कई ऐसे प्लांट्स हैं, जो ना सिर्फ घर की बल्कि आपके गार्डन की भी शोभा बढ़ाने का काम करते हैं। उन्हीं में से एक है मंकी पजल ट्री, जिसे क्रिसमस ट्री भी कहा जाता है। इसकी खूबसूरती को देखने के बाद ज्यादातर लोग घर में क्रिसमस ट्री लगाते हैं और उसे त्योहार के समय डेकोरेट भी करते हैं।  क्रिसमस ट्री की पत्तियां काफी नुकीली होती हैं, जो छूने पर काफी सख्त होते हैं। 

घर के आंगन या फिर कमरे में लोग इस क्रिसमस ट्री को अक्सर रखते हैं। हालांकि, वास्तु के हिसाब से इसे घर में लगाने के अलग-अलग फायदे हैं। कोन शेप में यह प्लांट देखने में काफी आकर्षित लगता है। वहीं कुछ लोग इस प्लांट को लगाने के बाद उसकी देखरेख सही तरीके से नहीं करते। जिसकी वजह से इसकी पत्तियां खराब हो जाती हैं। यही नहीं कई बार यह गमले में ही सूख जाता है। तो चलिए जानते हैं क्रिसमस ट्री का ख्याल कैसे रखना चाहिए।

क्रिसमस ट्री लगाते वक्त ध्यान रखें ये बातें

christmas tree plant from cutting

क्रिसमस ट्री को हेल्दी रखने के लिए इसे लगाने का तरीका सही मालूम होना चाहिए। इसकी जड़े अन्य प्लांट्स की तरह गहरी नहीं होती। इसलिए क्रिसमस ट्री के गमले को एक जगह से दूसरी जगह बार-बार शिफ्ट ना करें। दरअसल, ऐसा करने से जड़ें हिल सकती हैं, जिसकी वजह से यह नष्ट भी हो सकता है। शुरुआत में इसे लगाते वक्त एक डंडे का सहारा जरूर दें। इसके अलावा आप चाहें तो दीवार के सहारे से भी इसे लगा सकती हैं। जमीन से बेहतर होगा कि आप इसे गमले में लगाएं, दरअसल, जमीन में लगाने से तेज हवा से गिर भी सकता है। 

क्रिसमस ट्री के लिए मिट्टी का इस्तेमाल

क्रिसमस ट्री में पानी की अधिक आवश्यकता नहीं होती। इसलिए इसे लगाने के लिए बालुई मिट्टी और नमी होल्ड करने वाली मिट्टी का इस्तेमाल करें। हफ्ते में एक बार पानी डालना इस तरह के पौधों के लिए उपयुक्त है। वहीं पौधे की पत्तियों का कलर हरे से पीले कलर में होने लगे तो समझ जाएं कि कोई परेशानी हैं। ऐसे में इसकी देखरेख अच्छी तरीके से करें। वहीं इसे तेज धूप या फिर छांव में रखने के बजाय धूप की रोशनी में रखें। बार-बार जगह बदलने के बजाय आप उसे एक जगह सेट कर दें। आप चाहें तो दो साल पर इसका गमला चेंज भी कर सकती हैं। कोशिश करें कि शुरुआत में पौधे की साइज को देखते हुए गमले का इस्तेमाल करें।

इसे भी पढ़ें: पानी की कमी होने पर प्लांट में नजर आते हैं यह लक्षण, जानिए

पौधे की छटाई करने से बचें

क्रिसमस ट्री का ख्याल अच्छी तरीके से की जाए तो यह काफी लंबी हो जाती हैं। हालांकि, कुछ लोग इसे परेशान होकर इसकी छटाई करना शुरू कर देते हैं। बता दें कि क्रिसमस ट्री की खूबसूरती उसकी पत्तियों से होती हैं, ऐसे में इसकी कटिंग बार-बार करने से यह खराब हो सकते हैं। यह कोन शेप में ही ऊपर की तरफ बढ़ता है, ऐसे में आप चाहें तो नीचे की पत्तियां जो सूख गए हैं, उसे निकाल सकती हैं। इससे क्रिसमस ट्री हरा भरा रहेगा और देखने में भी काफी अच्छा लगेगा।

लिक्विड फर्टिलाइजर का करें इस्तेमाल

liquid fertilizer

आज कल पौधों की देखरेख के लिए हम ऑर्गैनिक चीजों का इस्तेमाल लिक्विड फर्टिलाइजर के रूप में करते हैं। क्रिसमस ट्री के लिए आप उन ऑर्गेनिक फर्टिलाइजर का इस्तेमाल कर सकती हैं। क्रिसमस ट्री में अन्य कीड़े-मकोड़े का डर नहीं होता, लेकिन इस पौधे में मकड़ी के जाले खूब लगते हैं। ऐसी स्थिति में आप नीम ऑयल पानी में मिक्स कर स्प्रे कर सकती हैं। आप चाहें तो डिश वॉश लिक्विड का मिश्रण भी तैयार कर सकती हैं। हफ्ते में एक बार इसका स्प्रे करना काफी होगा। वहीं लिक्विड फर्टिलाइजर का स्प्रे सिर्फ पत्तियों पर करें। इससे कुछ दिन फर्क नजर आने लगेगा।

इसे भी पढ़ें: घर पर रखे सामानों से इस तरह सजाएं अपना स्टडी टेबल, दें रूम को परफेक्ट लुक

Recommended Video

ऑर्गैनिक खाद का इस्तेमाल

पत्तों की रंगत को देखते हुए आप पौधे की हालत को जाना सकता हैं। दरअसल, क्रिसमस ट्री की खूबसूरती उसके पत्ते ही होती हैं। ऐसे में पत्तों की रंगत अगर बदल रही है तो इसका मतलब साफ है कि उसे खाद की आवश्यकता है। क्रिसमस ट्री के लिए जितना हो सके उतना ऑर्गैनिक खाद का इस्तेमाल करें। चाय पत्ती के अलावा अंडे का छिलका या फिर सूखे गोबर का इस्तेमाल कर सकती हैं। वहीं क्रिसमस ट्री में ऑर्गैनिक खाद का इस्तेमाल सीमित मात्रा में ही करें।

यहां बताए गए टिप्स की मदद से आप क्रिसमस ट्री को हेल्दी रख सकती हैं। साथ ही, आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें कमेंट कर जरूर बताएं और इसी तरह के अन्य आर्टिकल के लिए जुड़ी रहें हर जिंदगी के साथ।

 

Image credit: Amazon, pinterest