• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

उम्र है 50 के पार तो इन समर प्रॉब्लम्स का रखें ध्यान

गर्मियों में 50 के ऊपर किस तरह की समस्याएं होती हैं और उनके हल कैसे किए जा सकते हैं ये जानिए। 
Published -03 May 2022, 12:00 ISTUpdated -04 May 2022, 11:40 IST
author-profile
  • Shruti Dixit
  • Editorial
  • Published -03 May 2022, 12:00 ISTUpdated -04 May 2022, 11:40 IST
Next
Article
womens health and issues after

जब हमारी उम्र बढ़ने लगती है तो शरीर की समस्याएं अलग हो जाती हैं। ऐसे समय में हर मौसम अपनी अलग समस्या लेकर आता है जिसमें से गर्मियों की समस्याएं तो बेहद परेशानी भरी होती हैं। गर्मियों के समय हीट, ह्यूमिडिटी और बदलते मौसम के कारण कई बार ज्यादा उम्र के लोगों को न सिर्फ फिजिकल हेल्थ बल्कि मेंटल हेल्थ पर भी असर पड़ता है। जहां तक समर प्रॉब्लम्स का सवाल है तो इसमें मूड स्विंग्स को भी एड किया जा सकता है। 

अधिकतर 50 के पार लोगों को गर्मियों में चिड़चिड़ापन और स्किन से जुड़ी समस्याएं भी होती हैं। इसके बारे में अधिक जानकारी लेने के लिए हमने वेस्टा एल्डर केयर के सीओओ डॉक्टर प्रतीक भारद्वाज से बात की। 

हमने ये विस्तार से जानने की कोशिश की कि 50 की उम्र के बाद या अपनी जिंदगी के बुढ़ापे वाले दौर में गर्मियों का महीना आपके लिए क्या नई-नई समस्याएं लेकर आता है। उन्होंने हमें कुछ चीज़ों के बारे में बताया जिनका ध्यान हमेशा रखना चाहिए। 

रैशेज 

50 की उम्र के बाद एडल्ट नहीं ओल्डर एडल्ट कैटेगरी आ जाती है और गर्मियों के मौसम में इस दौरान स्किन में रैशेज होना आम है। जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे स्किन का बैरियर डैमेज होने लगता है और इससे रैशेज की समस्या बढ़ती है। रैशेज के साथ-साथ गर्मियों का मौसम अन्य तरह की समस्याएं भी लेकर आता है। खासतौर पर बुजुर्गों को स्किन इन्फेक्शन जैसे एथलीट्स फुट, स्किन का लाल हो जाना, बहुत ज्यादा खुजली होना आदि होते हैं। 

summer health problems in women

क्या करें-

  • पसीने को कंट्रोल करने की कोशिश करें क्योंकि उससे खुजली और गीलापन होता है जो रैशेज की समस्या का कारण बन सकता है। 
  • इसके अलावा, आप स्किन के लिए एंटी-एलर्जी पाउडर लेने की कोशिश करें। 
  • ज्यादा से ज्यादा धूप से बचने की कोशिश करें। 
  • ब्रीदेबल कपड़े पहनें जिससे आपकी स्किन सांस ले सके, नेचुरल फैब्रिक की ओर जाएं। 

इसे जरूर पढ़ें- Expert Tips: 50 के बाद फिट रहने के लिए महिलाएं ये 3 टिप्‍स अपनाएं 

लू लगना 

एक उम्र के बाद धूप का असर आपके ऊपर ज्यादा होता है और ऐसे में गर्म मौसम आपकी परेशानी का कारण बनता है। लू लगने का खतरा इस मौसम में उम्रदराज लोगों को ज्यादा होता है और उन्हें बुखार, जी-मिचलाने जैसी समस्या होती है जिससे उनकी हेल्थ पर असर पड़ता है। 

क्या करें-

  • अपने आप को हाइड्रेटेड रखें। 
  • सुबह 10 से 4 बजे तक बाहर निकलने से बचें। 
  • अगर हीट स्ट्रोक का असर लग रहा है तो घर पर इलाज की जगह पहले डॉक्टर से संपर्क करें। 

डीहाइड्रेशन 

50 की उम्र के बाद शरीर से पानी वैसे भी जल्दी निकलता है और इसके कारण कमजोरी भी फील हो सकती है। डिहाइड्रेशन मूड स्विंग्स का सबसे अहम कारण हो सकता है और इसी के साथ-साथ यूरिन से जुड़ी समस्याएं भी बहुत ज्यादा होती हैं।  

drinks and hydration

क्या करें- 

  • हर एक घंटे में पानी पीना याद रखें। 
  • पानी के साथ-साथ खीरा, खरबूज, तरबूज जैसी चीज़ें भी अपनी डाइट में शामिल करें जिसमें ज्यादा पानी होता है। 
  • आप चिया सीड्स को भी अपनी डाइट में शामिल करें और सीजनल फल जरूर खाएं।  

डाइजेस्टिव समस्याएं 

गर्मियां किसी भी उम्र के इंसान के डाइजेशन पर बहुत असर डालती है और ऐसे में फिर 50 के बाद तो डाइजेशन से जुड़ी समस्याएं वैसे भी बहुत ज्यादा हो जाती हैं। ऐसे में लूज मोशन, डायरिया, उल्टी और एसिडिटी सब कुछ होता है। ये न सिर्फ हेल्थ के लिए खराब है बल्कि इससे मूड पर भी बहुत ज्यादा असर होता है।  

क्या करें- 

  • अपनी डाइट में फाइबर ज्यादा लें और साथ ही साथ ऐसे फूड्स खाएं जिनका वॉटर कंटेंट ज्यादा हो। 
  • अगर आपको डाइट संबंधित समस्याएं ज्यादा हो रही हैं तो आप डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।  

इसे जरूर पढ़ें- 50 की उम्र के बाद महिलाएं ये 2 एक्‍सरसाइज करें, भाग्‍यश्री की तरह दिखेंगी फिट  

Recommended Video

थकान और कमजोरी 

गर्मियों का मौसम आपकी एनर्जी छीन लेता है और ऐसे में ये बहुत ज्यादा परेशानी भरा साबित होता है। वो लोग जिनकी उम्र 50 के ऊपर है उनके लिए तो ये और भी ज्यादा खतरनाक स्थिति होती है। गर्मियों के मौसम में बढ़ी उम्र के लोग ज्यादा आलस महसूस करते हैं।  

क्या करें-  

  • सुबह 9 से पहले और शाम को  7 के बाद थोड़ी वॉक जरूर करें। 
  • अपनी डाइट में नट्स और फ्रूट्स एड करें। 
  • दोपहर में थोड़ा आराम करने की कोशिश करें।  

ये सारी समस्याएं मूड स्विंग्स का कारण भी बनती हैं और अगर आपको बार-बार चिड़चिड़ाहट हो रही है तो कोशिश करें कि अपनी डाइट का ख्याल रखें जो गर्मियों की काफी समस्याओं को ठीक कर सकती है। इसके अलावा, आप अपने डॉक्टर से ऊपर दी गई किसी भी समस्या के लिए कंसल्ट कर सकते हैं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से। 

 
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।