क्या आप कांटेक्ट लेंस लगाती हैं? और आंखों का मेकअप करने की शौकीन हैं, लेकिन लेंस लगाने के कारण आप आई मेकअप करने से डरती है। कहीं आई मेकअप आपके लेंस को नुकसान न पहुंचा दे। तो अब डरने की कोई जरूरत नही क्योंकि मेकअप एक्सपर्ट भारती तनेजा आपको कुछ खास टिप्स बता रही है। जिसकी मदद से आप बिना अपनी आंखों को नुकसान पहुंचाए उन्हें खूबसूरत बना सकती हैं और आप आसानी से लेंस के साथ आई मेकअप कर सकती हैं।

क्लीनिंग है जरूरी

contact lenses inside

लेंस लगाने से पहले अपने हाथों को एंटीसेप्टिक सोप से अच्छी तरह से जरूर कलीन करें। जिससे हाथों की गंदगी पूरी तरह से निकल जाएं। अगर ऐसा नही करेंगी तो हाथों की गंदगी से लेंस लगाने के कारण वो आंखों में चली जाएंगी। जिससे आंखों में इंफेक्शन होने का डर होता है। इसलिए आप जब भी लेंस लगाए उससे पहले अपने हाथों को साबुन और पानी की मदद से अच्छे से धो ले। फिर उन्हे एक साफ तौलिए की मदद से अच्छे से सूखा ले। उसके बाद ही लेंस लगाएं।

सावधानी बरते

लेंस लगाने के बाद आप जब भी अपनी आंखों का मेकअप करे तो इस बात का ध्यान रखे की वो किसी भी तरह से आपके लेंस को नुकसान न करें इसलिए आप जब भी अपनी आंखों का मेकअप करें तो  हल्के हाथों से मेकअप करें ताकि आपकी आंखो से लेंस हटे नहीं और ना ही आपकी आंखो को किसी तरह का नुकसान हो। क्योंकि यदि आप ज्यादा तेजी से मेकअप करेंगी तो उससे आपका लेंस अपनी जगह  से हटने का डर हो सकता हैं।

कांटेक्ट लेंस लगाने के बाद करें मेकअप

new lens inside

अक्सर लड़िकयां मेकअप करने के बाद कॉन्टेक्ट लेंस लगाती हैं। जिसके कारण आंखों में जलन होने लगती है। ऐसे इसलिए होता है क्योंकि मेकअप करने के बाद कॉन्टेक्ट लेंस लगाने से आपकी आंखो में गंदगी चली जाती हैं। जिससे  आंखों में जलन होने लगती हैं। लेकिन अगर आप मेकअप करने से पहले कॉन्टेक्ट लेंस लगाती है तो आपकी आंखों को किसी तरह का नुकसान नहीं होगा।

इसे भी पढ़ें: वायु प्रदूषण फेफड़ों के साथ-साथ आंखों को भी करता है खराब

आईलाइनर वाटर लाइन पर ही लगाएं

आप जब भी आंखों का मेकअप करने के लिए आईलाइनर लगाएं इसे लगाते समय भी आंखो का खास ख्याल रखना चाहिए। क्योकि कई बार आईलाइनर आपकी आंखो के अन्दर चला जाता हैं। जिससे आपकी आखों में जलन होने लगती हैं। और आंखो में पानी आने लगता हैं और इनसे आपके लेंस पर असर पड़ता हैं। तो आप जब भी आईलाइनर लगाए तो उसे अपनी आंखों की वॉटरलाइन पर ही लगाए। जिससे आपकी आंखों को कोई नुकसान न हो और वो आईमेकअप के बाद और खूबसूरत दिखें।

हमेशा क्रीम आईशेडो का इस्तेमाल करें

eye  color inside

अगर आप कॉन्टेक्ट लेंस पहनती है और आंखों का मेकअप करना चाहती हैं  तो अच्छा होगा की आप पाउडर आईशेडो के जगह पर क्रीम आईशेडो का प्रयोग करें। पाउडर आईशेडो आंखों में गिर कर नुकसान पहुंचा सकता है। जिससे आंखो में इंफेक्शन हो जाता है। इसलिए पाउडर आईशेडो की तुलना में क्रीम आईशेडो ज्यादा देर तक आंखो पर बना रहता हैं। इतना ही नहीं क्रीम आईशेडो किसी भी तरह से आपकी आंखों को नुकसान नहीं पहुंचाता हैं।

लैश बिल्डिंग मस्कारे इस्तेमाल से बचें

लैश बिल्डिंग मस्कारे आपकी पलको को एक ग्लैमरस लुक दे सकते हैं, लेकिन कॉन्टेक्ट लेंस पहनने वालो के लिए यह सही नहीं होता हैं। क्योंकि लैश बिल्डिंग मस्कारा काजल के साथ आता हैं जो की अक्सर लगाते समय आपकी आंखो के अन्दर गिर जाता हैं जिससे आपकी आंखो को परेशानी हो सकती हैं इतना ही नही लेंस लगाने वालो को तो यह परेशानी कुछ ज्यादा ही होती हैं। क्योकि इससे उनकी आंखों में जलन होने लगती हैं। तो अच्छा होगा की आप लैश बिल्डिंग मस्कारे का प्रयोग ना ही करें।

मस्कारे का इस्तेमाल सावधानी से करें

new lens maskara  INSIDE

आप जब भी लेंस लगाने के बाद आंखों में मस्कारे का इस्तेमाल करें मस्कारे को थोड़ा दूर से ही लगाएं नही तो आंखों में प्रॉब्लम हो सकती हैं। अगर आप उसे अपनी आखों के ज्यादा पास रखेंगी तो उससे आपकी लेंस को नुकसान पहुंच सकता हैं। इस नुकसान से बचने के लिए आप चाहे तो मस्कारे को अपनी पलको के ऊपरी तरफ से लगा सकती है ना की उनकी जडों के पास इससे आपकी आंखो पर मस्कारा भी लग जाएगा और आपके लेंस को किसी भी तरह का नुकसान नहीं होगा।

इसे भी पढ़ें: मेकअप एक्सपर्ट से जानिए, कैसे चुनें अपने लिए सही अंडर आई क्रीम

आर्टिफिशियल लैशेज के इस्तेमाल से बचें

आर्टिफिशियल यानी नकली पलकों का प्रयोग आजकल बहुत सी लड़कियां करती हैं लेकिन अगर आप कॉन्टेक्ट लेंस पहनती है तो आपको इनका प्रयोग नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह आपके लेंस को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इतना ही नहीं इनके प्रयोग से आपकी आंखों पर कट भी पड़ जाता है तो अच्छा होगा की आप  आर्टिफिशियल लैशेज का प्रयोग ना ही करें तो बेहतर होगा।

कॉन्टेक्ट लेंस का चुनाव हो खास

अगर आप अपनी लेंस वाली आंखों में मेकअप लगाना चाहती है तो मेकअप या गंदगी से होने वाले इंफेक्शन में आप डिस्पोजेबल कॉन्टेक्ट का प्रयोग कर के उसे कम कर सकती है। डिस्पोजेबल कॉन्टेक्ट में आपके लेंस सुरक्षित रहते है तथा वो किसी भी तरह की गंदगी के संपर्क में भी नहीं आते है। जिससे आप जब भी उनका प्रयोग करती हैं तो आपकी आंखो को किसी भी तरह से नुकसान नहीं पहुंचाते हैं।

आंखों में जलन के लिए आई ड्राप है जरूरी

contact lenses inside

अगर आप रेगुलर कॉन्टेक्ट लेंस का प्रयोग करती है तो कई बार आंखो में इचिंग की प्रोब्लम का सामना करना पड़ता हैं। इस प्रोब्लम से छुटकारा पाने के लिए आप डॉक्टर के अनुसार बताए गए आई ड्रॉप का इस्तेमाल करें। आईड्रॉप आपकी आंखों में मौजूद गंदगी को साफ कर के उन्हें क्लीन कर  देता हैं। जिससे आपकी आंखों में किसी भी तरह की कोई प्रोब्लम नही होगी।

मेकअप हटाने से पहले कांटेक्ट लेंस हटाएं

आप जब भी कॉन्टेक्ट लेंस के साथ  मेकअप करने के बाद जब उसे रिमूव करती है तो उससे पहले अपने कॉन्टेक्ट लेंस को जरुर हटा लें। अगर आप कॉन्टेक्ट लेंस लगाए हुए अपनी आंखों का मेकअप हटाती है तो उससे आपकी आंखो पर मेकअप जा सकता है जिससे आंखों में इचिंग और जलन हो सकती है। इतना ही नही कई बार कॉन्टेक्ट लेंस ही आंखो से अपने आप निकल जाता है। इससे अच्छा होगा की आप मेकअप हटाने से पहले कॉन्टेक्ट लेंस जरुर हटा ले।