मगर असल में यह पहाड़ है जो उपर से पूरी तरह फ्लैट है। 

     

    Recommended Video

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।