• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

सदियों पुराना है इस साड़ी का इतिहास, आप भी जानें बेहद रोचक बातें

साउथ की इस फेमस साड़ी के बारे में जाने कुछ ऐसी बातें, जो आपको पहले नहीं जानते होंगे। 
author-profile
Published -08 Jul 2022, 18:12 ISTUpdated -09 Jul 2022, 08:35 IST
Next
Article
Image Credit: Amazon, Subhamgrandsouth indian saree looks pic

भारत एक समृद्ध देश है और यह समृद्धि भारत को उसकी संस्कृति और कलाओं से प्राप्त हुई है। भारत में ढेरों कलाएं हैं, जिनका एक साथ जिक्र करना बेहद मुश्किल है। कुछ कलाएं आपको कैनवास पर नजर आएंगी तो कुछ साड़ियों में। 

कुछ कलाएं तो ऐसी भी हैं, जो सदियों पुरानी हैं और उनसे कई परंपराएं भी जुड़ी हुई हैं। आज हम ऐसी ही एक साड़ी के बारे में आपको बताएंगे, जिसका जुड़ाव फैशन और धर्म दोनों से है।  

दरअसल, हम बात करेंगे वेंकटगिरी साड़ियों के बारे में। वेंकटगिरी साड़ी आंध्र प्रदेश के वेंकटगिरी में काफी फेमस है और यह वर्ष 1700 से पहले की है। आज हम आपको इस साड़ी से जुड़ी कुछ रोचक बातें बताएंगे। 

इसे जरूर पढ़ें- सिंपल साड़ी के ये डिजाइन्स आप पर लगेंगे बेहद खूबसूरत, इन एक्ट्रेस से लें इंस्पिरेशन

venkatagiri saree

वेंकटगिरी साड़ी का इतिहास 

वेंकटगिरी साड़ी जरी वर्क वाली कॉटन की साड़ी होती हैं, जो जामदानी स्टाइल बुनाई के लिए प्रसिद्ध हैं। यह साड़ियां  वेंकटगिरी में ही बनाई जाती हैं। यह वही नगरी है, जो श्री कृष्ण के अवतार श्रीनिवास और श्री लक्ष्मी का अवतार कही जाने वाली पद्मावती की प्रेम गाथा का प्रतीक रही है। 

इस नगर में यह साड़ियां  सदियों से बनाई जा रही हैं। साउथ इंडिया में बनने वाली साड़ी की ढेरों वैरायटी में से यह एक हैं। बेस्‍ट बात तो यह है कि इन्‍हें दक्षिण भारत के मौसम के अनुसार तैयार किया गया था। आज भी इनकी बनावट पारंपरिक है। 

बताया जाता है कि पहले इन साड़ियों को नगर के राज और उसके परिवार के लिए विशेषतौर पर बनाया जाता था। इस साड़ी को बनाने वाले कारीगरों को मुंह मांगे पैसे दिए जाते थे। वक्‍त बदला और यह साड़ी आम लोगों तक भी पहुंच गई। आज यह साड़ी केवल नगर वासियों के बीच ही नहीं बल्कि देशभर में मशहूर है।  

इसे जरूर पढ़ें- साड़ी के ये डिजाइंस निखार देंगी आपकी पर्सनैलिटी

venkatagiri saree history and significance

क्‍या है वेंकटगिरी साड़ियों की खासियत? 

वेंकटगिरी साड़ी कॉटन की होती है और उसमें जरी का महीन काम होता है। अब वक्त के साथ यह साड़ी सिल्क फैब्रिक में भी आने लगी है और इसे वेंकटगिरी पट्टू सिल्क साड़ी के नाम से जाना जाता है। 

इसमें आपको लगभग सभी पॉपुलर रंग मिल जाएंगे। अगर आप डिजाइन की बात करें तो अब इसमें तोता, कलियां, फूल और केरी आदि की डिजाइन भी नजर आती हैं। हालांकि,  पहले यह साड़ियां केवल जरी के चेक वर्क में ही आती थीं।  

कहां मिलेगी ये साड़ी? 

साउथ इंडिया के अलावा आपको यह साड़ी ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल या फिर किसी अच्‍छे साउथ इंडियन हैंडलूम शॉप में मिल जाएगी। यह साड़ी 2000 रुपए से लेकर अधिक कीमत तक आपको मिल जाएगी। 

 

उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करें, इसी तरह और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।  

 Image Credit: Amazon, Subhamgrand
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।