त्वचा पर पड़ने वाली झुर्रियां और सफेद होते बाल इसी ओर इशारा करते हैं कि आपकी उम्र बढ़ रही है। हालांकि, उम्र बढ़ने के साथ होने वाले इन बदलावों को कोई रोक नहीं सकता है। मगर उन्हें कंट्रोल किया जा सकता है, क्योंकि यह आपके लुक्स को प्रभावित करते हैं। 

खासतौर पर महिलाएं इन बदलावों को जल्दी स्वीकार नहीं कर पाती हैं और इससे बचने के नए-नए तरीके तलाशने लग जाती हैं। बाजार में भी आपको बहुत सारे प्रोडक्‍ट्स मिल जाएंगे जो एंटी ऐजिंग होने का दावा करते हैं। इनमें से कुछ प्रोडक्‍ट्स बेहद प्रभावशाली भी होते हैं, मगर सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि आप अपनी डाइट को बेहतर बनाएं। यदि आप अपनी डाइट को अच्‍छा रखती हैं तो आपके चेहरे और बालों पर उम्र के साथ होने वाले बदलावों का प्रभाव कम नजर आएगा। 

आज हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे कि महिलाओं को कब  ऐजिंग प्रॉब्‍लम्‍स का सामना करना पड़ता है और वह कैसे इस समस्या के प्रभाव को कम कर सकती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: ऑयली डैंड्रफ को सही करने के लिए आजमाएं ये टिप्स, जल्द मिलेगा छुटकारा

anti  ageing  hair  care  tips tricks

कब होती है ऐजिंग प्रॉब्‍लम्‍स की शुरुआत? 

महिलाएं जब मेनोपॉज के चरण पर पहुंचती हैं तो एस्‍ट्रोजन हार्मोन का स्तर कम होने पर बाल अपने आप पतले होना शुरू हो जाते हैं। वर्तमान समय में हमारे पास बहुत सारी तकनीकें हैं, जो बालों की ऐजिंग प्रॉब्लम को कम कर सकती हैं। इनमें कुछ के बारे में हम आपको बताते हैं- 

  • हेयर कलर और डाई 
  • ऑर्गेनिक शैंपू 
  • काले बालों के लिए हेयर ऑयल (सिंथेटिक कलर्स के साथ)
  • हेयर सीरम 

यह सभी प्रोडक्ट आपके सफेद बालों की समस्या को खत्म करते हैं और बालों को घना बनाए रखने में भी मदद करते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: सर्दियों में बालों को इस तरह दें पोषण

anti  ageing  hair  care  tips

हेल्दी बालों के लिए डाइट 

उम्र बढ़ने के साथ बालों से जुड़ी समस्याओं को नियंत्रित करने के लिए आप अपनी डाइट और लाइफस्टाइल में छोटे-छोटे बदलाव कर सकती हैं। इसके लिए आपको इन टिप्स को फॉलो करना चाहिए- 

  • नियमित रूप से आपको अपनी डाइट में ताजे फलों का सेवन करना चाहिए। 
  • जितना हो सके हरी पत्‍तेदार सब्जियां खाएं। 
  • अपने आहार में सोयाबीन और दही को भी शामिल करें। 
  • स्‍प्राउट्स में अमीनो एसिड होता है, यह बालों के लिए बहुत ही अच्छा आहार है। 
  • डॉक्टर की सलाह पर आप विटामिन-बी और आयरन रिच आहार भी ले सकती हैं। 
  • आंवले का जूस आपको नियमित रूप से पीना चाहिए। 
anti  ageing  hair  care  tips by expert

बालों में केमिकल ट्रीटमेंट करने पर इस तरह करें केयर- 

सफेद बालों को काला करने के लिए यदि आप बालों में केमिकल ट्रीटमेंट कराती हैं, तो आपको जेट ब्लैक कलर नहीं करवाना चाहिए। इससे आपके बाल नेचुरल नहीं लगते हैं इसकी जगह आप डार्क ब्राउन, ब्राउन ब्लैक कलर या फिर कोई सॉफ्ट कलर का चुनाव कर सकती हैं। इसके साथ ही आपको अपने बालों की उचित देखभाल जैसे- ऑयलिंग, हेयर कंडीशनिंग आदि भी समय-समय पर करते रहना चाहिए। 

पतले बालों के लिए क्‍या करें? 

पार्लर में आपको हेयर स्पा, प्रोटीन ट्रीटमेंट और दूसरे कई हेयर ट्रीटमेंट मिल जाएंगे, जो आपके डैमेज बालों को रिपेयर करेंगे और बालों के पतलेपन को कम करेंगे। इसके अलावा आप अपनी डाइट में भी प्रोटीन की उचित मात्रा को शामिल करके बालों की अच्‍छी सेहत बना सकती हैं। इसके लिए आप डाइट में दाल, सोयाबीन, दही आदि को शामिल करें। 

आपको बता दें कि आपके बाल केरोटीन से बने होते हैं, जो एक प्रकार का प्रोटीन होता है। अगर बालों से प्रोटीन कम होता है तो उनका खराब होना तय होता है। मेनोपॉज के दौरान महिलाएं तनाव में रहती हैं, इससे भी बालों की हेल्थ पर असर पड़ता है और वह झड़ना शुरू हो जाते हैं। तनाव दूर करने के लिए नियमित व्यायाम करने की सलाह दी जाती है। 

हेयर स्टाइल में बदलाव करें- 

यह बात कई बार बताई जा चुकी है कि बालों की समय-समय पर ट्रिमिंग बहुत ज्यादा जरूरी होती है। इसके अलावा आपके बाल यदि लंबे हैं मगर पतले हैं तो आपको उन्हें एक नया हेयर कट देना चाहिए, जो आप पर सूट भी करे और आपके बालों को घना भी दिखाए। 

(फेमस ब्यूटी और हेयर केयर एक्सपर्ट्स शहनाज हुसैन 'शहनाज हुसैन ग्रुप' की चेयरपर्सन, फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। शहनाज हुसैन के कई हर्बल प्रोडक्ट्स आपको बाजार में आसानी से मिल जाएंगे। ब्यूटी के क्षेत्र में आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिए उन्हें कई अवॉर्ड्स से नवाजा भी जा चुका है।)  

उम्‍मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।