उम्र के बढ़ने के साथ शरीर में कई तरह के बदलाव तो होते ही हैं उम्र का असर चेहरे की त्वचा में भी दिखाई देने लगते है। कहा जाता है कि बढ़ती उम्र में  आपकी इच्छाएं व मान्यताएं तो बदल ही जाती हैं चेहरे के आकर्षण को बनाए रखने के लिए उम्र के हिसाब से स्किन केयर के तरीकों का भी बदल जाना जरूरी होता है। जैसे ही उम्र 40 के पार पहुंचती है एजिंग के संकेत चेहरे की रंगत छीन लेते हैं। 

कभी झुर्रियां, तो कभी फाइन लाइन्स से चेहरा निस्तेज दिखने लगता है। इसलिए खासतौर पर इस उम्र में अपनी त्वचा का विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। जिंदगी के अलग-अलग पड़ावों पर, कैसे करें आप अपनी स्किन की केयर, आइए इस लेख में जानते हैं सुप्रसिद्ध कॉस्मेटोलॉजिस्ट ऐस्थिटीशियन व एल्पस ब्यूटी क्लीनिक एंड एकेडमी की फाउंडर डॉयरेक्टर, भारती तनेजा जी से।

40 की उम्र में स्किन केयर 

फेशियल के तरीकों में बदलाव 

facial over s

भारती तनेजा जी बताती हैं कि उम्र की इस दहलीज़ पर स्किन केयर के तरीकों का बदल देना थोड़ा जरूरी है। महीने में एक बार नार्मल फेशियल की बजाय थोड़ा एडवांस जैसे ए.एच.ए यानि एल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड फेशियल करवाएं। ए.एच.ए फलों से निकाले गए तत्व होते हैं, जो त्वचा में कोलाजन को तेजी से बनाते हैं साथ ही त्वचा पर झुर्रियां पड़ने से बचाते हैं और आंखों के नीचे का कालापन दूर करने में भी मदद करते हैं।

कोलेजन मास्क है जरूरी 

colegen mask over

40 की उम्र पार होते -होते त्वचा ढीली होकर लटकने लगती है। इसलिए इस उम्र में 2-3 महीने में एक बार स्किन की इलास्टिसिटी और फ्लेक्सिबिलिटी को बनाए रखने के लिए कोलेजन मास्क जरूर लगवाएं। कोलेजन मास्क त्वचा में कसाव लाता है और उसे साइन ऑफ एजिंग के इफेक्ट से भी बचाता है। इसके अलावा रात में चेहरा धोने के बाद ए.एच.ए क्रीम का इस्तेमाल जरूर कीजिए। ये त्वचा को ग्लोइंग बनाती है। 

इसे जरूर पढ़ें:AM-PM रूटीन को फॉलो करके त्‍वचा को ग्‍लोइंग बनाएं

40 से 50 की उम्र में स्किन केयर 

कॉस्मेटिक क्लीनिक से लें ब्यूटी ट्रीटमेंट्स 

beauty treatment over

इस उम्र तक आते-आते स्त्रियों में मेनोपॉज़ की समस्या शुरू हो जाती है, ऐसे में पिंग्मेंटेशन, डार्क स्पॉट्स जैसी स्किन प्रॉब्लम्स का होना आम हो जाता है। इन सभी प्रॉब्लम से बचने के लिए किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करें और जरूरत पड़ने पर दवाइयों का सेवन करें। इसके अलावा कॉस्मेटिक क्लीनिक से अपनी प्रॉब्लम के अनुसार ब्यूटी ट्रीटमेंट जरूर लें। इस उम्र के दौरान ट्रीटमेंट को करवाने के बाद त्वचा पर लगाई जाने वाली दवाएं ज्यादा असरदार होती हैं। 

त्वचा के अनुसार फेशियल है जरूरी 

40 से 50 साल तक की उम्र तक त्वचा में कई बदलाव नज़र आने लगते हैं जैसे त्वचा का लटकना, त्वचा पर झाइयां होना और एजिंग के निशान। इसलिए इस उम्र में लगभग 20 से 25 दिनों के अंतराल पर अपनी स्किन के मुताबिक फेशियल जरूर कराएं। स्किन टाइप के हिसाब से फेशियल कराएं जिससे त्वचा पर उम्र का असर न दिखे। 

bhaarti taneja quotes

मॉइस्चराइज़र बेस्ड ब्यूटी प्रोडक्ट का करें इस्तेमाल 

40 साल के बाद त्वचा में नमी की कमी होने लगती है इसलिए इस उम्र में मॉइस्चराइज़र बेस्ड ब्यूटी व स्किन केयर प्रोडक्टस का ही इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसा करने से त्वचा में नमी बनी रहती है और त्वचा का ग्लो भी कायम रहता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: 30 की उम्र के बाद खोने लगी है बालों की खूबसूरती तो ऐसे करें देखभाल

Recommended Video

घरेलू नुस्खे हैं कारगर 

भारती तनेजा जी बताती हैं कि घरेलू उपाय के तौर पर आप कुछ घरेलू सौंदर्य सामग्रियों का इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए चिरौंजी को कुछ देर दूध में भिगोकर रखें और फिर दरदरा पीस लें। इस पेस्ट में आधा चम्मच मुल्तानी मिट्टी और आधा चम्मच चंदन पाउडर मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट तक लगाए रखने के बाद इसे धो दें। यह एक अच्छा नरिशिंग पैक है जिससे आपकी त्वचा में चमक एवं ताजगी आ जाएगी।

उपर्युक्त सभी स्किन केयर टिप्स आजमाकर आप 40 की उम्र के पार भी अपनी त्वचा का ख्याल रख सकती हैं और त्वचा को ग्लोइंग बनाए रख सकती हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik