हमारे बाल बहुत कीमती होते हैं और इन्हें संभाल कर रखने के लिए हम बहुत कुछ करते हैं। बालों की सेहत को सुधारने के लिए इतनी चीजें की जाती हैं और ना जाने कितने हेयर केयर प्रोडक्ट्स खरीदे जाते हैं। अधिकतर लोगों की समस्या झड़ते हुए बाल होते हैं और इस समस्या का इलाज करने के लिए ना जाने कितने ट्रीटमेंट्स करवाए जाते हैं। 

पर क्या वाकई गिरे हुए बाल वापस उग सकते हैं या ये सिर्फ एक भ्रम है। हेयर ट्रांसप्लांट से लेकर हेयर फॉल के लिए बनाए गए शैम्पू तक काफी कुछ आजमाया जाता है, लेकिन फर्क नहीं पड़ता। आखिर फर्क किस चीज़ से पड़ सकता है और क्या वाकई बाल उग सकते हैं ये पता कैसे किया जाए? 

Dermafollix skin & hair transplant क्लीनिक की  डर्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर आंचल पंथ ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इससे जुड़ी जानकारी शेयर की है। 

डॉक्टर आंचल के मुताबिक इसके सिर्फ दो ही तरीके हो सकते हैं। हेयर फॉल या तो एकदम से शुरू होता है या फिर आपकी हेयर लाइन धीरे-धीरे कम होती है। इसमें से सिर्फ एक ही से पूरी तरह से दोबारा हेयर ग्रोथ मुमकिन है।

hair fall type

इसे जरूर पढ़ें- क्या अतुल्य हर्बल ब्लैक सीड शैम्पू कर सकता है सर्दियों की फ्रिज़ीनेस को दूर? पढ़ें रिव्यू

अगर एकदम से शुरू हुआ है हेयर लॉस तो ?

अगर एकदम से शुरू हुआ है हेयर लॉस और बहुत सारे बाल झड़ रहे हैं तो उसके कुछ कारण हो सकते हैं जैसे-

  • कोई बीमारी
  • शरीर में किसी विटामिन की कमी के कारण
  • किसी दवा का रिएक्शन
  • किसी तरह के स्ट्रेस के कारण
  • किसी तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट का रिएक्शन आदि

इसे मेडिकल भाषा में एक्यूट टेलीजेनिक एफ्लुवियम कहा जाता है। अगर आपको ऐसी कोई कंडीशन है तो ये मुमकिन है कि आप पूरी तरह से रिकवर हो जाएं। एक बार वो बीमारी, कमी या स्ट्रेस खत्म हो गया तो आपके बाल वापस से 6-9 महीनों में उगने लगेंगे, लेकिन इतना समय लग ही जाएगा शरीर को नेचुरली ठीक करने में। 

 

अगर धीरे-धीरे कम हो रहे हैं बाल तो? 

इसे हेयर थिनिंग या हेयर लाइन का पतला होना भी कहा जा सकता है जो उम्र के कारण, किसी तरह की हेरेडिटी की समस्या के कारण, किसी एक्सीडेंट आदि के कारण हो सकता है। इसे मेल/ फीमेल पैटर्न हेयर लॉस भी कहा जा सकता है। ऐसे केस में वापस बालों की डेंसिटी उतनी ही हो जाए ये मुमकिन नहीं होता है। इसकी रिकवरी कई फैक्टर पर निर्भर करती है और जेनेटिक्स का इसपर ज्यादा गहरा रोल होता है।  

इसके लिए डॉक्टर की सलाह पर जिंदगी भर का ट्रीटमेंट भी चल सकता है। हां, प्रेग्नेंसी के दौरान इसे बंद कर दिया जाता है और उसके अलावा टॉपिकल लोशन और ओरल हार्मोन्स बहुत सारे दिए जाते हैं।  

इसे जरूर पढ़ें- विंटर में बालों को डैमेज होने से बचाने के लिए ट्राई करें ये हेयरस्टाइल 

Recommended Video

बिना डॉक्टर की सलाह के कुछ ना करें- 

आपको ये बात ध्यान रखने की जरूरत है कि अगर आप खुद से ही कुछ हार्मोनल गोलियां या ब्यूटी हेयर ट्रीटमेंट्स लेते हैं तो इसका उल्टा असर भी हो सकता है। कोई भी ब्यूटी प्रोडक्ट जादू नहीं दिखा सकता है। जैसा विज्ञापनों में दिखाया जाता है वैसा होता नहीं है और इसलिए आपको किसी तरह की कल्पना नहीं करनी चाहिए। खासतौर पर अगर आप हार्मोनल गोलियां लेने के बारे में सोच रही हैं तो हमेशा डॉक्टर से संपर्क करें।  

तो अब आपको पता चल गया है कि आपके बालों में ग्रोथ होगी या नहीं। अपने ट्रीटमेंट को अपनी समस्या के हिसाब से ही तय करें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लग रही है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।