शाम के समय जब हमें हल्की भूख लगती है तो सबसे पहले स्नैकिंग का मन करता है। यूं तो स्नैकिंग के लिए हमारे पास कई ऑप्शन मौजूद हैं। लेकिन अक्सर लोग मखाने या पॉपकॉर्न को अधिक प्राथमिकता देते हैं, क्योंकि इन्हें बनाने में समय नष्ट नहीं करना पड़ता और यह दोनों ही हमें लम्बे समय तक फुलर होने का अहसास कराते हैं। इतना ही नहीं, अलग-अलग सीजनिंग के साथ यह बेहतरीन टेस्ट देते हैं। इसलिए इन दोनों फूड आइटम्स को स्नैकिंग के लिए काफी अच्छा माना जाता है।

लेकिन अगर आपको इन दोनों से किसी एक का चयन करना हो तो आप किसका चयन करना चाहेंगी। हो गईं ना कंफ्यूज। चूंकि यह दोनों ही हेल्दी व टेस्टी फूड आइटम है तो ऐसे में किसी एक को प्राथमिकता देना शायद आपके लिए मुश्किल होता हो। अक्सर लोग अपने टेस्ट के अनुसार किसी एक को चुनते हैं, हालांकि अगर बात आपके स्वास्थ्य की हो तो यह बेहद जरूरी है कि आप इन दोनों के बीच के न्यूट्रिशनल वैल्यू के अंतर को समझें। जब आप ऐसा कर पाएंगी तो यकीनन आपके लिए किसी एक को चुनना अधिक आसान हो जाएगा। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको इन दोनों के बीच के अंतर के बारे में बता रहे हैं-

पॉपकॉर्न के फायदे व नुकसान

popcorn benefits for health

पॉपकॉर्न एक होल ग्रेन फूड है और इसलिए इसमें फाइबर कंटेंट अधिक होता है। इसके अलावा, इसके सेवन से आपको विटामिन बी, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, जिंक, कॉपर, मैंगनीज आदि मिलता है। वहीं अगर आप दिन में 100 ग्राम पॉपकॉर्न का सेवन करते हैं तो इससे आपको कुल 387 कैलोरी, 13 ग्राम प्रोटीन, 14 ग्राम फाइबर और 5 ग्राम फैट मिलता है। हालांकि, अगर आप बाजार में मिलने वाले पैकेज्ड बटर पॉपकॉर्न या कैरेमलाइज्ड पॉपकॉर्न खाती हैं तो इससे कैलोरी व फैट की मात्रा में और भी ज्यादा इजाफा होता है। इसके अलावा, पैकेज्ड पॉपकॉर्न में सोडियम की मात्रा भी अधिक होती है जो रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा सकती है।

मखाना के फायदे व नुकसान

makhana for health

वहीं अगर मखाने के फायदों की बात की जाए तो उसमें कैलोरी काउंट पॉपकॉर्न की अपेक्षा कम होता है। इसके अलावा इसमें कोलेस्ट्रॉल, वसा और सोडियम भी कम होता है। जिसके कारण इसे स्नैकिंग के लिए एक अच्छा ऑप्शन माना जाता है। मधुमेह रोगियों से लेकर उच्च रक्तचाप, हृदय रोग और मोटापे से पीड़ित लोगों के लिए मखाने का सेवन करना बेहद फायदेमंद साबित होता है। कैल्शियम की मात्रा अच्छी होने के कारण यह आपके दांतों व हड्डियों के लिए भी बेहद लाभकारी है। 100 ग्राम मखाने के सेवन से आपको 360 कैलोरी, 19.4 ग्राम प्रोटीन और 29 ग्राम फाइबर मिलता है।

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: क्या आप जानती हैं मूंग दाल के स्प्राउट्स खाने के ये फायदे

किसका सेवन है अधिक फायदेमंद

makhana or pop corn

यूं तो दोनों ही इंग्रीडिएंट कुछ हेल्थ बेनिफिट्स के साथ आते हैं। जैसे दोनों ही फाइबर के अच्छे स्त्रोत हैं और इससे आप अपनी दैनिक प्रोटीन की जरूरतों को भी कुछ हद तक पूरा कर सकते हैं। लेकिन अगर एक बेहतर विकल्प की बात की जाए तो यकीनन मखाना पॉपकॉर्न की अपेक्षा एक बेहतर ऑप्शन साबित हो सकता है। क्योंकि इसमें कैलोरी कंटेट पॉपकॉर्न से कम होता है, जबकि इससे आपको फाइबर व प्रोटीन अपेक्षाकृत अधिक मिलता है। जब आप मखाने को अपनी डाइट का हिस्सा बनाती है तो इससे आपको पॉपकॉर्न की तुलना में दोगुना फाइबर मिलता है, जो यकीनन आपके लिए बेहद लाभकारी है।

इसे जरूर पढ़ें:गर्मियों में बहुत ज्‍यादा खीरा खाने से हो सकती हैं ये 7 समस्‍याएं

Recommended Video

इन बातों का रखें ध्यान

remember these things

जब आप मखाने को अपनी स्नैकिंग का हिस्सा बना रही हैं तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। मसलन, आप जब इन्हें खा रही हैं तो बहुत अधिक बटर आदि का इस्तेमाल ना करें। आप चाहें तो थोड़े घी में इन्हें रोस्ट कर सकती हैं। लेकिन अतिरिक्त बटर या नमक डालने से बचें।

वहीं अगर आपने किसी दिन पॉपकॉर्न को इवनिंग स्नैक्स में खाने का मन बनाया है तो ऐसे में आप पैकेज्ड पॉपकॉर्न को खरीदकर ना खाएं और ना ही घर पर पैकेज्ड पॉपकॉर्न को बनाकर तैयार करें। इसकी जगह आप होल ग्रेन लेकर आएं और उसे कुक करें।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।