कई बार ऐसा होता है कि शरीर के किस भी भाग में अचानक से बड़ा सा दाना निकल आता है। यह गांठदार होने के साथ-साथ बेहद दर्दनाक भी होता है। दरअसल, ऐसा अचानक उस भाग के बाल के टूट जानें के कारण होता है। अमूमन लोगो को भ्रम होता है कि यह केवल पुरुषों के साथ होता है मगर, यह गलत है। महिलाओं को भी इस समस्या का जूझना पड़ता है खासतौर पर जब वह वैक्सिंग करवाती हैं। अमूमन हाथ, पैर, पीठ और बिकिनी वैक्स के बाद बलतोड़ होने की संभावना होती है। बालों का वैक्स के साथ तेजी से खिंचना या नुच जाने के कारण उस भाग में हेयर फॉलिकल पर बड़ा सा गांठदार दाना हो जाता है। यह लाल रंग का होता है। किसी-किसी के दाने में पस भी पड़ जाता है और यह 4-5 दिन बहुत ज्यादा परेशान करता है। इसमें जो दर्द होता है वह सहन करना बहुत ही मुश्किल होता है। अगर ऐसा कभी आपके साथ हो जाए तो आपको घर पर ही इससे निजात दिलाने वाले आसान घरेलू नुस्खों को आजमाना चाहिए। 

इसे जरूर पढ़ें:Skin Care Tips: त्वचा के हर रोग को दूर कर देगा यह तेल

what causes boils

टी ट्री ऑयल 

बालतोड़ एक तरह का संक्रमण होता है। इस संक्रमण को ठीक करने के लिए टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह तेल एंटीसेप्टिक व एंटीबैक्टीरियल होता है। टी ट्री तेल को कभी भी त्वचा पर डायरेक्ट न लगाएं इसे हमेशा पहले किसी तेल में मिक्स कर लें और फिर लगाएं। 

सामग्री 

  • 7 बूंदें टी ट्री ऑयल 
  • ½ कप विच हेजल 
  • 1 कॉटन का कपड़ा 

विधि 

टी ट्री ऑयल को विच हेजल के साथ मिक्स करें। अब कॉटन के कपड़े को इस मिश्रण में डिप करें और जिस जगह पर आपके बालतोड़ हुआ है वहां पर लगाएं। अगर आप रोज दिन में 3-4 बार ऐसा करती हैं तो यह 4-5 दिन में सूख जाएगा। इससे आपको दर्द भी कम होगा। 

इसे जरूर पढ़ें:Home Remedies: ये 5 घरेलू उपचार दूर करेंगे आपके माथे की झुर्रियां

how to prevent boils

हल्दी का लेप 

हल्दी एंटीसेप्टिक होती है। इसके साथ ही यह एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल भी होती है। अयुर्वेद में भी हल्दी को बहुत ज्यादा लाभकारी बताया गया है। खासतौर पर किसी भी प्राकर के संक्रमण को ठीक करने में यह बेहद प्रभावशाली होती है। अगर आपके बलतोड़ हुआ है तो आपको जाहिर बहुत दर्द का सामना करना पड़ रहा होगा। अगर आप चाहती हैं कि आपका दर्द कम हो जाए तो आपको हल्दी का लेप लगाना चाहिए। इसे बनाना आसान है। 

सामग्री 

  • 1 चम्मच हल्दी का पाउडर लें 
  • ½ चम्मच पानी लें 

विधि 

हल्दी पाउडर में थोड़ा पानी डालें और गाढ़ा पेस्ट बना लें। इसके बाद आपको जहां बालतोड़ हुआ है वहां पर इस लेप को लगाएं। इससे आपको कुछ समय में फायदा मिल जाएगा। यदि आपको ज्यादा दर्द हो रहा है तो आपको दूध के साथ हल्दी का सेवन करना चाहिए। इससे दर्द ठीक हो जाएगा। 

boils treatment

लहसुन का लेप 

लहसुन एक बहुत ही गणकारी हर्ब है। इसके बहुत सारे फायदे हैं। जब बलतोड़ होता है तो स्टेफिलोकोकस ऑरियस नाम का जीवाणू एक्टिव हो जाता है और यह संक्रमण को फैलाता है मगर, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर लहसुन ऐसा होने से रोक सकता है। इसके लिए आपको इसका लेप प्रभावित स्थान पर लगाना चाहिए। 

सामग्री 

  • 2 कली लहसुन 
  • ½ चम्मच हल्दी 
  • ½ चम्मच पानी 

विधि 

आपको पहले तो लहसुन को क्रश करना है और उसका पेस्ट बना लेना है। इसके बाद आपको उसमें हल्दी पाउडर डालना है और फिर आवश्यक्ता अनुसार पानी मिलाना है। इसके बाद तैयार पेस्ट को प्रभावित स्थान पर लगाना है। 15 मिनट के लिए आप इस लेप को लगा हुआ छोड़ दें। इसके बाद इसे गुनगुने पानी से वॉश करें। दिन में ऐसा 2 बार भी कर लेंगे तो आपकी समस्या जल्द से जल्द हल हो जाएगी। 

home remedies for boils

प्याज 

लहसुन की तरह प्याज के भी अपने अलग फायदे होते हैं। यह एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल होता है। इससे किसी भी तरह के संक्रमण से आसानी से लड़ा जा सकता है। इसका लेप बालतोड़ को जल्दी सुखाता है और आराम दिलाता है। 

सामग्री 

  • ½ कटा प्याज 
  • ½ चम्मच शहद 

विधि 

सबसे पहले प्याज को बारीक पेस्ट बना लें। इसे पेस्ट में शहद मिलाएं और इस मिश्रण को बालतोड़ पर 15 से 20 मिनट के लिए लगा कर छोड़ दें। इसके बाद साफ पानी से उस स्थान को साफ करें। आप प्याज के एक पतले से तुकड़े को काट कर उसे बालतोड़ वाले स्थान पर रखें और कॉटन का कपड़ा बांध लें। 1 घंटे तक ऐसे कपड़े को बंधा रहने दें। इसस आपको काफी आराम मिलेगा। 

अरंडी का तेल 

इस तेल में रिसिनोलिक एसिड होता है और यह किसी भी प्रकार के त्वचा में हुए संक्रमण के लिए फायदेमंद होता है। अगर आपकी त्वचा पर सूजन है या फिर जलन हो रही है तो आपको एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर इस तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। 

सामग्री 

  • 5 बूंदे आरंडी का तेल 
  • 1 तुकड़ा कॉटन 

विधि 

एक कॉटन के तुकड़े को अरंडी के तेल में डिप करें और जहां आपको बालतोड़ हुआ है वहां पर इस रुई को रख दें। इसके बाद कुछ देर के लिए कॉटन को रखा रहने दें उसके बाद गुनगुने पानी से उसे साफ करें। एसा आपको दिन में 3 बार तब तक करना है जब तक बालतोड़ पूरी तरह से ठीक न हो जाए।