चेहरे पर मौजूद बालों को कवर करने के लिए ज़्यादातर लड़कियां ब्लीच लगाती हैं। यह बालों के कलर को लाइट करती है, जिससे चेहरे की रंगत भी बढ़ जाती है। हालांकि त्वचा पर ब्लीच का उपयोग करने से पहले कुछ बातों का ख़्याल रखना बहुत ज़रूरी है। कई लोगों को ब्लीच लगाने से त्वचा से जुड़ी कई समस्याएं सामने आई हैं, ऐसे में ध्यान रखना ज़रूरी है कि ब्लीच का उपयोग चेहरे पर किस तरह करना है।

अगर आप पहली बार इसका इस्तेमाल कर रही हैं या फिर आपकी त्वचा सेंसिटिव है तो यह बेहद महत्वपूर्ण है, कि आपके पास ब्लीच से जुड़ी सभी जानकारियां हों। यही नहीं लगाने का तरीक़ा भी काफ़ी महत्वपूर्ण है। ब्लीचिंग क्रीम लगाने से पहले अपने चेहरे को अच्छी तरीक़े से साफ़ किया जाना चाहिए। आइए जानते हैं कि ब्लीच लगाते वक़्त किन-किन बातों का ध्यान अधिक रखना चाहिए।

माइल्ड ब्लीच क्रीम का उपयोग करें

mild bleach

मार्केट में ब्लीच क्रीम अलग-अलग ब्रांड की मिल जाएंगी, लेकिन यह ज़रूरी नहीं कि सभी आपकी त्वचा के लिए सुरक्षित हैं। कई ब्लीच क्रीम में सोडियम हाइपोक्लोराइट होता है जिसकी वजह से कैमिकल रिएक्शन हो सकता है और स्किन ब्रेकआउट कर सकती है। अगर महीने में एक बार आप ब्लीच का उपयोग करती हैं तो माइल्ड ब्लीच क्रीम ही लगाएं। वहीं इस बात का ध्यान रखें कि उसमें कितनी मात्रा में एक्टिवेटर मिक्स करना है। स्ट्रांग ब्लीच क्रीम का इस्तेमाल करने से बचें, यह आपकी त्वचा को नुक़सान पहुंचा सकती है।

चेहरे पर लगाने से पहले करें टेस्ट

test patch

कई बार लड़कियां ब्लीच डायरेक्ट अपने चेहरे पर लगा लेती हैं जबकि यह ग़लत तरीक़ा है। इससे आपको एलर्जी हो सकती है। ऐसे में आप जब भी ब्लीच क्रीम तैयार कर रही हों तो उसे अच्छी तरह मिक्स करने के बाद अपने हाथों पर पैच टेस्ट करें। कुछ देर तक रहने के बाद आपको किसी तरह की समस्या नहीं हो रही है तब ही अपने चेहरे पर लगाएं। बता दें बिना टेस्ट के ब्लीच लगाने से कई बार त्वचा पर स्पॉट या फिर स्किन लाल हो जाती है। इसके अलावा ब्लीच लगाते वक़्त रैपर पर दिए गए निर्देशों को सही तरीक़े से पढ़ें और फिर अपने चेहरे पर लगाएं।

इसे भी पढ़ें: DIY: पके हुए चावल के इस होममेड फेस पैक से आप भी ला सकती हैं चेहरे की त्वचा में कसाव

सेंसिटिव और ड्राई स्किन ब्लीच को कहे 'ना'

sensitive skin

अगर आपकी त्वचा ड्राई और सेंसिटिव है तो ब्लीच लगाने से बचें। इससे कई बार एलर्जी होने की संभावना रहती है। वहीं सेंसिटिव स्किन पर कई बार ब्लीच लगाने से दाने होने लगते हैं या फिर जलन होती है। इसलिए बेहतर होगा कि आप ब्लीच का उपयोग ना करें।

Recommended Video

महीने में सिर्फ़ एक बार करें ब्लीच

bleaching face wash

जो लोग हफ़्ते या फिर 15 दिन में एक बार ब्लीच करते हैं, उन्हें सावधान रहने की आवश्यकता है। यह आपकी त्वचा का नेचुरल ग्लो छीन सकती है, साथ ही कई समस्याएं भी शुरू हो सकती हैं। कई महिलाओं को लगता है कि ब्लीच लगाने से गोरे हो सकते हैं जबकि ऐसा नहीं है। यह आपके बालों को कलर करता है जो स्किन टोन के कलर को मैच करने लगते हैं। इसकी वजह से चेहरे की रौनक बढ़ जाती है।

इसे भी पढ़ें: तुरंत ग्‍लो के लिए घर पर बनाएं ये फेस पैक, ईशा कोप्पिकर से जानें तरीका

ब्लीच लगाने के बाद धूप में बाहर ना निकलें

protect skin from sun damage

ब्लीच लगाने के बाद बाहर जाने से बचें। धूप की रौशनी स्किन पर पड़ने के बाद एलर्जी होने का ख़तरा रहता है या फिर स्किन जल सकती है। ब्लीच लगाने के कम से कम एक या दो घंटे बाद ही बाहर निकलें। दो घंटे बाद अपने चेहरे पर सनस्क्रीम का उपयोग ज़रूर करें, जब भी आप बाहर जाएं। वहीं ब्लीच लगाने के बाद अन्य किसी ब्यूटी प्रोडक्ट का इस्तेमाल ना करें।

अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।