चेहरे पर मेकअप लंबे समय तक दिखे और आपका फाउंडेशन स्मूथ तरीके से लगे, इसके लिए फेस प्राइमर लगाना बहुत जरूरी है। इसी तरह से आपके लिए लिप प्राइमर लगाना भी जरूरी है। ऐसा क्यों? क्योंकि इससे आपकी लिपस्टिक लंबे समय तक चलती है। महिलाओं की अक्सर यही एक दिक्कत होती है कि उनकी लिपस्टिक शाम ढलते-ढलते गायब हो जाती है।

अगर आप चाहती हैं कि ऐसा न हो तो लिप प्राइमर एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। आपने शायद लिप प्राइमर के बारे में सुना होगा, लेकिन क्या वह सच में इतना जरूरी है? यही बात हम यहां जानेंगे। आर्टिकल शुरू करने से पहले हम आपको बता दें कि इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे-

  • लिप प्राइमर क्या है?
  • लिप प्राइमर क्यों जरूरी है?
  • लिप प्राइमर कैसे लगाएं?
  • लिप प्राइमर के फायदे क्या हैं?
  • लिप प्राइमर कैसे चुनें?

लिप प्राइमर क्या है?

know what is lip primer

लिप प्राइमर एक कॉस्मेटिक प्रोडक्ट है जिसे लिपस्टिक, लिप लाइनर या लिप ग्लॉस से पहले लगाया जाता है। इसे ऐसे समझें कि यह आपके होंठों के लिए एक तरह का बेस फाउंडेशन ही है, जो आपके लिप कलर को लंबे समय तक टिके रहने में मदद करता है। लिप प्राइमर कई फॉर्म्स में आते हैं, इनमें प्राइमर पेंसिल, क्रेऑन, लिपस्टिक शामिल हैं।

लिप प्राइमर क्यों जरूरी है?

why lip primer is necessary

लिप प्राइमर, फेस प्राइमर की तरह, होंठों पर छोटी-छोटी रेखाओं को भरता है, जिससे आपकी लिपस्टिक लगाने के लिए अधिक स्मूथ सरफेस बनती है। यह आपके होंठों को नुकसान से बचाता है और उन्हें मुलायम बनाता है।

लिप प्राइमर कैसे लगाएं?

how to apply lip primer correctly

  • लिप प्राइमर लगाने से पहले अपने होंठों को अच्छी तरह से एक्सफोलिएट करना जरूरी है। यह डेड स्किन सेल बिल्ड अप को हटाने में मदद करता है, जिससे आपके होंठ स्मूथ होंगे और लिप प्राइमर के बाद कलर अच्छे से लग सकेगा। 
  • एक्सफोलिएशन के बाद मॉइश्चराइजिंग लिप बाम लगाएं, ताकि आपके होंठ हाइड्रेटेड रहें।
  • इसके बाद अपने होंठों में लिप प्राइमर लगाएं। लिपस्टिक लगाने के लिए प्राइमर की एक थिन लेयर अपने होंठों पर लगाएं।
  • इसके बाद लिप लाइनर होंठों को लाइन करने के बाद, अपना फेवरेट लिप कलर अप्लाई करें। 

लिप प्राइमर के फायदे क्या हैं?

benefits of lip primer

  • इससे बिना स्मज और फेड हुए आपकी लिपस्टिक या लिप कलर लंबे समय तक चलता है। 
  • अगर शाम होते-होते आपकी लिपस्टिक फैलने लगती है, तो लिप प्राइमर से ऐसा होने से रोका जा सकता है। इससे आपकी लिपस्टिक होंठों के बाहर नहीं फैलेगी।
  • होंठों के आसपास क्रीज बन जाती है या फाइन लाइन्स वहां भी परेशान करती है? लिप प्राइमर फाइन लाइन्स और क्रीज को फिल कर देता है।
  • होंठों पर ड्राई पैचेज बन जाते हैं या चैप्ड नजर आने लगते हैं। लिप प्राइमर उस परेशानी को भी कम करता है और आपको एक स्मूथ बेस मिलता है।

लिप प्राइमर कैसे चुनें ?

know how to choose lip primer

  • यह ध्यान रखें कि आपके लिप प्राइमर में क्रीमी टेक्सचर हो। लिप प्राइमर का काम आपके होंठों के लिए एक स्मूद बेस बनाना है, इसलिए उसका क्रीमी टेक्सचर आपकी इसमें मदद करेगा।
  • ऐसा लिप प्राइमर चुनें जो धूप से सुरक्षा प्रदान करता हो। एसपीएफ 15 आपके होंठों को यूवीबी किरणों से बचाएगा।
  • मैट लिपस्टिक बहुत ड्राई हो सकती है। आपके लिप प्राइमर फॉर्मूले में बी वैक्स और कैस्टर ऑयल (कैस्टर ऑयल से खूबसूरत बानएं त्‍वचा और बाल) जैसे तत्व होने चाहिए, जो आपके होंठों को मुलायम बनाते हैं।
  • हमेशा ट्रांसपेरेंट लिप प्राइमर चुनें या ऐसा प्राइमर चुनें जो आपके होंठों के नेचुरल रंग से मैच करता हो।
  • एक मल्टीपरपस प्राइमर खरीदें, जो आप होंठों के साथ-साथ आंखों के लिए भी उपयोग में ला सकें।

Recommended Video

हमें उम्मीद है इस लेख से आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि लिप प्राइमर क्यों जरूरी है। लिपस्टिक दिन भर टिके रहे इसके लिए ही नहीं, और कई वजहों से भी इसे इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि यह पूरी तरह से आपके ऊपर निर्भर करता है कि आपको इसे लगाना है या नहीं।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे लाइक करें और अपने दोस्तों तक इसे पहुंचाएं। हम ब्यूटी से जुड़े ऐसे लेख आपके लिए लाते रहेंगे और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

Image Credit: freepik, amazon & beautybridge