पिछले करीब 18 महीनों से ऑफिस में काम करने वाले ज्यादातर प्रोफेशनल अपने घर से ही अपनी कंपनी की सेवा दे रहे हैं। समय पर प्रोजेक्ट को पूरा करना, बॉस और क्लाइंट की मीटिंग के लिए हमेशा उपलब्ध रहना, ओवरटाइम करना आदि वर्क फ्रॉम होम में रोज की बात हो चुकी है। लेकिन जरा सोचिए, कुछ महीनों से जो प्रोफेशनल ऑफिस का काम घर से कर रहे हैं, उनके घर में कोई और भी है, जो सालों से घर पर रहकर काम कर रहा है। वह है गृहिणी। 

हालांकि, घर से काम करने वालों और घर पर काम करने वालों से अपेक्षाएं अलग हैं, क्योंकि घर का काम करना एक गृहिणी का कर्तव्य माना जाता है। ध्यान देने वाली बात यह है कि वर्किंग प्रोफेशनल को काम के लिए सैलरी भी मिलती है, लेकिन गृहिणी को वह भी नहीं मिलता।

यही नहीं, वीकेंड, नेशनल हॉलीडे, त्योहारों की छुट्टियों का उसके जीवन में कोई खास मतलब नहीं है। उसे तो हर दिन खुद को घर की जिम्मेदारियों को पूरा करने में लगाना है। सालों से घर पर काम करने वाली गृहणियों को क्या बराबरी का सम्मान मिल रहा है!  

पुरुष और महिला के बीच अंतर को पाटने के लिए ITC Vivel लगातार प्रयास कर रहा है। ब्रांड फिलॉसफी 'अब समझौता नहीं' इस बात को दर्शाती है कि सालों से चले आ रहे स्टीरियोटाइप को तोड़ना है, ताकि महिलाओं को उनके काम के लिए सम्मान मिल सके। जेंडर इक्‍वालिटी डे के अवसर पर ब्रांड ने  #RespectWorkForHome कैंपेन की शुरुआत की है, जिसका मकसद है गृहणियों की मेहनत और उनके अथक प्रयास को सेलिब्रेट करना है। 

इस कैंपेन के तहत ITC Vivel ने एक वीडियो लॉन्च किया है। इस छोटे से वीडियो में सालों से वर्क फ्रॉम होम करने वाली गृहणियों के बिना शर्त योगदान को ऑफिस के काम के साथ तुलना करके खूबसूरत तरीके से दिखाया गया। जैसे सुबह उठते ही प्रोफेशनल की तरह उनका भी कामों का इनबॉक्स भरा रहता है।

पूरे दिन क्या-क्या करना है, उसके लिए उन्हें भी टाइम टेबल बनाना पड़ता है, बच्चा रोने लगे तो बॉस के बुलावे की तरह बीच में ही खाना छोड़ना पड़ता है। प्रोफेशनल का काम शायद पहले खत्म हो जाए, लेकिन उनका काम देर रात तक चलता है, वो भी रोजाना। प्रोफेशनल और उनका काम एक जैसा है फिर भी लोगों को उनका काम काम क्यों नहीं लगता। 

यह वीडियो समानता के एक महत्वपूर्ण पहलू को छूता है और सभी को कामकाजी प्रोफेशनल और गृहिणियों दोनों के लिए समान सम्मान देने के लिए प्रोत्साहित करता है। वीडियो मजबूत महिलाओं का सामूहिक चित्रण है, जिन्होंने अपने परिवार की खुशी और भलाई को ही अपनी पसंद बनाई है। 

यह वीडियो देखकर आप समझ जाएंगे कि प्रोफेशनल और घर में काम करने वाली गृहिणियों के काम में कोई अंतर नहीं है -

गृहणियां सालों से वर्क एट होम पर हैं और प्रोफेशनल भी पिछले करीब 18 महीनों से वर्क फ्रॉम होम पर हैं।  ITC Vivel का यह वीडियो इस बात के लिए प्रेरित करता है कि लोग अपने काम से थोड़ा समय निकालें और घर में काम कर रहीं गृहणियों की मेहनत को देखें। उन्हें पता चलेगा कि प्रोफेशनल का काम उनके काम से बिलकुल भी अलग नहीं है, बल्कि वो उनसे ज्यादा ही काम करती हुई दिखाई देंगी। ऐसे में गृहणियों को बराबरी का सम्मान देना न भूलें।