Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    शादी से पहले क्यों पहनाई जाती हैं दुल्हन को लाल और हरी चूड़ियां? जानें

    क्या आप जानते है कुवारी लड़की को शादी के कुछ दिन पहले ही लाल और हरी चूड़ियां क्यों पहनाई जाती हैं।   
    author-profile
    Updated at - 2022-10-13,11:54 IST
    Next
    Article
    indian wedding

    हर व्यक्ति के जीवन में शादी की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। खासकर लड़कियों का जीवन शादी के बाद पूरे तरीके से बदल जाता है। हालांकि, शादी से कुछ दिनों पहले शादी वाले घरों में बेहद ही रौनक रहती है। भारतीय परंपरा से अगर शादी की जा रही है तो शादी में कई तरह के रिती- रिवाज होते हैं। जिसका पालन सभी को करना होता है।

    भारतीय परंपरा की बात करें तो शादी से पहले दुल्हन के घर में हल्दी, मेहंदी और संगीत सेरेमनी जैसी कई सारी रस्में होती हैं। यही नहीं हर राज्य के लोग अपने अनुशार कुछ न कुछ नया रीति रिवाज भी करते हैं। ऐसे में भारतीय परंपरा में कुछ रिवाज ऐसे होते है जिसे सुनकर थोड़ा अजीब लगता है। चलिए जानते है इसके बारें में।

    शादी से पहले पहनाते है चूडियां

    why women wear green and red bangels

    भारतीय परंपरा के अनुशार शादी से करीब 2 या 3 हफ्ते पहले दुल्हन के घर में चूड़ियां पहनाने की रस्म होती हैं। इसमें लड़की की बहनें उसकी दोस्त और परिवार के अन्य सदस्य उसे चूड़ियां पहनाते हैं। ये चूड़ियां लड़की शादी के दिन तक पहनें रखती है।

    इसे भी पढ़ें- इस वजह से शादीशुदा महिलाएं पहनती हैं चूड़ियां, जानें हिंदू धर्म में चूड़ियों का महत्व

    क्यों पहनाई जाती हैं हरी-लाल चूड़ियां

    क्योंकि हिंदू धर्म में चूड़ियों को सुहाग का प्रतीक माना जाता है। साथ ही यह भी मान्यता है कि लाल और हरी रंग की चूड़ियां दुल्हन को बुरी नजर से बचाती हैं। ऐसे में इस रस्म के दौरान लड़की की बहनें उसकी दोस्त और परिवार के अन्य सदस्य हरी और लाल Cपहनाई जाती हैं।

    इसे भी पढ़ें- जानें क्यों पंजाबी दुल्हनों के लिए खास होता है चूड़ा और कलीरे

    चूड़ियां के रंग का महत्व होता है

    आपको बता दें कि अलग-अलग रंग की चूड़ियों का अलग-अलग महत्व होता है। जैसे लाल रंग प्रेम और हरा रंग महिलाओं को नैचर से जोड़ता है। वहीं चांदी ताकत का और सोने की चूड़ियां भाग्य और समृद्धि का प्रतीक मानी जाती हैं

    समय के साथ बदल रहा है परंपरा

    अब की बात करें तो आज कल के मार्डन जमाने में लोगों ने कई परंपरा को बदल दिया है। पहले जहां लड़कियों को सिर्फ हरे-लाल रंग की चूड़ियां पहनाई जाती थी। वहीं, आज हरे और लाल रंग की चूड़ियों के साथ ही लड़कियों को कलरफुल और नग जड़ी चूड़ियां और कड़े भी पहनाए जाते हैं।

    उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा इस बारे में हमें बताना ना भूलें।

     

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।