मौसम बदलने के साथ ही स्किन की जरूरतें भी बदल जाती हैं। आमतौर पर महिलाएं गर्मी या सर्दी में ही अपनी स्किन पर अधिक ध्यान देती हैं, लेकिन अगर देखा जाए तो स्किन की सबसे ज्यादा समस्या मानसून में होती हैं। बालों के फ्रिजी होने से त्वचा का ग्रीसी होना या फिर पैरों में इंफेक्शन जैसी कई समस्याएं मानसून में अधिक होती हैं। इसलिए इस मौसम में आपकी स्किन को अतिरिक्त देखभाल की जरूरत होती है। इस बात में कोई दोराय नहीं है कि सबसे सुहाना व खूबसूरत मौसम मानसून ही होता है।

इस मौसम में बालकनी में बैठकर गरमा-गरम चाय पीने का अपना एक अलग ही आनंद है। वहीं, बारिश में भीगने पर तन-मन दोनों ही रिचार्ज हो जाते हैं। आपको भी बारिश में भीगना अच्छा लगता होगा, लेकिन मानसून की मस्ती के बीच स्किन को अनदेखा ना करें। जब बात मानसून की हो तो स्किन केयर रूटीन में बॉडी स्क्रब को शामिल करना बेहद जरूरी हो जाता है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको बताते हैं कि आपको मानसून में बॉडी स्क्रब का इस्तेमाल क्यों करना चाहिए-

इसे भी पढ़ें: इस होममेड एलोवेरा बॉडी स्‍क्रब से त्‍वचा हो जाएगी स्‍मूद और शाइनी

ब्लॉग पोर्स को करे ओपन

should body scrub in monsoon inside

मानसून में हम सभी को पसीना अपेक्षाकृत काफी कम आता है, जिसके कारण स्किन में डेड स्किन सेल्स और क्लॉग पोर्स की समस्या होती है और आखिर में आपको अपनी  स्किन में ब्लैकहेड्स और मुँहासे नजर आते हैं। लेकिन आप इन सभी समस्याओं से बच सकती हैं, अगर आप सप्ताह में एक या दो बार अपनी स्किन पर स्क्रब अप्लाई करें। यह पोर्स को अनक्लॉग करने के साथ-साथ गन्दगी व अन्य इम्पोयिरिटी को दूर करेगा। इससे आपकी अपनी स्किन स्मूद और सॉफ्ट नजर आएगी।

Recommended Video

इंफेक्शन को रखें दूर

should body scrub in monsoon inside

स्किन का इंफेक्शन होने की संभावना सबसे ज्यादा मानसून में होती है। अधिकतर महिलाएं समझती हैं कि मानसून में सिर्फ पैरों का संक्रमण होता है, जबकि वास्तव में ऐसा नहीं है। बारिश के पानी में जब टॉक्सिन मिलते हैं और वह आपके स्किन के संपर्क में आता है तो इससे आपको जलन या खुजली हो सकती है। इससे बचने का एक आसान तरीका यह है कि सप्ताह में कम से कम एक बार अपने शरीर को सिर से पैर तक एक्सफोलिएट करें। क्लीनिंग जहां केवल सतह की गंदगी को हटाती है लेकिन अगर आप संक्रमण को रोकना चाहती हैं तो आपको बॉडी स्क्रब का यूज करना चाहिए। यह आपकी त्वचा में गहराई में मौजूद गंदगी को हटाने के साथ-साथ सूखी व मृत त्वचा को भी दूर करता है।

इसे भी पढ़ें: सॉफ्ट स्किन के लिए अब आपको पार्लर जाने की जरूरत नहीं, घर पर आसानी से बनाएं शुगर स्क्रब और एक्सफोलिएशन करें


मिलता है हेल्दी ग्लो

should body scrub in monsoon inside

इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपकी स्किन टाइप क्या है। मानसून में हर तरह की स्किन डल ही नजर आती है। जहां ह्यूमिडिटी के कारण ऑयली स्किन और भी ज्यादा ऑयली नजर आती है, वहीं रूखी स्किन का रूखापन बढ़ जाता है और पैचेस भी नजर आते हैं। ऐसे में एक्सफोलिएशन न केवल अत्यधिक तेल को संतुलित करने में मदद करेगा, बल्कि ड्राई पैच और मृत त्वचा से भी छुटकारा दिलाएगा।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

 Image Credit:(@freepik)