लड़कियां जब 30 की उम्र पार कर लेती हैं तब उनके शरीर, त्वचा और बालों में बहुत सारे बदलाव देखने को मिलते हैं। जहां एक तरफ स्किन पर एजिंग के संकेत नज़र आने लगते हैं वहीं 30 की उम्र के बार बालों में भी कई समस्याएं होने लगती हैं जैसे इस उम्र के बाद हेयर फॉल बहुत तेजी से होता है और उसके कई फैक्टर हैं, जिसमे से मेन फैक्टर आपकी डाइट से जुड़ा हो सकता है। कसी भी उम्र में आप डाइट में किन चीजों को शामिल करती हैं, इस पर सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरुरत होती है। इसी तरह उम्र के इस बदलते दौर में बालों के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होता है प्रोटीन। अगर आपके शरीर में प्रोटीन की कमी होती है तो इसका असर बालों पर भी देखने को मिलता है। इसलिए अपनी डाइट में प्रोटीन की मात्रा बढ़ाने के लिए डेयरी प्रोडक्ट्स और दालों को शामिल करना बेहद जरूरी है। 

हेल्दी बालों के लिए बादाम, फूलगोभी, मशरूम, अंडे में मिलने वाला बायोटिन एक जरूरी  विटामिन है. बालों का झड़ने से रोकने के लिए इस विटामिन को डाइट में शामिल करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा बालों की उचित देखभाल करनी भी जरूरी है जिससे उम्र का असर बालों पर न दिखाई पड़े और बाल हमेशा खूबसूरत और शाइनी बने रहें। आइए एल्प्स की फाउंडर और कॉस्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर भारती तनेजा से जानें 30 साल से ऊपर की उम्र में किस तरह बालों की केयर की जा सकती है। 

डाइट का रखें ख़ास ख्याल 

healthy diet

भारती तनेजा बताती हैं कि 30 साल से ऊपर की उम्र में बालों की चमक बनाए रखने के लिए सबसे ज्यादा महत्त्वपूर्ण है डाइट का ध्यान देना इस लिए कुछ ख़ास चीज़ों को अपनी नियमित डाइट में जरूर शामिल करें। भुने हुए चनों, मटर, राजमा, छोले और काजू  को डेली डाइट में शामिल करके आप बालों के लिए भी काफी फायदेमंद आयरन पा सकती हैं। इसी आयरन की कमी से बालों के झड़ने और बेजान होने की समस्या बढ़ सकती है। विटामिन -ए  और सी ऐसे विटामिन हैं जो हेयर्स की ग्रोथ और शाइनिंग के लिए बेहद असरदार हैं इसलिए आपको  विटामिन- ए के लिए गाजर, शकरकंद, कद्दू, पालक, दूध या दही को डाइट में शामिल करने की जरूरत है। वहीं विटामिन -सी के लिए आंवला, नींबू, बेल, मिर्च, अमरूद या स्ट्रॉबेरी को डाइट में शामिल करें। 

इसे जरूर पढ़ें:घर पर बालों को कर रही हैं ब्लीच तो भूलकर भी ना करें ये गलतियां

नियमित रूप से मैडिटेशन करें 

meditation for healthy hair

30 की उम्र के पार खासतौर पर महिलाओं की जिम्मेदारियां बढ़ने लगती हैं जो टेंशन का रूप लेती हैं। बालों के झड़ने के फैक्टर्स में टेंशन भी एक फैक्टर है जिससे बाल ज्यादा टूटने लगते हैं, इसलिए टेंशन कम करने के लिए नियमित रूप से मेडिटेशन करें। ऐसा करना दिमाग को शांत रखने का अच्छा तरीका है और टेंशन कम करके बालों को झड़ने से रोकने का भी अच्छा उपाय है। 

bhaarti taneja quote

बालों पर ज्यादा प्रयोग न करें 

इस उम्र में आप स्टाइलिश हेयर स्टाइल करने के लिए कई प्रयोग करते हैं जो आपके हेयर्स को कमजोर  बना सकते हैं। इसलिए हेयर्स पर ज्यादा एक्सपरिमेंट करने से बचें।  यदि आप कुछ अलग कर भी रही हैं तो एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। मुख्य रूप से इस उम्र तक आते हुए महिलाएं बालों को स्टाइल देने के लिए बेवजह कलर कराने लगती हैं। हेयर कलर्स में हानिकारक रसायन होते हैं जो बालों को डैमेज कर सकते हैं। यदि आप बालों को कलर करने से नहीं बच सकती हैं, तो ऐसे कलर्स का उपयोग करें जिसमें अमोनिया की मात्रा न के बराबर हो। हेयर कलर के बाद बालों की देखभाल की दिनचर्या का पालन करें और अपने कलर किए हुए बालों को और नुकसान से बचाने के लिए कलर प्रोटेक्शन शैंपू और कंडीशनर का उपयोग करें।

अपने बालों में तेल लगाएं

oiling hair

जब आप 30 की उम्र के पार पहुंच जाती हैं तब बाल जरूरत से ज्यादा ड्राई होने लगते हैं। ऐसे में नियमित तेल लगाने से आपके बालों को नुकसान से बचाया जा सकता है। मुख्य रूप से नारियल का तेल अन्य सभी तेलों से अच्छा होता है जो बालों के शाफ्ट में प्रवेश करके बालों के प्रोटीन के नुकसान को कम करने में मदद करता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: फिटकरी के पानी से नहाने के अद्भुत लाभ जानें

Recommended Video

सही शैम्पू और कंडीशनर का इस्तेमाल

ज्यादा शैंपू करने से आपके बाल कमजोर हो सकते हैं। इसलिए सही शैम्पू का चुनाव जरूरी है। हमेशा डिटर्जेंट रहित माइल्ड शैम्पू का इस्तेमाल करें। कभी भी सीधे शैम्पू को बोतल से निकालकर बालों में इस्तेमाल न करें बल्कि बालों को हल्का सा गीला करके शैम्पू को आधा मग पानी में घोलकर बालों को धोने के लिए इस्तेमाल करें। इसके अलावा शैम्पू लगाते समय हल्के हाथों से मालिश करें। रोज़ अपने बालों को धोने से बचें। ज्यादा शैम्पू करने से बाल रूखे हो सकते हैं। शैम्पू के इस्तेमाल के बाद कंडीशनर का इस्तेमाल जरूर करें और कंडीशनर बालों की जड़ों में न लगाएं। 

बालों को ट्रिम कराएं 

trim hair for healthy hair

30 की उम्र के बाद बाल अक्सर दोमुंहे होने लगते हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए हर 6 से 8 सप्ताह में अपने बालों को ट्रिम करने से रफ-टू-टच स्प्लिट समाप्त हो जाता है। ऐसा करना बालों की ग्रोथ के लिए भी अच्छा होता है। अगर आप अक्सर स्ट्रेटनर और हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करती हैं तो ऐसा  करने से बचें। ऐसे उपकरण बालों को खराब कर सकते हैं। 

उपर्युक्त सभी तरीकों से आप 30 साल की उम्र के बाद भी बालों की खूबसूरती बनाए रखने के साथ बालों को झड़ने से भी रोक सकती हैं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik