आप सभी चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने के लिए कई तरह की सामग्रियों का इस्तेमाल करती हैं। घरेलू सामग्रियों से लेकर महंगे उत्पादों तक न जाने कितनी सामग्रियां सौंदर्य को बढ़ाने के किये इस्तेमाल में लाई जाती हैं। जब भी बात आती है खूबसूरती की, खासतौर पर लड़कियां कई नुस्खे आजमाती हैं। ऐसे ही नुस्खों में से एक है त्वचा पर दही का इस्तेमाल करना। 

दही को सौंदर्य बढ़ाने के लिए सबसे अच्छी सामग्रियों में से एक माना जाता है और यह भी कहा जाता है कि इसके इस्तेमाल से सौंदर्य को निखारा जा सकता है। न जाने कितने ही तरह के घरेलू फेस पैक्स में मुख्य सामग्री के रूप में दही का इस्तेमाल होता है। यह सच है कि दही कई तरह से हमारी त्वचा के लिए फायदेमंद है और इसका इस्तेमाल त्वचा में ग्लो ला सकता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि दही का चेहरे पर ज्यादा इस्तेमाल आपकी त्वचा को नुकसान भी पहुंचा सकता है। जी हां दही का नियमित चेहरे पर इस्तेमाल आपकी कुछ त्वचा संबंधी समस्याओं का कारण भी बन सकता है। आइए ग्रेटर नोएडा के ब्यूटी ज़ोन सलून की ब्यूटी एक्सपर्ट, मोनिका राणा से जानें कैसे दही के ज्यादा इस्तेमाल से त्वचा को नुकसान हो सकता है। 

हो सकता है एक्ने का कारण 

acne applying curd

कई बार ऑयली त्वचा में भी लोग ज्यादा दही का इस्तेमाल करते हैं। दही का इस्तेमाल वैसे नुकसानदेह नहीं है, लेकिन जब ऑयली स्किन वाले इसे रोज़ अपनी त्वचा पर इस्तेमाल करते हैं तब त्वचा और ज्यादा ऑयली हो जाती है और ऑयली स्किन मुहांसों का कारण बनती है। दरअसल गर्मी और मानसून के मौसम में त्वचा चिपचिपी हो जाती है और ज्यादा पसीना आता है। दही त्वचा के पोर्स को ओपन करके मुहांसों का कारण बन सकता है। खासतौर पर ये समस्या उन लोगों को ज्यादा होती है जिनकी त्वचा बहुत ज्यादा ऑयली होती है। हालांकि ये रूखी त्वचा के लिए ज्यादा नुक्सानदेह नहीं होता है। 

स्किन एलर्जी का कारण 

skin allergy curd

दही में प्रोटीन, लैक्टोज, कैल्शियम और विटामिन की अच्छी मात्रा होती है। लेकिन दही का सेवन रात के समय कभी भी नहीं करना चाहिए । दही का सेवन रात के समय करने से त्वचा सम्बन्धी कई बीमारियां हो सकती हैं। इसके अलावा कई लोगों की त्वचा बहुत ज्यादा संवेदनशील होती है और उन्हें बैक्टीरिया से बनने वाली त्वचा से एलर्जी हो सकती है। चूंकि दही लैक्टो बसीलस नाम के बैक्टीरिया से जमता है और इसका त्वचा पर नियमित इस्तेमाल स्किन एलर्जी का कारण बन सकता है। जिससे त्वचा में रैशेज़ या दाने निकलने लगते हैं। इसलिए यदि आप भी चेहरे पर दही का इस्तेमाल करती हैं और इसकी वजह से स्किन में कोई समस्या देखे तो उसका इस्तेमाल तुरंत बंद कर दें। 

Recommended Video

त्वचा के चिपचिपेपन का कारण 

sticky skin curd

दही में ऑयल कंटेंट भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं और खासतौर पर मानसून में जब त्वचा में ज्यादा नमी हो जाती है तब दही और ज्यादा नमी का कारण बनता है। जब दही को त्वचा में इस्तेमाल किया जाता है तब ये चिपचिपी त्वचा का मुख्य कारण बनता है। यही नहीं ये पसीने के साथ मिक्स होकर एक अजीब सी गंध पैदा करता है जिससे त्वचा चिपचिपी और बदबूरदार हो जाती है। 

इसे जरूर पढ़ें:Personal Experience: त्वचा पर मुल्तानी मिट्टी का ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है नुकसानदेह, जानें कैसे

इस तरह यदि आप अपनी खूबसूरती बढ़ाने के लिए चेहरे पर रोज़ दही लगाती हैं, तो इसका इस्तेमाल रोज़ करने के बजाय हफ्ते में एक या दो दिन करें और यदि आपको कोई भी त्वचा सम्बन्धी समस्या है तो अपनी त्वचा की जानकारी देते हुए विशेषज्ञ से दही के इस्तेमाल के बारे में बात जरूर करें। यदि आप इसका इस्तेमाल करती भी हैं, तो अपनी त्वचा के प्रकार को ध्यान में रखकर इसमें कुछ अन्य सामाग्रियां मिलाकर इसका इस्तेमाल करें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik