• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

Myths And Facts: सच नहीं हैं वेजाइना से जुड़ी ये 5 बातें

वेजाइना को लेकर बात करने से भले ही आप कतराती हों, लेकिन इससे जुड़े कुछ मिथकों के बारे में जानना भी जरूरी है। 
author-profile
Next
Article
 myths related to vagina you should not trust

वेजाइना को लेकर बहुत अलग-अलग तरह की बातें लोग सोचते हैं। यकीनन इसे एक टैबू माना जाता है और इसके बारे में बात करने से हमेशा लोग बचते हैं, लेकिन ऐसा क्यों है? वेजाइना हमारे शरीर का ही हिस्सा है और जिस तरह से स्किन की समस्याओं को हम खुलकर बता सकते हैं, अपने हेयर फॉल के लिए चिंता कर सकते हैं वैसे ही वेजाइनल समस्याओं के बारे में बात करना भी नॉर्मल है। कई बार महिलाएं झेंप के कारण इन चीज़ों के बारे में बात नहीं करती हैं और ऐसे में ये जरूरी है कि आपको इसके बारे में कुछ जानकारी हो। 

तो चलिए आज हम आपको वेजाइना से जुड़े कुछ मिथकों के बारे में बताएंगे। ये मिथक बताए हैं वर्ल्ड फेमस गायनेकोलॉजिस्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स की कॉलमनिस्ट डॉक्टर जेन गंथर ने अपनी किताब 'The Vagina Bible: The Vulva and the Vagina--separating the Myth from the Medicine' में। हमारी स्टोरी भी जेन की किताब पर ही आधारित है। 

इस किताब में वेजाइना को लेकर कई महत्वपूर्ण बातें लिखी गई हैं और कुछ मिथकों का भी जिक्र किया गया है। 

मिथक- कुछ खास तरह के फूड्स खाने से वेजाइना की स्मेल अच्छी आएगी

फैक्ट- वेजाइना की अपनी अलग स्मेल होती है और इसे लेकर जेन ने लिखा है कि ये बिल्कुल गलत है और साथ ही साथ ये एक अजीब फैक्ट को दर्शाता है कि लोग नॉर्मल हेल्दी वेजाइना को सही नहीं मानते हैं। जो भी फूड्स हम खाते हैं वो वेजाइनल बैक्टीरिया को बनाने, बढ़ाने या मारने में बिल्कुल भी सहायक नहीं होते हैं। 

फूड्स को लेकर कई स्टडीज भी की गई हैं, लेकिन उनका नतीजा किसी फैक्ट को साबित नहीं करता है। 

myths for the vaginal problems

इसे जरूर पढ़ें- इंटिमेट एरिया के बालों को इस तरह करें साफ, गायनेकोलॉजिस्ट का बताया सबसे सेफ तरीका

मिथक- सेक्स से जल्दी होता है लेबर

फैक्ट- इस किताब के मुताबिक ये बिल्कुल गलत धारणा है। कई महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स से बचती हैं भले ही उनका मन क्यों न कर रहा हो। ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें लगता है कि ये जल्दी लेबर पेन शुरू कर देगा और बच्चा समय से पहले आ जाएगा। पर ये भी एक मिथक ही है और इसका सच्चाई से कोई लेना-देना नहीं है। 

मिथक- वेजाइनल प्रोडक्ट्स के जरिए वेजाइना को साफ करने की जरूरत होती है

फैक्ट- ये सबसे कॉमन मिथक है जो कई एडवर्टाइजमेंट के जरिए और भी ज्यादा फैल रहा है। वेजाइना सेल्फ क्लीनिंग होती है और अलग से प्रोडक्ट्स डालकर उसे साफ करने की जरूरत नहीं होती है। वेजाइना फ्रेश और क्लीन स्मेल करे इसके लिए परफ्यूम्ड प्रोडक्ट्स का भी इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन ये सही नहीं है। ये प्रोडक्ट्स असल में वेजाइना के लिए सही नहीं होते हैं। डॉक्टर जेन के अनुसार आपकी वेजाइना की नेचुरल स्मेल हो सकती है और इसे गार्डन की तरह महकने की जरूरत नहीं है। 

myths do not belive for vaginal problems

मिथक- नेचुरल टैम्पोन और पैड्स आपके लिए बेहतर होते हैं 

फैक्ट- नेचुरल टैम्पोन और पैड्स वेजाइना के लिए बेहतर है इसे लेकर कोई ठोस सबूत नहीं है और नॉर्मल फेमिनिन हाइजीन प्रोडक्ट्स में भी ऐसे इंग्रीडिएंट्स नहीं होते हैं जो वेजाइना को नुकसान पहुंचाएं। हां, नेचुरल टैम्पोन और ऑर्गेनिक पैड्स प्रकृति के लिए बहुत अच्छे होते हैं और वो आसानी से डिस्पोज भी हो जाते हैं।  

smelly vagina myths

मिथक- ज्यादा सेक्स करने से वेजाइना बहुत फैल जाती है 

फैक्ट- वेजाइना को ऐसे समझिए कि किसी डिब्बे में ऑर्गेंजा साड़ी की तरह है जो एक छोटी स्पेस में पैक तो हो जाती है और फिर उसे खोला जाए तो वो फूलने लगती है। फिर दोबारा उसे फोल्ड कर डिब्बे में बंद किया जा सकता है। वेजाइना दोबारा अपनी पोजीशन में सिकुड़ जाती है और ये एक मिथक ही है कि वेजाइना बहुत फैल जाती है। इस मिथक पर यकीन करना सही नहीं है।  

इसे जरूर पढ़ें- अगर वेजाइना से हो रहा है इस तरह का डिस्चार्ज तो रहें सावधान 

Recommended Video

मिथक- प्रोबायोटिक्स रोजाना खाने से वेजाइनल इन्फेक्शन नहीं होता है 

फैक्ट- डॉक्टर जेन का कहना है कि प्रोबायोटिक सप्लीमेंट्स का मार्केट बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है और इनके बारे में कहा जाता है कि ये गुड टाइप बैक्टीरिया को बढ़ाते हैं। पर अगर आप नॉर्मली हेल्दी हैं तो ये प्रो-बायोटिक्स आपके लिए वेस्ट ही हैं। और वेजाइनल इन्फेक्शन कई तरह से हो सकता है इसलिए ये जरूरी नहीं है कि प्रोबायोटिक्स खाने से उसपर कोई असर पड़े। 

 

वेजाइना को लेकर इतनी सारी बातें जानने के बाद ये समझिए कि नॉर्मल हेल्दी वेजाइना स्मेल भी करती है, वो स्ट्रेच भी होती है और वो सेल्फ क्लीनिंग होती है, लेकिन फिर भी हाइजीन की जरूरत ज्यादा होती है। वेजाइनल हाइजीन को बिल्कुल नजरअंदाज न करें।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से। 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।