भारत की सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में आर्टिकल 377 को हटा दिया। जिसने सदियों पुरानी बेड़ियों को तोड़ दिया, इसके बाद से ही समाज में समग्लैंगिल लोगों के प्रति समाज का नजरिया बदल दिया। पर इसके बाद भी समाज का एक तबका समलैंगिक रिश्तों के विरोध में नजर आता है। 

ऐसे में इस मुद्दे से जुड़ा ऐड डाबर लेकर आया। करवा चौथ के मौके पर शॉपिंग का सीजन चल रहा था, महिलाएं अपने पति के लिए दिनभर का व्रत रखी थीं।

इस बात पर हुआ हंगामा -

dabur company

  डाबर ने करवा चौथ के मौके पर अपना ऐड नया ऐड निकाला। शायद आप लोगों ने वीडियो डिलीट होने से पहले देख लिया होगा। ऐड में एक लेस्बियन कपल करवाचौथ मनाता हुआ नजर आता है। वीडियो को देखने के बाद सोशल मीडिया पर जमकर हंगामा हुआ।

वीडियो को 22 तारीख को लॉन्च किया गया, जिसमें पहले महिलाएं करवा चौथ की तैयारी करती नजर आती हैं।इसके बाद एक दूसरे के चेहरे पर ब्लीच लगाकर एक दूसरे को तैयार करती हैं। विडियो में त्योहार का महत्व बताती हैं, कि आखिर वो-दोनों यह व्रत क्यों रखा है।

विडियो के अंत तक हमें यह पता चलता है कि दोनों महिलाएं एक लेस्बियन कपल हैं। दोनों ने एक दूसरे के लिए के लिए करवाचौथ का व्रत रखा है। दोनों चांद को देखकर एक-दूसरे का व्रत तोड़ती हैं। ऐड का मकसद LGBTQ कम्युनिटी के प्रति जागरूकता फैलाना था। पर विडियो के सामने आते ही इसे दो तरह की प्रक्रिया का सामना करना पड़ा।

इसे भी पढ़ें- टैरो कार्ड एक्सपर्ट से जानें किस राशि के लोग लेते हैं दूसरों से जल्दी बदला

 

मिक्स रहा वीडियो पर रियक्शन -

dabur add

LGBTQ का समर्थन करने वाले लोगों ने इस विडियो की सराहना की, वहीं एक तबका ऐसा था जिसने जमकर ट्रोलिंग शुरू कर दी। विरोधियों का कहना था कि ऐड कंपनी ऐसे ऐड के माध्यम हिंदू धर्म के त्योहारों के साथ खिलवाड़ कर रही है। 

इतनी आलोचना के बाद डाबर ने अपना वीडियो हटा लिया,इसके साथ ही डाबर ने ट्वीट करके वीडियो को लेकर माफी मांगी। माफी मांगते हुए डाबर इंडिया लिमिटेड ने कहा कि उन्हें इस बात पर खेद है कि उनके कारण लोगों की भावनाएं आहत हुई।

 इसके बावजूद लोगों ने सोशल मीडिया पर भर-भर के गुस्सा निकाला। लोगों का मनना है कि ऐसे ऐड लोगों की भावना को आहत पहुंचाते हैं, इसलिए कंपनी को ऐसा विडियो नहीं दिखाने चाहिए। 

इसी बीच डाबर को बायकॉट करने की बात चल पड़ी है।इससे पहले भी कई ऐसे ऐड आ चुके हैं जिस पर ऑडियंस का गुस्सा भड़का है। उनमें से एक साल पुराना टाटा का ऐड भी था। उस ऐड को लेकर भी जमकर विवाद हुआ था। 

इसे भी पढ़ें- इंस्टाग्राम अकाउंट को प्राइवेट करने के लिए आजमाएं ये तरीके

मामले में मत्रीं ने कंपनी को दी चेतावनी -

narottam mishra

इतना ही नहीं इस मामले पर मध्य प्रदेश (मध्य प्रदेश में घूमें ये जगह) गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कंपनी को चेतावनी दे डाली। नरोत्तम ने कहा कि कंपनी हिंदू धार्मिक त्योहारों को ही अपना निशाना क्यों बनाती है। आखिर क्यों हिंदू त्योहारों पर ही ऐसे वीडियो और फोटो जारी किए जाते हैं। ऐसे सेम सेक्स कपल को त्योहार मनाता नहीं दिखाना चाहिए।

Recommended Video

आज ये कंपनिया समलैंगिक(समलैंगिक शादी की दिलचस्प कहानी) या लैस्बियन को व्रत करते हुए दिखा रहे हैं और इसके बाद ये लड़कों को शादी करते हुए दिखाएंगी। अगर कंपनियों में इतनी हिम्मत हो तो किसी और धर्म पर ऐसे वीडियो बनाएं। 

हालांकि विडियो हटने के बाद भी लोगों में नाराजगी देखने को मिल रही है। मामले में आगे क्या होता है यह तो बाद में ही पता चलेगा, तब तक इस तरह की और जानकारियों के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

image credit - google searches, scrool in, outlook, jagran and tribune