• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Weird Wedding Ritual: एक ऐसा गांव जहां सफेद कपड़े में विदा होती है नई-नवेली दुल्हन, जानें इस रिवाज के पीछे का कारण

शादी के दिन ज्यादातर जगहों पर सफेद कपड़ा अशुभ माना जाता है। लेकिन भारत में एक ऐसा गांव भी है, जहां दुल्हन सफेद जोड़े में ही विदा होती है।
author-profile
Published -30 Jun 2022, 13:00 ISTUpdated -30 Jun 2022, 17:22 IST
Next
Article
wierd wedding rituals

भारत में अनेकों समुदाय के लोग रहते हैं। इन समुदायों में कायदे-कानून, रीति-रिवाज और परंपराएं होती हैं। हर धर्म में शादी का अपना एक महत्व होता है, जिसके अनुसार लोग शादी में तरह-तरह की रस्में निभाते हैं। शादी के लिए लाल रंग सबसे शुभ माना जाता है, वहीं सफेद रंग को सुहाग उजड़ने का प्रतीक होता है। लेकिन भारत में एक ऐसा समुदाय भी है, जहां शादी होने के बाद माता-पिता दुल्हन का लाल जोड़ा खुलवा देते हैं। और उसे विधवा के लिबाज में घर से विदा किया जाता है। आइए जानते हैं इस रीति-रिवाज को मानने वाले समुदाय और उससे जुड़ी मान्यता के बारे में- 

कहां पर मौजूद है यह अनोखा गांव?

where bride wears white cloth on her wedding

सफेद साड़ी में विदा होने का यह रिवाज मध्य प्रदेश राज्य के भीमडोंगरी गांव का है। जहां आदिवासी समाज के लोग रहा करते हैं। यूं तो हर भारतीय समाज की तरह यहां पर भी शादी को लेकर उल्लास देखने को मिलता है। लेकिन यहां पर एक ऐसी रस्म निभाई जाती है, जो सभी को हैरान करती है।

यहां पर विदाई के समय दुल्हन को विधवा के जैसे सफेद साड़ी पहनाई जाती है। दुल्हन के अलावा शादी में आए बाकी लोग भी सफेद कपड़े में सम्मिलित होते हैं।

इसे भी पढ़ें- बेहद खास है भारतीय शादियों के रीति-रिवाज, जानें इन राज्यों में होने वाली रस्में

सफेद कपड़े के पीछे क्या है मान्यता?

wedding rituals in india

दुल्हन की सफेद साड़ी के पीछे के पीछे बेहद खास मान्यता है। दरअसल इस गांव में गौंडी धर्म के लोग रहा करते हैं। इस धर्म के लोगों के लिए सफेद रंग बेहद पवित्र माना जाता है। जिस कारण लोग शादी के मौके पर इस रंग के लिबाज को बेहद शुभ मानते हैं।

इसे भी पढ़ें- बेहद खास है भारतीय शादियों के रीति-रिवाज, जानें इन राज्यों में होने वाली रस्में

गौंडी धर्म के लोगों की मान्यताएं- 

indian village where bride wears white cloth on wedding day

बता दें कि गौंडी धर्म के लोग भारत में लंबे समय से अनेक रिवाजों को मानते आए हैं। बता दें कि यहां पर शराब पूरी तरह से प्रतिबंधित है। इसके अलावा अन्य समुदायों में फेरे की रस्म दुल्हन के घर पर होती है। लेकिन इस समुदाय फेरे को लेकर काफी दिलचस्प हिसाब है। बता दें कि इस समुदाय में चार फेरे दुल्हन के घर पर होते हैं और बाकी के 3 फेरे दूल्हे की तरफ लिए जाते हैं। लोगों के सफेद लिबाज को देखकर आप यह तय नहीं कर पाएंगे कि शादी है या फिर किसी दुखद समारोह में शामिल हुए हैं।

तो ये थी इस गांव से जुड़ी सभी जानकारियां, जहां विधवा के लिबाज में दुल्हन की विदाई होती है। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ।

Image Credit- google searches

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।