अमूमन महिलाओं को मेनीक्योर करवाना काफी अच्छा लगता है। यह उनके नेल्स की खूबसूरती को नेचुरली बढ़ाने में मदद करता है और मेनीक्योर करवाने से सिर्फ उनके नेल्स ही अच्छे नहीं लगते, बल्कि हाथ यहां तक कि पूरी पर्सनैलिटी पर एक सकारात्मक असर पड़ता है। जहां कुछ महिलाएं घर पर ही मेनीक्योर करना पसंद करती हैं और वह अपने नेल्स को फाइल करने के साथ-साथ नेल पेंट भी खुद ही लगाती हैं तो वहीं कुछ महिलाएं पार्लर का रूख करती हैं।

पार्लर में मेनीक्योर करवाकर वह खुद को एक स्पेशल फील देना चाहती हैं, इससे उनके मन को भी बेहद अच्छा लगता हैं। हालांकि, अगर आप पार्लर में मेनीक्योर करवाती हैं तो आपको कई तरह के संक्रमण होने का खतरा भी बना रहता है। इस स्थिति में सबसे अच्छा तरीका है कि पार्लर में मेनीक्योर करवाते समय आप कुछ सेफ्टी टिप्स का जरूर ध्यान दें।

आप हमेशा एक ऐसे नेल सैलून का चयन करें, जहां न केवल नाखूनों पर पर्याप्त ध्यान दिया जाए, बल्कि वह सेफ्टी के नियमों का भी पालन करें। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे ही सेफ्टी टिप्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें आपको मेनीक्योर करवाते समय विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए-

टूल्स को सही तरह से स्टेरलाइज करना

safe manicure tips sterlise tools

जब आप मेनीक्योर करवा रही हैं तो उस समय टेक्नीशियन कई तरह के टूल्स का इस्तेमाल करता है। इसलिए, आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि यह सही तरह से स्टेरलाइज हों। आमतौर पर, नेल टूल्स को स्टेरलाइज करने के लिए मशीन व पेपरक्राफ्ट पैकेज अवेलेबल हैं। आप यह अवश्य देंखें कि इस बैग को तकनीशियन आपके सामने ही खोले।

इसे भी पढ़ें: इन टूल्स की मदद से घर पर ही क्रिएट करें सैलून स्टाइल नेल आर्ट डिजाइन

बैग पर एक स्मॉल स्क्वेयर इंडिकेटर होता है। शुरू में, यह एक ग्रे रंग होगा और स्टेरलाइज़ करने के बाद यह गहरे-गुलाबी या हल्के-भूरे रंग का हो जाएगा। यह इस बात की गारंटी है कि उनके उपकरण पिछले क्लाइंट से बचे विभिन्न बैक्टीरिया से साफ किए गए हैं और उपयोग के लिए पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

वुडन स्टिक और नैपकिन का केवल एक बार ही उपयोग

safe manicure tips wooden stick use

जब आप मेनीक्योर करवा रही हैं, तो कोशिश करें कि वह सभी डिस्पोजेबल हों। कई बार सैलून अपने पैसे बचाने के चक्कर में नार्मल तौलिए का इस्तेमाल करते हैं। जबकि यह ठीक नहीं है। आप तकनीशियन को कह सकती हैं कि आपके हाथों पर नैपकिन का ही इस्तेमाल करें, ताकि आपको किसी भी तरह के इंफेक्शन होने की संभावना ना रह जाए।

Recommended Video

केमिकल एक्सपोजर से बचाव

कई बार मेनीक्योर करवाते समय कुछ स्ट्रांगऔर अप्रिय गंध होती है। ऐसा उनमें मौजूद केमिकल्स के कारण होता है। मसलन, ऐक्रेलिक डस्ट आपकी हेल्थ को नुकसान पहुंचा सकती है। इसलिए मेनीक्योर करने के लिए टेबल को वेंटिलेशन सिस्टम से लैस किया जाना चाहिए। साथ ही पूरे सैलून में भी एक कॉमन एग्जॉस्ट हुड काम करना चाहिए। जब आप अपनी बारी की प्रतीक्षा कर रहे हों, तो इस बात पर भी ध्यान दें कि तकनीशियन अन्य ग्राहकों के साथ कैसे काम कर रहा है, मसलन उन्हें श्वसन मास्क का उपयोग करना चाहिए और केमिकल्स को अपने क्लाइंट्स से सुरक्षित दूरी पर रखना चाहिए।

समय पर भी करें फोकस

safe manicure tips focus on time

आपने इस टिप्स पर शायद ही पहले कभी ध्यान दिया हो। लेकिन मेनीक्योर करवाने से पहले, अपने तकनीशियन से पूछें कि उन्हें इस प्रक्रिया को करने में कितना समय लगेगा। अगर वे कहते हैं कि इसमें लगभग 30 मिनट लगेंगे, तो आपको शायद दूसरे सैलून का विकल्प चुनना चाहिए। एक क्लासिक मैनीक्योर में लगभग एक घंटा लगता है, जिसमें क्यूटिकल्स को हटाकर और नाखूनों को आकार देने में करीबन 40 मिनट का समय लिया जाता है। वहीं नाखूनों को नेल पेंट करने में करीबन 20 मिनट और लगते हैं।

इसे भी पढ़ें: हर लड़की को जरूर पता होने चाहिए यह पांच मैनीक्योर हैक्स

हालांकि, यह थोड़ा स्पीड में किया जा सकता है, लेकिन इस स्थिति में आपका मैनीक्योर एक सप्ताह के बाद उतना अच्छा नहीं लगेगा। सही ढंग से किया गया मेनीक्योर आपके नाखूनों पर टिका रहेगा और आपके नाखूनों के बढ़ने पर भी बहुत अच्छा लगेगा।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

 

Image Credit: Freepik