अगर मैं आपसे पूछूं कि आप सनस्क्रीन का इस्तेमाल किसलिए करती हैं तो यकीनन आपका जवाब होगा यूवी प्रोटेक्शन से। यकीनन यह सच है। इसका नाम ही बताता है कि यह सन के लिए एक स्क्रीन की तरह काम करता है। यही कारण है कि सनस्क्रीन को सिर्फ गर्मियों में ही नहीं, बल्कि ठंड के मौसम में भी इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। लेकिन जहां सनस्क्रीन सूरज की हानिकारक किरणों से आपकी स्किन को एक प्रोटेक्टिव शील्ड प्रदान करता है, वहीं दूसरी ओर इसकी मदद से आप कई तरह की स्किन प्रॉब्लम्स से आसानी से छुटकारा पा सकती हैं। हालांकि बहुत सी महिलाओं को इसकी जानकारी नहीं होती और इसलिए अक्सर सनस्क्रीन अप्लाई करने के स्टेप को मिस कर देती हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि सनस्क्रीन के इस्तेमाल से आप किन-किन स्किन इश्यू को आसानी से अवॉयड कर सकती हैं और एक हेल्दी व ग्लोइंग स्किन पा सकती हैं-

रिंकल्स से बचाव

 sunscreem inside

जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपकी त्वचा में झुर्रियां आना स्वाभाविक है। लेकिन बहुत सारी महिलाओं की स्किन समय से पहले ही बूढी होने लगती है। हालांकि इसके लिए एनवायरनमेंटल फैक्टर भी जिम्मेदार है। खासतौर से, यूवीए और यूवीबी किरणों के संपर्क में आने पर आपकी स्किन पर रिंकल्स आने लगते हैं। यह त्वचा में कोलेजन और इलास्टिन को तोड़ता है और ठीक लाइनों और झुर्रियों की उपस्थिति को बढ़ाता है। लेकिन सनस्क्रीन लगाने से आप इन सभी समस्याओं से बचाव कर सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: Saree Draping Style: बॉलीवुड एक्‍ट्रेसेस से सीखें साड़ी ड्रेप करने के 5 लेटेस्‍ट स्‍टाइल

पिगमेंटेशन

 sunscreem inside

हर दिन स्किन के सन एक्सपोजर के कारण पिगमेंटेशन स्पॉट्स आदि की समस्या होती है। ये त्वचा की सतह पर भूरे रंग के धब्बे होते हैं जो बढ़े हुए freckles की तरह दिखाई देते हैं। ये पिगमेंटेशन आपकी स्किन को थका हुआ, डल व मैच्योर दिखाती है। लेकिन अगर आप सनस्क्रीन का इस्तेमाल करती हैं तो इससे आप अपनी स्किन को पिगमेंटेशन की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता।

अनइवन स्किन टोन

 sunscreem inside

जब सूरज की किरणों आपकी स्किन पर पड़ती है तो इससे आपकी स्किन को काफी नुकसान होता है। जिसके कारण आपकी अनइवन और पैची नजर आती है। यह आपकी स्किन को डल बनाता है। ऐसे में यह जरूरी है कि आप अनइवन स्किन टोन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल जरूर करें।

इसे जरूर पढ़ें: विंटर स्किन केयर से जुड़े इन मिथ पर न करें भरोसा

Recommended Video

फटे होंठ

 sunscreem inside

अब तक आप सोचती होंगी कि सूरज की किरणें आपकी स्किन को ही नुकसान पहुंचाती हैं, लेकिन इसका विपरीत असर आपके होंठों पर भी पड़ता है। यूवी किरणें आपके होठों की त्वचा से नमी भी लूट सकती हैं और सूखापन पैदा कर सकती हैं। इसलिए यह जरूरी है कि आप अपनी स्किन के साथ-साथ होंठों पर भी सनस्क्रीन का इस्तेमाल जरूर करें। अपने लिप बाम या लिपस्टिक के नीचे सनस्क्रीन की एक परत लगाएँ। यह आपके होंठों को मॉइस्चराइज करता है और साथ ही धूप से सुरक्षा प्रदान करता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik