हौज खास में स्थित स्मारकों को आप फ्री में घूम लेती थी लेकिन अब ये फ्री एंट्री जल्द ही बंद होने वाली है। दरअसल दिल्ली के हौज खास की स्मारकों जिनमें अब तक एंट्री फ्री थी उन्हें जल्द ही टिकट के दायरे में लाया जा सकता है। 

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ASI ने संस्कृति मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा है कि हौज खास को 11वीं सूची के स्मारकों में रखें जिसके अंतर्गत इन स्मारकों में एंट्री के लिए टिकट अनिवार्य होगा। इस बारे में जल्दी ही एक अधिसूचना जारी की जा सकती है। मतलब यह हुआ कि अब आपको हौज खास की स्मारकों को देखने के लिए एंट्री फीस देनी होगी। 

hauz khas monuments no  more free entry

हौज खास की खासियत 

दिल्ली में हौज खास लोगों के बीच शॉपिंग से लेकर खाने-पीने की चीजों के साथ-साथ सुकून भरे पल बिताने के लिए भी फेमस है। यहां आने वाले अधिकांश विजिटर युवा हैं जो निकट के हौज खास विलेज से ही आते हैं। कभी-कभी कुछ लोग हौज खास स्थित झील को भी देखने आते हैं तो कुछ यहां की स्मारकों में सुकून के दो पल बिताने के लिए आते हैं। हौज खास के ये स्मारक दक्षिण दिल्ली में स्थित है जहां आर्ट गैलेरी, रेस्तरां और आवासीय क्षेत्र है। 

Read more: ऐसा क्या था इस मंदिर में जो बड़े से बड़ा जहाज भी इसकी ओर खींचा चला आता था

हौज खास स्मारकों की बात करें तो इसमें एक मदरसा, एक झील, मस्जिद और फिरोजशाह तुगलक के मकबरे के साथ-साथ 6 मंडप भी हैं जिनका निर्माण 1352 से 1354 के बीच करवाया गया था। 

hauz khas monuments no  more free entry

बता दें कि यह क्षेत्र दिल्ली के सीरी का हिस्सा था जिसका निर्माण सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी ने 1296-1316 के बीच करवाया था। ये एरिया टूरिस्ट्स के बीच काफी पॉपुलर है। 

hauz khas monuments no  more free entry

फ्री एंट्री जल्द हो सकती है बंद 

अगर ASI के सूत्रों की मानें तो हर दिन हजारों लोग हौज खास के इन स्मारकों में आते हैं और यहां टिकटिंग सिस्टम कर दिया जाए तो इससे अच्छी कमाई की जा सकती है। एंट्री टिकट लगाने के साथ ही ASI यह भी योजना बना रही है कि स्मारक के आसपास टूरिस्ट्स से जुड़ी मूलभूत सुविधाएं जैसे बैठने के लिए बेंच, कैफेटेरिया, शौचालय, पीने का पानी आदि की व्यवस्था की जाए। 

अगर यहां ASI टिकटों की व्यवस्था कर देता है तो राजस्व की अच्छी कमाई होने के साथ-साथ ऐंटी-सोशल एलिमेंट्स को भी घुसने से रोका जा सकता है जो स्मारक को नुकसान पहुंचाते हैं। 

Recommended Video