सिर पर डैंड्रफ बड़ा ही इरिटेटिंग होता है। स्कैल्प में खुजली और जलन के अलावा अगर डैंड्रफ सिर के ऊपर दिखने लगे तो बड़ी शर्मिंदगी झेलनी पड़ती है। आप सारी कोशिशें करती हैं कि इससे छुटकारा मिले, लेकिन बुरा तब लगता है जब घरेलू नुस्खे भी डैंड्रफ के आगे फेल हो जाते हैं। इसके पीछे का एक कारण यह है कि आप गलत तरीके अपना रही हैं। हो सकता है आपको वेट डैंड्रफ हो, मगर आप ड्राई डैंड्रफ वाले नुस्खों से काम चला रही हों। अब आप सोच रही होंगी कि यह वेट डैंड्रफ भला क्या बला है? आइए जानें जानी-मानी डर्माटोलॉजिस्ट डॉ. दीपाली भारद्वाज से कि यह वेट डैंड्रफ आखिर है क्या?

क्या है वेट डैंड्रफ

sebum

डॉ. दीपाली भारद्वाज बताती हैं कि आपके स्कैल्प के नीचे sebaceous gland होती है, जो नैचुरल ऑयल सीबम प्रोड्यूस करने का प्राइमरी फंक्शन करती है। यह सीबम आपके बालों और स्कैल्प को मॉइश्चराइज्ड रखता है और उन्हें रूखा होने से बचाता है। फ्रिजी हेयर को रोकने का काम भी इसके द्वारा होता है। और यह ग्रे हेयर की रोकथाम भी करता है। असल में समस्या तब होती है, जब यह ग्लैंड बहुत ज्यादा क्वांटिटी में सीबम प्रोड्यूस करती है। ज्यादा सीबम, आपके स्कैल्प पर जमा होना शुरू होता है और उसे चिपचिपा बना देता है। यह आपके सिर में गंदगी पैदा होने लगती है, जिसके कारण डैंड्रफ होता है। यह सीबम जिस तरह आपके स्कैल्प पर एक स्टिकी लेयर बना देता है, उसे ही वेट या फिर ऑयली डैंड्रफ कहा जाता है। जिन लोगों को स्कैल्प में ज्यादा पसीना आता है और स्ट्रेस होता है, जो एंग्जायटी से जूझ रहे हैं या इसोमनिया के शिकार हैं, उन्हें डैंड्रफ की समस्या अक्सर रहती है।

क्या हैं इसके कारण

fungus on scalp

फंगस होना- Malassezia furfur, एक यीस्ट फंगस होता है, जिसके कारण वेट डैंड्रफ हो सकता है। यह सिर की त्वचा को बुरी तरह से प्रभावित करता है। अक्सर गर्मियों में स्कैल्प पर अधिक पसीना होने लगता है। इसी वजह से यह फंगस सिऱ की त्वचा पर होने लगता और इससे डैंड्रफ की समस्या उत्पन्न होती है।

इसे भी पढ़ें : Hair Care Tips: बालों को कमजोर और बेजान बनाने वाली इन 5 गलतियों से बचें

बालों की सही देखभाल न करना- बालों की सही तरह से देखभाल न करने से भी ऐसा हो सकता है। उनकी सही तरीके से सफाई न हो, तो भी स्कैल्प गंदा और चिपचिपा रहता है। इससे भी फंगस के विकास में बढ़ावा मिल सकता है, जो डैंड्रफ का एक अन्य कारण है।

सही खानपान न होना- तैलीय व्यंजनों का सेवन कम करना चाहिए। खानपान का सही न होना भी आपकी वेट डैंड्रफ की समस्या को बढ़ा सकता है। ज्यादा तला भुना खाना आपके स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक है। यह आपके सिर की त्वचा के लिए भी नुकसानदायक है। ऐसा खानपान आपकी ग्लैंड को अधिक सीबम प्रोड्यूस करने के लिए स्टीमुलेट कर सकता है, जिससे डैंड्रफ की समस्या बढ़ सकती है।

इसे भी पढ़ें :Expert Hair Care Tips: महिलाओं में बढ़ रही है हेयर फॉल की समस्या, बचाव के ये 8 टिप्‍स अपनाएं

लेकिन अगर इस समस्या की अभी शुरुआत ही आपको हो रही है, तो आपको ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है और इसे आप कुछ घरेलू नुस्खों से दूर भी कर सकती हैं। आइए जानें वेट डैंड्रफ को दूर करने के लिए कुछ खास होम रेमेडीज।

dermatologist quote

नींबू का रस और सफेद सिरका

lemon and vinegar

नींबू में एसिडिक क्वालिटीज होती हैं, जो स्कैल्प को डीप क्लीन करने में मदद करता है। इसमें मौजूद अन्य गुण हेयर फॉलिसिल को मजबूत करते हैं। आप एक चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच सफेद सिरके को मिक्स कर, कॉटन बॉल से स्कैल्प पर अच्छी तरह लगाएं। 20 मिनट रखने के बाद, किसी अच्छे एंटी-डैंड्रफ शैंपू से सिर धो लें। अगर डैंड्रफ की समस्या गंभीर है, तो आप इसे रातभर सिर पर लगाकर अलगे दिन सिर धो सकती हैं।

 

बेकिंग सोडा

baking soda for scalp

इसकी एंटीफंगल और एंटी-सेप्टिक प्रॉपर्टीज आपकी सिर की त्वचा में होने वाले फंगस से छुटकारा दिला सकती है। इसके लिए नहाने से 15-20 मिनट पहले अपने सिर की त्वचा में बेकिंक सोडा पाउडर लगाकर छोड़ दें। फिर हल्क गुनगुने पानी से सिर धो लें। आप जल्दी ही इसके अच्छे परिणाम देख सकेंगी।

Recommended Video

मेथी के बीच

methi for scalp

मेथी की बीज बालों के विकास के लिए बहुत अच्छे होते हैं। यह डैंड्रफ के लिए भी बड़ी कारगार है। मेथी के बीजों के अलावा, वेट डैंड्रफ की समस्या दूर करने के लिए मेथी के पत्तों का उपयोग भी किया जा सकता है। यह फंगल संक्रमण को कम करने में मदद करती है। मेथी के बीजों को रात भर पानी में भिगोकर रखें। सुबह इसका पेस्ट बनाकर अपने स्कैल्प और बालों पर अच्छी तरह लगा लें। 20 मिनट बालों पर छोड़कर गुनगुने पानी से सिर धो लें।

एलोवेरा जेल

aloevera for scalp

कई त्वचा संबंधी समस्याओं का रामबाण इलाज एलोवेरा है। एलोवेरा में एंटी-डैंड्रफ गुण होते हैं, जो रूसी दूर करने में मदद करता है। एलोवेरा जेल को अच्छी तरह अपने स्कैल्प पर लगाकर लगभग 15 मिनट तक मसाज कीजिए। फिर इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दीजिए। उसके बाद माइल्ड शैंपू से सिर धो लीजिए।

Cetrimide सॉल्यूशन

यह एक एंटीसेप्सिटक एजेंट है, जिसमें कई एंटीफंगल, एंटीबैक्टेरियल और एंटीमाइक्रोबायल प्रोपर्टीज होती हैं। यह सैवलॉन में पाया जाता है। आप इस सॉल्यूशन का एक चम्मच और पांच चम्मच पानी को अच्छी तरह मिक्स कीजिए और अपने स्कैल्प पर लगाकर थोड़ी देर छोड़ दीजिए। फिर अपने सिर को अच्छी तरह धो लीजिए। ध्यान रखें कि इस सॉल्यूशन को 30 साल से ऊपर के लोग ही लगाएं।

डॉ. भारद्वाज सलाह देती हैं कि अगर डैंड्रफ की समस्या है, तो तेल लगाना अवोइड करें। अपने स्कैल्प को साफ रखें। ज्यादा पसीना होने से फंगस बढ़ेगा और डैंड्रफ की समस्या गंभीर हो सकती है। इससे बाल झड़ने की समस्या भी उत्पन्न होती है। 

आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

 

Image credit : freepik images