कई बार ऐसा होता है कि आपको अपने आसपास ऐसी लड़कियां दिखती हैं, जिनका मेकअप बेहद स्मूद लुक देता है और गर्मी व उमस के कारण भी उनका मेकअप खराब नहीं होता। पूरे दिन उनके मेकअप का लुक ऐसा ही बना रहता है। लेकिन क्या आप जानती हैं कि ऐसा क्यों होता है। इसके पीछे का कारण प्राइमर होता है। दरअसल, मेकअप बेस लगाने से पहले आप अगर प्राइमर को यूज करती हैं तो इससे आपको स्मूद स्किन तो मिलती है ही, साथ ही आपका मेकअप भी पूरे दिन यूं ही बना रहता है। इसलिए मेकअप में एक स्मूद लुक पाने के लिए प्राइमर को अप्लाई करने की सलाह दी जाती है।

लेकिन कुछ लड़कियों को प्राइमर अप्लाई करने के बाद भी वह लुक नहीं मिलता, जिनकी उन्हें चाहत होती है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि वे गलत प्राइमर को यूज करती हैं। अगर सही प्राइमर को यूज किया जाए तो इससे आपको पोर्स को फिल करने के साथ-साथ फाइन लाइन्स व रिंकल्स आदि को छिपाने में मदद मिलती है। अगर आपके साथ ऐसा नहीं हो रहा है तो इसका अर्थ है कि आपके द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला प्राइमर आपके लिए बना ही नहीं है। तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे संकेत बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप यह जान पाएंगी कि आपके द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला प्राइमर सही नहीं है-

इसे भी पढ़ें: Makeup Tips: मेकअप करने से पहले ‘प्राइमर’ लगाना क्यों है जरूरी, पढ़ें पूरी जानकारी

ऑयली स्किन

using wrong primer inside

आजकल मार्केट में अलग-अलग स्किन की जरूरतों के अनुसार प्राइमर मिलते हैं। मसलन, आयॅली स्किन के लिए बनाया गया प्राइमर आपको एक मैट लुक देगा और अत्यधिक ऑयल के कारण मेकअप के लुक को खराब होने से बचाएगा। लेकिन अगर आपके साथ ऐसा नहीं हो रहा है तो इसका अर्थ है कि यह आपके लिए नहीं है। बेहतर होगा कि आप एक लाइटवेट और सिलिकॉन बेस्ड फॉर्मूला प्राइमर चुनें। यह आपकी स्किन को ऑयली ना दिखाने के साथ-साथ मुंहासों व निशान को भी छिपाने में मदद करेगा।

Recommended Video

ड्राई पैचेस

you are using wrong primer inside

अगर आपकी स्किन ड्राई है और आप गलत प्राइमर का इस्तेमाल करती हैं तो इससे आपको अपनी स्किन पर ड्राई पैचेस अधिक नजर आएंगे। इतना ही नहीं, गलत प्राइमर के इस्तेमाल के कारण फाउंडेशन भी आपकी स्किन पर सही तरह से ब्लेंड नहीं होता, जिससे आपका पूरा मेकअप बेस खराब हो जाता है। इस समस्या से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप ऐसे प्राइमर को यूज करें जिसमें कम से कम एक स्किन नरिशिंग इंग्रीडिएंट हो।

इसे भी पढ़ें: प्राइमर चुनते समय अपनी स्किन की जरूरतों का रखें ख्याल

पोर्स का विजिबल होना

ideas to using wrong primerinside

प्राइमर यूज करने का एक सबसे बड़ा लाभ यह होता है कि यह स्किन को इवन व स्मूद बेस देने के साथ-साथ पोर्स को फिल करता है। साथ ही साथ रिंकल्स को छिपाकर आपको एक फ्लॉलेस स्किन प्रदान करता है। इतना ही नहीं, यह फाउंडेशन को पोर्स व फाइन लाइन्स में सेट होने से बचाता है। (इन फाउंडेशन हैक्स का लें सहारा) जिसके कारण यह ओपन पोर्स व फाइन लाइन्स विजिबल नहीं होतीं। लेकिन अगर आप फाउंडेशन लगा रही हैं और उसके बाद भी आपके पोर्स विजिबल हैं, तो इसका अर्थ है कि आपके द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला प्राइमर आपकी स्किन के अनुरूप नहीं है और आपको अपने प्राइमर को एक स्मूदिंग और blurring प्राइमर से स्विच कर देना चाहिए। ताकि आप अपनी स्किन की इन प्रॉब्लम्स को दूर कर सकें।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@freepik)