अपने परिवार की तरह अब सारा अली ख़ान भी बॉलीवुड में अपना नाम कमाने निकल पड़ी हैं। छोटे नवाब सैफ अली ख़ान की बेटी सारा को आम जनता भले ही स्टार डॉटर मानती हैं, मगर ख़ुद सारा का कहना है कि लोग उन्हें फ़क़ीर समझें तो ज़्यादा अच्छा है।

sara ali khan shopping inside

Image Courtesy : Instagram (@srhussaini7)

सारा अली खान ने हमसे ख़ास बातचीत के दौरान बताया कि वो अपने आपको एक नॉर्मल लड़की मानती हैं और एक आम लड़की की तरह ही वो अपनी लाइफ़स्टाइल भी जीती हैं। सारा ने बताया कि यह सब कुछ उनकी मां अमृता ने उन्हें सिखाया है। क्या आप जानते हैं कि इतने बड़े परिवार से आई सारा रियल लाइफ़ में हज़ार रुपये से ज्यादा की शॉपिंग नहीं करतीं और एक आम लड़की की तरह अपने कपड़े रिपीट करने को भी ग़लत नहीं मानतीं। सारा ने हमसे अपने शॉपिंग अड्डे के बारे में भी बात की, बता दें कि उनका यह अड्डा दिल्ली में है।

दिल्ली के शंकर मार्केट से लेती हैं अपने सारे कपड़े

sara ali khan shopping inside

Image Courtesy : Instagram (@saraalikhan95)

सारा ने हमें बताया कि लोगों को लगता होगा कि मैं सैफ अली खान की बेटी हूं तो ख़ूब महंगे कपड़े पहनती होंगी, तो बता दूं कि ऐसा बिल्कुल नहीं है। जब तक अभिनेत्री नहीं बनी थीं और जब तक मुझे कहा नहीं गया कि ऐसे कपड़े पहनो, तब तक मैं यूं ही कुछ भी पहन लेती थी। अब मुझे स्टाइलिश कपड़े पहनने की सलाह दी जा रही है तो मैं पहन रही हूं वरना, मैं हज़ार रुपये से अधिक की शॉपिंग कभी नहीं करती। मेरी सारी शॉपिंग दिल्ली के शंकर मार्केट से होती है। हाल ही में हैदराबाद गयी थी तो मॉम के साथ मीना बाज़ार चली गयी थी। मुझे तो इस तरह की स्ट्रीट शॉपिंग में बहुत मज़ा आता है। मुझे ये नहीं समझ आता कि लोग कैसे अपने कपड़ों पर इतने पैसे ख़र्च कर देते हैं।

Read more : सारा अली खान के बारे में कुछ दिलचस्प बातें आप भी जान लें

मुझे स्टार की बेटी मत कहो, भले फ़क़ीर कहो

sara ali khan shopping inside

Image Courtesy : Instagram (@saraalikhan95)

सारा ने आगे कहा कि सोशल मीडिया पर लोग कहते हैं कि मैं कपड़े रिपीट करती हूं, तो हां करती हूं, मुझे कोई सेलेब स्टेटस नहीं चाहिए। मुझे लोग फ़क़ीर कहें और मानें तो अच्छा है। मैं भले ही सैफ़ अली ख़ान बेटी हूं लेकिन, खुद को नवाब कहलाना बिलकुल पसंद नहीं करती। मुझमें मां से यह गुण आये हैं। मां ने ही हमेशा सलाह दी है कि ज़रूरत मंदों की मदद करो, बेकार का दिखावा मत करो। सिर्फ़ दिखावे के लिए पैसे उड़ाने से अच्छा है कि किसी ग़रीब का पेट भर दो। दिमाग में यह बात लानी ही नहीं चाहिए कि कपड़ों से इंसान की पहचान होती है। मैं काम के लिए अभिनय कर रही हूं लेकिन, मैं इंसानियत को बरकरार रखने की हमेशा कोशिश करूंगी।

ये हैं सारा अली खान की हॉबीज

साथ ही सारा ने यह भी कहा कि उन्हें अलग-अलग शहर में जाना, लोगों से मिलना, बातें करना, छोटी-छोटी दुकानों में चले जाना, गलियां घूमना.... इस सब में काफी मज़ा आता है और ये सारी चीजें वो खूब एंजॉय भी करती हैं। सारा की फ़िल्म केदारनाथ 7 दिसंबर को रिलीज़ होगी जिसके बाद उनकी दूसरी फ़िल्म सिंबा 28 दिसंबर को रिलीज़ होने वाली है।

  • Anupriya Verma
  • Her Zindagi Editorial