अगर आप घर की जिम्‍मेदारियों के कारण या किसी भी निजी समस्‍या के कारण बारह जाकर नौकरी करने में सक्षम नहीं है, लेकिन पैसे की जरूरत है तो आप घर बैठे भी अपना काम शूरू कर सकती हैं। घर बैठे कमाई का जरिया ढुंढ रही हैं तो आप अपना कोई लघु उद्योग भी शुरू कर सकती है। इस तरह के व्‍यवसाय में ज्‍यादा पैसे या साधन की जरूरत नहीं पड़ती, इन व्‍यवसायों को छोटे पैमाने पर कम मशीनों और साधनों के साथ घर की छोटी सी जगह‍ से शुरू किया जा सकता है। तो आइए जानें, इन बिजनेस से जुड़ी चुनौतियों और संभावनाओं के बारे में।

start these small business at home inside

इसे जरूर पढ़ें: Expert Advice: गणेश-पार्वती की कहानी से समझें महिलाओं के लिए क्यों जरूरी है पैसों का मैनेजमेंट

बेकरी बिजनेस

बेकरी प्रोडक्ट्स की मार्केट में हमेशा से ही काफी मांग रहती है। इन दिनों बदलते लाइफ स्टाइल के कारण फास्ट फूड खाने का चलन बढ़ चुका है इसके कारण भी इसकी मांग में बढ़ोत्‍तरी हुई है। डेली रूटिन में हर घर में ब्रेड, बिस्कट, पाव, बटर, टोस्ट बेकरी से लाकर रखा जाता है। इसलिए इसकी खपत को देखते हुए इस बिजनेस में हाथ आजमाने का सोचना गलत नहीं होगा। इसकी अधिक मांग के कारण यह बेहद आसानी से मार्केट भी बना लेता हैं। आप बेकरी प्रोडेक्‍ट बनाने का कोर्स करके बड़ी आसानी से इस बिजनेस से जुड़ सकती हैं और अपनी खुद की दुकान भी खोल सकती हैं, या चाहे तो बाजार में अपने बेकरी प्रोडक्ट्स को बेच सकती हैं।

इसके लिए मार्केट

बड़ी बेकरी शॉप्स, आइसक्रीम शॉप्स, मिल्क पार्लर के साथ-साथ किराना दुकानों में भी बेकरी प्रोडक्ट्स रखे जाते हैं। यह साल भर चलने वाला बिजनेस है, इसलिए आपको किसी मौसम का इंतजार नहीं करना होगा और ना ही ऑर्डर की कभी कमी होगी। आप कमीशन बेसिस पर भी यह बिजनेस शुरू कर सकती हैं। इसके अलावा डोर-टू-डोर सेलिंग भी कर सकती हैं। अगर आप अपना प्रोडक्ट दुकानों तक पहुंचाएंगी तो जल्द ही मार्केट बना लेंगी।

रॉ मटेरियल- बेकरी प्रोडक्ट्स बनाने के लिए मैदा, चीनी, आटा, सूजी, क्रीम, घी, तेल, कलर, दूध और पानी इत्‍यादि की जरूरत पड़ सकती है।

इस्‍तेमाल होने वाली मशीनें

मिक्सर, फ्रीज़र, ट्रे, काउंटर, इलेक्ट्रिक भट्टी या कोयले की भट्टी, कांच की आलमारी, फर्नीचर, माल सप्लाई के लिए कोई वाहन।

इमिटेशन ज्वेलरी का बिजनेस

इमिटेशन ज्वेलरी का क्रेज बढ़ता जा रहा है और इस वजह से इसकी मांग भी बनी रहती है। इस तरह की ज्वेलरी सभी महिलाओं को पसंद आती है। इनकी डिजाइन ही इन्हें अट्रैक्टिव बनाती है। आप चाहें तो आप भी अपनी डिजाइन की हुई इमिटेशन ज्वेलरी बना सकती हैं, वो भी घर बैठे। ईयर-रिंग्स, रिंज, नेकलेस, कंगन, पायल, कुंदन ज्वेलरी, ब्रेसलेट-ये सभी इमिटेशन ज्वेलरी में मौजूद हैं। इन्हें बनाने में ज्यादा परेशानी नहीं आती, क्योंकि इसे बनाने के लिए मिलने वाला रॉ मटेरियल काफी सस्ता होता है और बन जाने के बाद इनकी कीमत भी काफी अच्छी मिलती है। आप इसे बड़ी आसानी से स्टैब्लिश कर सकती हैं।

start small business at home inside

इसके लिए मार्केट

इमिटेशन ज्वेलरी के लिए मार्केट काफी बड़ा है। लेडीज शॉप्स के साथ-साथ अब ज्वेलर्स और कॉस्मेटिक्स शॉप्स भी इन्हें रखने लगे हैं। इसके अलावा लोकल मार्केट, सेल, पार्लर्स के साथ बुटिक भी इन्हें ब्रिकी के रखते हैं। ऑनलाइन शॉप्स पर भी आप अपनी तैयार की हुई इमिटेशन ज्वेलरी बेचकर अच्छी कमाई कर सकती हैं।

रॉ मटेरियल- घर पर इमिटेशन ज्वेलरी बनाने के लिए चमकने वाले इमिटेशन डायमंड्स, कई तरह के कुंदन, दूसरे कलर स्टोन, नकली मोती, धागे और डिजाइन्स के लिए आपकी पसंद की बुक की जरूरत पड़ती है।

इस्‍तेमाल होने वाली मशीनें

घर पर इमिटेशन ज्वेलरी बनाने के लिए हैंडमोल्डेड मशीनें, चिमटे, पिरोने के तार, सुई, छोटी पकड़ और फेविकॉल इत्‍यादि की जरूरत पड़ती है। महिलाएं घर बैठे ही शुरू कर सकती हैं मेहंदी कोन बनाने का बिजनेस

कोरूगेटेड बॉक्स बनाने का बिजनेस

लकड़ी के बॉक्स की तुलना में कोरूगेटेड बॉक्स वजन में काफी हल्के और सस्ते होते हैं, इसलिए मार्केट में इसकी मांग भी ज्‍यादा है। टिकने वाली पैकिंग और सस्ते होने के कारण ये हर छोटी-बड़ी कंपनी में इस्‍तेमाल की जाती हैं। फल-सब्जियों से लेकर टीवी, फ्रिज तक की पैकिंग में इसकी जरूरत पड़ती है, इसलिए इनका मार्केट काफी अच्छा है। अलग-अलग जरूरत के हिसाब से और साइज के हिसाब से इन्हें ऑर्डर पर तैयार कराया जाता है। इन्हें लकड़ी की लुगदी से तैयार किया जाता है लेकिन 20 से पच्‍चीस फीसदी लकड़ी का भी इस्‍तेमाल किया जाता है। आप इस बिजनेस को 2 तरह से कर सकती हैं। पहला- कोरूगेटेड बॉक्स के लिए लगने वाली शीट्स तैयार करना। दूसरा- तैयार शीट्स खरीदकर सिर्फ बॉक्स असेंबल करने का काम।

start  types of small business at home inside

शीट्स खरीदकर सिर्फ बॉक्स असेंबल करने का काम थोड़े बड़े प्लांट में होता है, इसलिए विशेषज्ञों की मदद और सलाह के बाद ही इसे शुरू करें। लेकिन आप अगर इस पुट्ठों की तैयार शीट्स लाकर बॉक्स बनाकर बेचना शुरू करें तो काफी आसान होगा। आप इन्हें अलग-अलग डिजाइन और साइज में तैयार कर सकती हैं।

इसके लिए मार्केट

जिस तेजी से इनका इस्‍तेमाल बढ़ा रहा है, उतनी ही तेजी से उसकी मांग भी बढ़ रही है। बड़ी कंपनियों के अलावा अब अमेजन, फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियां भी इसका ऑर्डर देती हैं, तो वहीं, फल-सब्जियां मार्केट में भेजने के लिए किसान भी इसका ऑर्डर देते हैं।

रॉ मटेरियल- कोरूगेटेड बॉक्स बनाने के लिए जिन सामग्रियों की जरूरत पड़ती है उनमें लकड़ी की लुगदी, सरस, इंडस्ट्रीयल यूज़ के लिए आने वाला गोंद और पुट्ठों की शीट्स शामिल है। लिज्जत पापड़ की संघर्ष से लेकर सफलता की कहानी जानें

इसे जरूर पढ़ें: अनुष्का शंकर ने निकलवाया अपना गर्भाशय, महिलाओं को हिम्‍मत दिलाने के लिए बंया की अपनी कहानी

इस्‍तेमाल होने वाली मशीनें

कोरूगेटेड मशीन, स्टीचिंग मशीन, क्रिशिंग मशीन, स्लेटिंग मशीन, बोर्ड कटर मशीन, शिप प्रोसिंग मशीन, बॉक्स सिलने की मशीन, इलेक्ट्रिक मोटर इत्‍यादि।

Photo courtesy- (@GettyImages)