मौसम कोई भी हो यदि आप त्‍वचा को बिना प्रोटेक्‍शन दिए धूप में जाएंगी तो आपको सन बर्न और टैनिंग जैसी समस्‍याओं का सामना करना ही पड़ेगा। आप चाहें तो सनस्‍क्रीन का प्रयोग करके इससे बच सकती हैं, मगर आपको सनस्‍क्रीन के सही इस्‍तेमाल के बारे में भी पता होना बेहद जरूरी है।

आज हम आपको सनस्‍क्रीन से जुड़ी सभी जरूरी बातें बताएंगे।

यूवी रेज क्‍या होती हैं ?

new shehnaz inside

जब हम अल्‍ट्रा वायलेट रेज की बात करते हैं तो जहन में सूर्य से निकलने वाली किरणों का ही चित्र बनता है। मगर आपको बता दें कि सूर्य की किरणें तीन प्रकार की होती हैं। इन्‍हें UV-A, UV- B और UV-C रेज कहा जाता है। सूर्य की UV- B किरणें त्‍वचा की आउटर स्किन को प्रभावित करती है वहीं UV- A किरणें त्‍वचा को अंदर तक डैमेज कर देती हैं। सूर्य की UV- C किरणों का त्‍वचा पर कोई असर नहीं होता है। अगर आपकी त्‍वचा सेंसिटिव है तो आपको सूर्य की UV- A और UV- B किरणों से हमेशा बच कर रहना चाहिए। आप अच्‍छी सनस्‍क्रीन लगा कर अपनी त्‍वचा को सूर्य की इन दोनों किरणों से प्रभावित होने से बचा सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: ऑयली त्वचा वालों के लिए बड़े काम की हैं शहनाज हुसैन की ये 5 स्किन केयर टिप्स

सन सक्रीन लगाने का क्‍या होता है सही तरीका

त्‍वचा में नमी की कमी के कारण भी टैनिंग हो सकती है। अगर स्किन ड्राई और डिहाइड्रेटेड है तो सबसे पहले आपको सनस्‍क्रीन लगानी चाहिए और कुछ समय बाद आपको मॉइश्‍चराइजर लगा लेना चाहिए। इस बात का भी ध्‍यान रखें कि घर से बाहर निकलने के 20 मिनट पहले आपको चेहरे पर सनस्‍क्रीन लगानी चाहिए। अगर आपको 1 घंटे से ज्‍यादा धूप में रहना पड़े तो आपको दोबारा सनस्‍क्रीन का प्रयोग करना चाहिए। इतना ही नहीं, आपको चेहरे के साथ-साथ गर्दन और हाथों में भी सनस्‍क्रीन लगानी चाहिए।

एसपीएफ क्‍या होता है

new shehnaz inside

हर सनस्‍क्रनी पर एक नंबर दिया जाता है, जिसे एसपीएफ कहते हैं। एसपीएफ एक सन प्रोटेक्टिव फैक्‍टर होता है। अलग-अलग स्किन टाइम और सन एक्‍सपोजर के लिए अलग-अलग एसपीएफ वाली सनस्‍क्रीन आती हैं। आमतौर पर एसपीएफ 15 से 20 तक की सनस्‍क्रीन हर तरह की त्‍वचा पर लगाई जा सकती है। अगर स्किन ज्‍यादा ही सेंसिटिव है और जल्‍दी टैन होना शुरू हो जाती है तो ऐसी त्‍वचा वालों को एसपीएफ 30 से 40 वाली सनस्‍क्रीन का इस्‍तेमाल करना चाहिए। कुछ लोगों की त्‍वचा पर बहुत जल्‍दी रैशेज आ जाते हैं, ऐसे लोगों को और भी हाई एसपीएफ वाली सनस्‍क्रीन लगाने की सलाह दी जाती है। आपको स्विमिंग, ट्रैकिंग और समुद्र किनारे छुट्टियां बिताते वक्‍त भी आपको त्‍वचा पर सनस्‍क्रीन लगाना नहीं भूलना चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें: बदलते मौसम में बरकरार रखें त्वचा का सौंदर्य : शहनाज हुसैन

Recommended Video

सन ब्‍लॉक्‍स और सनस्‍क्रीन में अंतर

कई लोगों को सन ब्‍लॉक्‍स और सनस्‍क्रीन के बीच का अंतर नहीं पता रहता है। जबकी इन दोनों में काफी अंतर होता है। सन ब्‍लॉक्‍स का इस्‍तेमाल UVB रेज से त्‍वचा को बचाने के लिए किया जाता है। वहीं सनस्‍क्रीन का इस्‍तेमाल त्‍वचा को UVA रेज से बचाने के लिए किया जाता है। सनस्‍क्रीन त्‍वचा की आउटर लेयर को खराब होने से बचाती है तो सन ब्‍लॉक्‍स त्‍वचा की इनर लेयर को प्रोटेक्‍ट करते हैं। दोनों ही चीजें त्‍वचा को अलग-अलग तरह से फायदा पहुंचाती हैं।

(शहनाज हुसैन भारत की फेमस ब्यूटी और हेयर केयर एक्सपर्ट्स में से एक हैं।  इतना ही नहीं, वह 'शहनाज हुसैन ग्रुप' की चेयरपर्सन, फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर भी हैं। शहनाज हुसैन के कई हर्बल प्रोडक्‍ट्स आपको बाजार में आसानी से मिल जाएंगे। ब्‍यूटी के क्षेत्र में आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिए उन्‍हें कई अवॉर्ड्स से नवाजा भी जा चुका है।)

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit: freepik