Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    मैरी कॉम ने एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में जीता 5वां गोल्ड मेडल

    एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में मैरी कॉम ने भारत को दिलाई सुनहरी जीत। जीता 5वां स्वर्ण पदक। 
    author-profile
    • Gayatree Verma
    • Her Zindagi Editorial
    Published -08 Nov 2017, 15:23 ISTUpdated -21 Mar 2018, 11:02 IST
    Next
    Article
    Image Courtesy: ShutterstockMARY KOM ASIAN CHAMPIONSHIP main

    देश की स्टार महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम ने अपने करियर में एक ओर उपलब्धि हासिल कर ली है। 5 बार की विश्व चैंपियन व ओलंपिक पदक विजेता मैरी कॉम ने बुधवार को 48 किलोग्राम भार वर्ग में एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में बुधवार को गोल्ड मेडल जीता। फाइनल मुकाबले में मैरी कॉम ने उत्तरी कोरिया की बॉक्सर किम हयांग-मी को हराया। 

    सेमीफाइनल में हराया था जापानी बॉक्सर को

    बॉक्सर और वर्तमान राज्यसभा सांसद मैरी कॉम ने एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में जापानी बॉक्सर को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी। इन्होंने 48 किलो लाइट फ्लाइवेट वर्ग के सेमीफाइनल में जापान की सुबासा कोमुरा को 5-0 से हराया था। इसस पूरे टूर्नामेंट में मैरी कॉम जापानी बॉक्सर कोमुरा पर हावी रही थीं।  

    ये इनका है छठा पदक 

    लंदन ओलिंपिक ब्रॉन्ज मेडल जीतने के बाद ये मैरी कॉम का छठवां पदक है। क्वॉर्टरफाइनल में इन्होंने चीनी ताइपे की मेंग चिए पिन को हराकर अंतिम चार में जगह बनाई थी। मैरी कॉम ने अब तक इस प्रतियोगिता के पिछले चरणों में चार गोल्ड मेडल और एक सिल्वर मेडल जीता है।  

    एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में ये इनका 5 वां गोल्ड मेडल है। इससे पहले भी इन्होंने गोल्ड मेल ही जीते हैं। मैरी कॉम ने पिछले चार गोल्ड मेडल साल 2003, 2005, 2010 और 2012 में जीते हैं। साल 2008 में इन्होंने सिल्वर मेडल जीता था। मैरी कॉम अब तक इस बॉक्सिंग टूर्नामेंट में 51 किलो भार वर्ग में भाग लेती रही हैं, लेकिन इस बार इन्होंने 48 किलो भार वर्ग में भाग लिया। 

    ट्विटर में मिल रही बधाईयां

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी ट्विट कर एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने के लिए बधाईयां दी हैं। 

    यूज़र लिखता है कि "ये पहली बार नहीं है जब मेरी कॉम गोल्ड मेडल के साथ पोडियम पर खड़ी हुई हैं। ये यहां पर तब खड़ी हुईं थी जब उन्होंने ‘women’s game’ के stereotype क तोड़ा था और हिस्सा लिया था।"

    Read More: "महिलाओं के नाम पर रखें शराब का नाम, बढ़ जाएगी बिक्री"

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।