• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

ट्रैवल के दौरान उल्टी और चक्कर से हैं परेशान तो फॉलों करें ये टिप्स

ट्रैवल करते समय अगर आपको कार, बस, प्लेन या नाव में समस्या होती है और उल्टी, चक्कर, घबराहट जैसे लक्षण दिखते हैं तो ये स्टोरी आपके काम आ सकती है।   
Published -25 Apr 2022, 17:47 ISTUpdated -25 Apr 2022, 17:53 IST
author-profile
  • Shruti Dixit
  • Editorial
  • Published -25 Apr 2022, 17:47 ISTUpdated -25 Apr 2022, 17:53 IST
Next
Article
different probles while travel

ट्रैवल करना किसे नहीं पसंद, कई बार तो ऐसा होता है कि कई-कई दिनों तक एक ठिकाना नहीं होता और हमारा पूरा समय ट्रैवल में ही जाता है। पर यहां उन लोगों के लिए बहुत समस्या हो जाती है जिन्हें ट्रैवल सिकनेस या मोशन सिकनेस होती है। समुद्र में जाते समय, हवाई जहाज में जाते समय, कार में जाते समय ऐसी बहुत सारी समस्याएं होती हैं।  कई ऐसे होते हैं जिन्हें रोडवेज ट्रैवल सूट नहीं करता है, कुछ को प्लेन में चक्कर आते हैं और कुछ को समुद्री यात्रा नहीं सुहाती है। 

पर क्या आपको पता है कि ट्रैवल सिकनेस या मोशन सिकनेस को दूर करने के लिए क्या किया जा सकता है? ट्रैवल सिकनेस बहुत ज्यादा परेशान कर सकती है और ऐसा हो सकता है कि उसकी वजह से आप ट्रैवल करने से बचते हों। सेलेब न्यूट्रिशनिस्ट पूजा मखीजा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट में ट्रैवल सिकनेस से जुड़ी कुछ टिप्स शेयर की हैं जो आपको यात्रा के दौरान परेशान होने से बचा सकती हैं। 

तो चलिए सिलसिलेवार तरीके से बात करते हैं कि एयर, रोड और समुद्र में ट्रैवल करते समय आपको किन चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए जिससे ट्रैवल सिकनेस की समस्या न हो। 

इसे जरूर पढ़ें- ट्रैवल करते वक्त रखें चेहरे का ख्याल, ये 8 टिप्स आएंगे काम

पानी में ट्रैवल करते समय करें ये काम-

सबसे पहले बात करते हैं पानी में ट्रैवल की, भले ही समुद्र हो या फिर नदी दोनों ही जगह में ट्रैवल करना कई लोगों के बस का नहीं होता है। पानी में उल्टी करने वाले लोगों की संख्या बहुत ज्यादा होती है। पूजा मखीजा ने खास तौर पर पानी में ट्रैवल के दौरान होने वाली परेशानियों से बचने की टिप्स बताई हैं। 

sickness and travel on sea

  • हैवी मील खाने के बाद बिल्कुल बोट या क्रूज पर ना चढ़ें। हैवी, स्पाइसी, ऑइली मील आपके डाइजेशन को हमेशा धीमा करेगा और इससे जी-मिचलाने की समस्या और ज्यादा बढ़ जाती है। 
  • कैमोमाइल टी ट्राई करें जो आप समुद्र पर जाने से पहले पी सकते हैं। इससे गैस्ट्रिक मसल्स रिलैक्स होती हैं और ये गैस्ट्रिक एसिड भी कम कर देती है जिससे जी-मिचलाने की समस्या कम होती है। 
  • हर्ब्स हमेशा मददगार होती हैं जैसे अदरक, पेपरमिंट ये उल्टी, चक्कर जैसी फीलिंग को कम करती हैं। 
  • हर्ब्स का हाई डोज भी लिया जा सकता है जैसे 500 मिलीग्राम पेपरमिंट एक्सट्रेक्ट और 350 मिलीग्राम अदरक का एक्सट्रेक्ट।
  • एक ग्लास पानी में 1/4 चम्मच मुलेठी मिक्स कर सेलिंग से पहले ले लें। इससे आपकी समस्या काफी कम हो जाएगी। 
  • अगर आपको हमेशा समुद्र से ट्रैवल करना पड़ता है और ये आपका काम है तो आप peridoxin का 100 मिलीग्राम का डोज ले सकते हैं।  
 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by PM | Nutritionist (@poojamakhija)

 

अगर कार से ट्रैवल कर रही हैं तो- 

अब बात करते हैं कार की, अगर आप कार से ट्रैवल कर रही हैं और आपको हर बार डीजल की महक या फिर घुमावदार रोड से समस्या होती है तो आपको क्या करना चाहिए? 

  • नींबू का एक स्लाइस अपने साथ रखें और जब लगे कि बहुत ज्यादा उल्टी आ रही है तो उसे चाटना थोड़ा सा बेहतर हो सकता है। 
  • अदरक यहां भी असरदार होगी। अदरक को सुखाकर उसे मुंह में रखने से आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। 
  • पुदीना आपकी सेहत को बेहतर करने में मदद कर सकता है। पुदीने का तेल अगर आप रुमाल में थोड़ा सा पुदीने का तेल डालकर सूंघेंगे तो ये उल्टी और जी-मिचलाने की समस्या को कम करेगा। 
  • तुलसी का रस पीना, तुलसी के पत्ते चबाना भी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। हां, कुछ लोगों को तुलसी सूट नहीं करती है इसलिए आपको अगर सूट करती है तो ही इसे खाएं। 

इसे जरूर पढ़ें- जा रही हैं घूमने तो ये 5 चीज़ें पैक करना कभी न भूलें 

Recommended Video

अगर प्लेन से ट्रैवल कर रही हैं तो- 

अगर आप प्लेन से ट्रैवल कर रही हैं और आप उन लोगों में से एक हैं जिन्हें हमेशा हवाई यात्रा से पहले एंग्जाइटी या अन्य समस्याएं होती हैं तो आपको ये टिप्स अपनानी चाहिए।  

sickness and travel on plane

  • डिजिटल स्क्रीन और रीडिंग से बचें क्योंकि चक्कर काफी ज्यादा आते हैं। सिर नीचे झुकाना ऐसे समय में आपके लिए खराब स्थिति बन सकती है। 
  • स्पाइसी और ऑयली फूड से दूर रहें। प्लेन में हवा का दबाव बना रहता है और ऐसे में अगर आप ज्यादा हैवी मील लेंगे तो डाइजेस्टिव इशू ज्यादा होंगे। 
  • डॉक्टर से कान दर्द और चक्कर आदि के लिए कोई दवा भी प्रिस्क्राइब करवाई जा सकती है। 
  • अदरक खाना या अदरक वाली ड्रिंक लेना यहां भी काफी मददगार साबित हो सकता है।  

तो ये थीं कुछ टिप्स जिनकी मदद से आपका ट्रैवल स्मूथ हो सकता है। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ट्रैवल के लिए अगर कोई दवा लेते हैं तो उसे पहले डॉक्टर से प्रिस्क्राइब जरूर करवा लें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से। 

 Image Credit: Shutterstock/ Freepick
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।