इस बात में कोई दोराय नहीं है कि छोटे बच्चे के लिए ब्रेस्ट फीडिंग से बेहतर कोई दूसरा आहार नहीं है। मां के दूध को बच्चों के लिए अमृत माना जाता है। इसलिए बच्चे को ब्रेस्टफीड करवाने की सलाह दी जाती है। हालांकि, कई बार महिलाएं बच्चों के लिए फीडिंग बोतल का विकल्प चुनती हैं। इसकी कई वजहें हो सकती हैं-अगर मां वर्किंग है तो ऐसे में अपने ब्रेस्टमिल्क को ही पम्प करके बोतल में फीड करवाती है तो कभी मां का दूध बच्चे के लिए पर्याप्त नहीं होता और इसलिए वह बच्चों के लिए फार्मूला मिल्क का विकल्प चुनती हैं। जिसके कारण उन्हें फीडिंग बोतल की जरूरत पड़ती है।

हालांकि, फीडिंग बोतल से बच्चे को फीड करवाना बेहद ही आसान होता है, लेकिन सबसे जरूरी होता है कि आप बच्चे के लिए सही बोतल का चयन करें। यह बच्चे के लिए एक एसेंशियल प्रॉडक्ट है और सीधा बच्चे की सेहत से जुड़ी है। इसलिए अगर इसे खरीदते समय आपसे कोई गड़बड़ हो जाती है तो इसका हर्जाना आपके बच्चे को उठाना पड़ सकता है। हो सकता है कि आपको बेबी बॉटल को खरीदना एक बेहद ही सिंपल काम लगता हो, लेकिन वास्तव में आपको कुछ बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए, जिसके बारे में आज हम आपको इस लेख में बता रहे हैं-

टाइप पर करें फोकस

जब आप बच्चे के लिए फीडिंग बोतल खरीद रही हैं तो सबसे पहला और जरूरी स्टेप है कि आप उसके टाइप पर ध्यान दें। दरअसल, इन दिनों मार्केट में आपको प्लास्टिक से लेकर कांच की फीडिंग बोतल मिलती हैं, जिनकी अपनी-अपनी खासियतें होती हैं। मसलन, अगर आप बच्चे के लिए प्लास्टिक बोतल खरीद रही हैं तो उसे सही तरह से स्टेरलाइज अवश्य करना चाहिए। साथ ही साथ उन्हें कुछ समय पर बदलते रहना चाहिए, क्योंकि प्लास्टिक बोतल बैक्टीरिया प्रोन होती हैं और इसलिए, लंबे समय तक इनका इस्तेमाल करने से बच्चों को नुकसान हो सकता है।

वहीं, ग्लॉस की बोतल अधिक अच्छी मानी जाती है, क्योंकि इन्हेंक्लीन करना व बैक्टीरिया फ्री रखना आसान होता है। लेकिन इसे इस्तेमाल करते समय थोड़ी सावधानी बरतनी होती है, क्योंकि अगर यह हाथ से फिसल जाए तो टूटने का खतरा बना रहता है। इसके अलावा, बच्चों के लिए इन दिनों रीयूजेबल प्लास्टिक बॉटल्स में डिस्पोजेबल स्टेरलाइज़्ड लाइनर भी मिलते हैं, हालांकि, यह आपके लिए थोड़े महंगे साबित हो सकते हैं।

मल्टीपर्पस हो बोतल

multi bottle

जब आप बच्चे के लिए बोतल खरीद रही हैं तो कोशिश करें कि उसकी शेप व साइजकुछ ऐसा हो, जिसे आप लंबे समय तक इस्तेमाल कर सकें। मसलन, इन दिनों ऐसी बोतल मार्केट में अवेलेबल है, जिसके दोनों साइड पर बच्चे के पकड़ने के लिए हैंडल होते हैं। इससे बच्चे की ग्रिप काफी अच्छी बनती है। साथ ही साथ जैसे-जैसे बच्चा बड़ा होता है, आप इसे बतौर सिपर भी इस्तेमाल कर सकती हैं। 

इसे ज़रूर पढ़ें- बेंगलुरु में घूमने के साथ-साथ लें शॉपिंग का मजा, जानें बेहतरीन बाजारों के बारे में

क्लीनिंग करने में आसान

बच्चे की बोतल की सही तरह से क्लीनिंग होना बेहद ही अहम् है। यह बोतल को बैक्टीरिया फ्री और आपके बच्चे को हेल्दी बनाए रखने में मददगार है। इसलिए, जब भी आप बच्चे के लिए बोतल खरीदें तो कोशिश करें कि वह ऐसी हो, जिसका मुंह फ्रंट से चौड़ा हो। इससे आपके लिए उसे क्लीन करना अधिक आसान होगा और बोतल के किसी भी हिस्से में बैक्टीरिया जमा नहीं होंगे।

इस तरह चुनें निप्पल

nipple

जब आप बच्चे के लिए बोतल खरीद रही हैं तो उसके साथ निप्पल पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए। कोशिश करें कि आप बच्चे की बोतल के लिए उसी ब्रांड का निप्पल चुनें, जिस ब्रांड की आपकी बोतल हो, क्योंकि यह एकदम फिट बैठते हैं और किसी भी तरह की लीकेज होने की संभावना काफी कम हो जाती है। मार्केट में आपको लेटेक्स या सिलिकॉन के निप्पल मिलेंगे, जिनकी अपनी खासियतें हैं। मसलन, लेटेक्स के निप्पल मां के स्तनों से अधिक मिलते-जुलते हैं क्योंकि वे नरम और अधिक लचीले होते हैं। वहीं, दूसरी ओर, सिलिकॉन निपल्स अधिक लंबे समय तक चलते हैं, और इन्हें क्लीन करना अधिक आसान होता है, क्योंकि वे डिशवॉशर में जा सकते हैं, साथ ही इसमें बैक्टीरियल इंफेक्शन भी कम होता है।

इसे ज़रूर पढ़ें- डेनिम आउटफिट में दिखना चाहती हैं परफेक्ट तो खरीदते वक्त ध्यान रखें ये बातें

 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik