आइए जानते हैं उत्तर प्रदेश की 10 सबसे प्रसिद्ध ऐतिहासिक जगहों के बारे में

उत्तर प्रदेश की 10 सबसे प्रसिद्ध ऐतिहासिक जगहों के बारे में जानने के बाद आप भी यहां घूमने का प्लान बना सकते हैं।
know historical places of uttar pradesh

हिन्दुस्तान के लगभग हर राज्य और शहर में एक से एक बेहतरीन और फेमस ऐतिहासिक जगहें हैं। राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, बिहार आदि कई राज्यों की तरह उत्तर प्रदेश में भी विश्व प्रसिद्ध ऐतिहासिक जगहें हैं। इन ऐतिहासिक जगहों पर सिर्फ भारत से ही नहीं बल्कि विश्व के कोने-कोने से लोग घूमने के लिए आते हैं। आज इस लेख में हम आपको उत्तर प्रदेश की 10 सबसे प्रमुख और ऐतिहासिक जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं। इन जगहों के बारे में जानकर आपको भी अच्छा लगेगा, तो आइए जानते हैं।

1ताजमहल

historical places of uttar pradesh tajmahal inside

इस लिस्ट में सबसे ऊपर मौजूद है ताजमल। आगरा में मौजूद विश्व प्रसिद्ध ताजमहल सात अजूबों में से एक है। ताजमहल मुग़ल वास्तुकला का उत्कृष्ट नमूना माना जाता है। फारसी, तुर्क, भारतीय और इस्लामी वास्तुकला से परिपूर्ण ताजमहल आज युनेस्को विश्व धरोहर स्थल भी है। भारत में इसे प्यार के निशानी के रूप में भी जाना जाता है। शाहजहां द्वारा निर्मित इस महल को देखने के लिए दुनिया भर से सैलानी पहुंचते हैं।

 

2कैसरबाग पैलेस

historical places of uttar pradesh quishaerbag inside

उत्तर प्रदेश की राजधानी और नवाबों की शहर लखनऊ में मौजूद है कैसरबाग पैलेस। लगभग 1847 में अवध के नवाब वाजिद अली शाह द्वारा निर्मित यह उत्तर प्रदेश के इतिहास में बेहद ही महत्व रखता है। कहा जाता है कि यह महल नवाब का ड्रीम प्रोजेक्ट था। देश की आजादी में भी इस महल की भूमिका को आज भी याद किया जाता है।

 

3आगरा का किला

historical places of uttar pradesh agra fort inside

आगरा में सिर्फ ताजमहल ही विश्व प्रसिद्ध नहीं है बल्कि, कुछ ही दूरी पर मौजूद आगरा का किला भी फेमस है। यूनेस्को की विश्व धरोहर में शामिल यह किला अपनी वास्तु शिल्प, नक्काशी और रंग-रोगन के लिए प्रसिद्ध है। इस विश्व प्रसिद्ध किले का निर्माण मुगल बादशाह अकबर ने लगभग 1573 में शुरू करवाया था।   

 

4कंस किला

historical places of uttar pradesh kans fort inside

कृष्ण नगरी यानि मथुरा में तो एक से प्रसिद्ध और पवित्र जगहे हैं। लेकिन, इसके अलावा भगवान कृष्ण के मामा कंस को समर्पित कंस किला ऐतिहासिक दृष्टि से बेहद ही महत्व रखता है। महाभारत काल में यह किला पांडवों के लिए एक विश्राम घर हुआ करता था। 

 

5फतेहपुर सीकरी किला

historical places of uttar pradesh fatehpur sikari inside

आगरा से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद फतेहपुर सीकरी एक ऐतिहासिक शहर है, जिसका निर्माण मुग़ल बादशाह अकबर ने करवाया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अकबर ने सिकरी को अपनी राजधानी के रूप में बनाने का तय किया था। महल में मौजूद बुलंद दरवाजा सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विश्व भर में फेमस है। इस किला के अंदर कई फेमस और पवित्र दरगाह भी मौजूद है।

 

6रामनगर किला

historical places of uttar pradesh ramnagar fort inside

वाराणसी में गंगा नदी के पूर्वी तट पर तुलसी घाट के सामने स्थित रामनगर किला ऐतिहासिक फोर्ट्स में से एक है। इस किले का निर्माण लगभग 1750 में काशी नरेश बलवन्त सिंह ने कराया था। हालांकि, इस समय इस किले के कई हिस्से खंडहर में तब्दील हो चुके हैं। कहा जाता है कि उस समय यह किला काशी नरेश का निवास था।

 

7झांसी का किला

historical places of uttar pradesh jhansi fort inside

झांसी का किला उत्तर प्रदेश के साथ-साथ सम्पूर्ण भारत के लिए एक गौरवपूर्ण फोर्ट है।  लगभग 17वीं में राजा बीर सिंह देव द्वारा निर्माण करवाया गया यह किला रानी लक्ष्मीबाई को समर्पित है। बेतवा नदी के किनारे होने के चलते इस फोर्ट और इसके आसपास की जगहों पर घूमने के लिए हर महीने हजारों सैलानी पहुंचते हैं। ये भी बता दें कि झांसी भारतीय इतिहास के सबसे समृद्ध और गौरवपूर्ण शहरों में से भी एक है।

 

8जामा मस्जिद

historical places of uttar pradesh jama masjid inside

जी नहीं, दिल्ली में मौजूद जामा मस्जिद  के बारे में नहीं बल्कि, आगरा में मौजूद जामा मस्जिद  के बारे में जिक्र हो रहा है। लगभग 1648 में निर्मित जामा मस्जिद को शाहजहां की पुत्री और शहजादी जहांआरा बेगम को समर्पित है। यह मीनार रहित ढाँचे तथा विशेष प्रकार के गुम्बद के लिए विश्व भर में फेमस है। जामा मस्जिद खूबसूरत नक्काशी और रंगीन फूलों से सजी हुई है।

 

9बड़ा इमामबाड़ा

historical places of uttar pradesh emambada inside

राजधानी लखनऊ मौजूद बड़ा इमामबाड़ा एक ऐतिहसिक जगह होने के साथ ऐतिहासिक धरोहर भी है। उत्तर प्रदेश में इसे भूलभुलैया भवन के नाम से भी जानते हैं। इसका निर्माण आसिफ उद्दौला ने करवाया था।

 

10सारनाथ

historical places of uttar pradesh ashok piller inside

काशी अथवा वाराणसी से लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद एक विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल होने के साथ-साथ एक ऐतिहासिक जगह भी है। ज्ञान प्राप्ति के पश्चात भगवान बुद्ध ने अपना प्रथम उपदेश इसी स्थान पर दिया था। इसके अलावा यह जगह अशोक/सारनाथ स्तम्भ के लिए भी बेहद ही फेमस है।

यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।