हर महिला की त्‍वचा अलग तरह की होती है और बढ़ती उम्र के साथ त्‍वचा की जरूरत भी बदलने लगती है। इसलिए 30 की उम्र के बाद महिलाओं को त्‍वचा के लिए अलग तरह के स्किन प्रोडक्‍ट्स की जरूरत होती है। जब बात सेंसिटिव त्वचा के लिए मॉइश्चराइजर चुनने की आती है, तब महिलाएं अक्‍सर कंफ्यूज हो जाती हैं कि बढ़ती उम्र के साथ किस तरह के प्रोडक्‍ट्स का इस्‍तेमाल करना चाहिए। अगर आप भी इसी उलझन में हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए मददगार हो सकता है। 

30 की उम्र के बाद त्‍वचा नमी खोने लगती है, इसलिए हमें अपनी त्वचा को खासकर ठंडी और ड्राई सर्दियों के दौरान ड्राईनेस से बचाना शुरू करना चाहिए। इसके लिए आपको अपने डेली रूटीन में त्वचा को मॉइश्चराइज करने और नमी की कमी को रोकने पर अधिक जोर देना चाहिए। 

त्वचा को ड्राईनेस के कारकों जैसे सूर्य के हानिकारक किरणों से बचाना शुरू करें और अपनी स्किन टाइप के अनुसार अपने मॉइश्चराइजर का चयन करें। इसके अलावा, कई ऐसे नेचुरल तत्व हैं जो त्वचा को मॉइश्चराइज करने में आपकी मदद कर सकते हैं। इसलिए आज हम आपको 2 नेचुरल मॉइश्चराइजर के बारे में बता रहे जो 30 की उम्र के बाद महिलाओं की सेंसिटिव स्किन लिए बहुत अच्‍छे हो सकते हैं। इस बारे में हमें ब्‍यूटी एक्‍सपर्ट शहनाज हुसैन जी बता रही हैं।

ब्‍यूटी एक्‍सपर्ट शहनाज हुसैन जी का कहना है, 'सुंदर त्‍वचा, स्किन टाइप के अनुसार नियमित देखभाल का परिणाम है। ब्‍यूटी केयर के लिए हमेशा फ्रेश सामग्री चुनें। सेंसिटिव त्वचा के लिए कोई भी सामग्री इस्‍तेमाल करने से पहले कलाई के छोटे से हिस्‍से पर इसे आजमाएं।'

एलोवेरा जेल

moisturiser for sensitive skin aloe vera

सेंसिटिव त्वचा के लिए एलोवेरा एक सुपर इंग्रीडिएंट है। पौधे के शीतलन गुण लालिमा, संक्रमण, दाने और खुजली को शांत करने में मदद करते हैं। एलोवेरा में ऐसमैनन यौगिक जिनमें एंटी-फंगल गुण होते हैं, जो सूजन वाली त्वचा की समस्याओं का इलाज करने में मदद करते हैं। 

एलोवेरा जेल आसानी से अवशोषित हो जाता है, जिससे यह ऑयली त्वचा के लिए बहुत अच्‍छा होता है। हालांकि, यह रूखी त्वचा के इलाज में भी मदद कर सकता है। त्वचा में नमी को सील करने में मदद करने के लिए नहाने के बाद एलोवेरा से अपनी त्‍वचा को मॉइश्चराइज करें।

विधि

  • त्‍वचा को मॉइश्चराइज करने के लिए एलोवेरा जेल को चेहरे पर लगाएं। 
  • 20 मिनट बाद सादे पानी से धो लें। आप चाहें तो इसे लगाकर छोड़ भी सकती हैं।

गुलाब जल

moisturiser for sensitive skin rose water

सेंसिटिव त्वचा के लिए गुलाब जल बहुत अच्‍छा होता है। आप इसमें ग्लिसरीन मिलाकर चेहरे पर लगा सकती हैं। गुलाब जल का इस्‍तेमाल हजारों वर्षों से ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट के रूप में किया जाता रहा है, इसलिए इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि यह आपके रंगत में सुधार कर सकता है और त्वचा की लालिमा को कम कर सकता है। इसमें मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल गुण मुंहासे को कम करने में मदद कर सकते हैं और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण त्वचा की लालिमा को कम कर सकते हैं।

गुलाब की पंखुड़ियों और गुलाब के तेल में कई शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो कोशिकाओं को नुकसान से बचाने में मदद कर सकते हैं। एक अध्ययन में पाया गया कि इन एंटीऑक्सीडेंट्स में संभावित लिपिड पेरोक्सीडेशन निरोधात्मक प्रभाव था। यह परिणामस्वरूप शक्तिशाली सेल सुरक्षा प्रदान करता है।

झुर्रियों को कम करने के उद्देश्य से ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट्स में अक्सर गुलाब जल पाया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इसका वास्तव में एंटी-एजिंग प्रभाव हो सकता है। त्वचा को शांत करने के अलावा, इसे लगाने से झुर्रियों की उपस्थिति को कम किया जा सकता है।

विधि

  • गुलाब जल में ग्लिसरीन को मिलाकर रख लें। 
  • फिर इसे चेहरे पर मॉइश्चराइजर की तरह इस्‍तेमाल करें। 
  • रात भर इसे चेहरे पर लगाने से त्‍वचा पर बहुत अच्‍छा असर दिखाई देता है। 
  • इसके अलावा, रोजाना 6 से 8 गिलास पानी पिएं। एक गिलास गर्म पानी में एक नींबू का रस मिलाएं और इसे सुबह सबसे पहले लें।

Recommended Video

शहनाज़ हुसैन का शाबेस प्लस

shabase plus

अगर आप इन नेचुरल मॉइश्चराइजर का इस्‍तेमाल नहीं करना चाहती हैं तो शहनाज हुसैन के शाबेस प्लस मॉइश्चराइजर का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। यह आइडियल पारदर्शी डेटाइम कवर क्रीम, सूरज और प्रदूषकों से सुरक्षा प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया। मॉइश्चराइजर, जैसे शैमोइस्‍ट को रूखी त्वचा के साथ और ऑयली त्वचा के लिए शसिल्क के साथ मिलाया जा सकता है। 

अगर आपकी उम्र 30 के पार हो चुकी है और आपकी त्‍वचा सेंसिटिव है तो शहनाज हुसैन के बताए इन नेचुरल मॉइश्चराइजर का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। हालांकि यह चीजें नेचुरल हैं और इनके कोई साइड इफेक्‍ट्स नहीं हैं, लेकिन फिर भी इसे इस्‍तेमाल करने से पहले पैच टेस्‍ट जरूर कर लें। ब्‍यूटी से जुड़ी और जानकारी के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।