गोरी त्वचा और चेहरे के दाग धब्बों को दूर करने के लिए महिलाएं केमिकल पीस का इन दिनों खूब सहारा ले रही हैं। लेकिन केमिकल पील आखिर क्या है। इसे कराने से आपकी त्वचा पर कैसे निखार आता है और आपकी स्किन के दाग धब्बे कैसे चले जाते हैं।

केमिकल पील अब काफी पॉपुलर हो चुका है। केमिकल पील से ना सिर्फ आपकी स्किन पर निखार आता है बल्कि ये ब्यूटी ट्रीटमेंट आपके चेहरे के दाग धब्बों को दूर करने से लेकर उम्र की लकीरों, झुर्रियों और त्वचा के रुखेपन सबको दूर करता है। अगर आपकी स्किन अब खराब हो रही है बढ़ती उम्र का असर अब आपके चेहरे पर दिखने लगा है तो आपको केमिकल पील करवाने के बारे में सोचना चाहिए। 

केमिकल पील क्या होती है, इसे कैसे बनाया जाता है इसे करवाने के क्या फायदे हैं और क्या नुकसान हैं अब आपको ये सब बता रहे हैं। 

केमिकल पील क्या है 

किसी भी केमिकल को त्वचा पर इस्तेमाल करने के साइड इफेक्ट भी जरुर होते हैं लेकिन केमिकल पील की बात करें तो ये स्किन के डेड सेल्स को निकालकर त्वचा को हेल्दी बनाने में मदद करता है। इससे रूखी त्वचा, झुर्रियों, महीन रेखाओं और मुहांसों के दाग भी दूर होते है। पील बनाने के लिए नैचुरल एसिड्स (acids) और कैमिकल्स को मिक्स करके एक पेस्ट तैयार किया जाता है। यह स्ट्रेच मार्क्स को काफी कम करने के साथ-साथ ही उम्र के निशानों को भी मिटाता है।

chemical peeling type benefits

Image Courtesy: freepik.com

केमिकल पील्स एक तरह का कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट है जिसे चेहरे की रंगत में सुधार करने के लिए अपनाया जाता है ।केमिकल फेशियल में टॉक्‍सिक केमिकल पेस्ट को कंट्रोल तरीके से त्‍वचा में डाल कर स्किन सेल्स को ठीक किया जाता है। इससे चेहरे के निशान ठीक हो जाते हैं। साथ ही त्‍वचा में एक अलग सी चमक आ जाती है।

केमिकल पील कितने तरह की होती है

केमिकल पील 3 तरह की होती है- सुपरफेशियल, मीडियम और डीप। सुपरफेशियल और मीडियम डेप्थ वाली पील्स अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड होती हैं। जैसे कि ग्लाइकॉलिक एसिड, मैंडेलिक एसिड, कॉजिक एसिड और लैक्टिक एसिड। ये पील्स सुपरफेशियल हाइपरपिग्मेंटेड स्किन को रिमूव करती हैं।

कुछ महिलाएं समझती हैं कि केमिकल पील स्किन की वाइटनिंग और ब्राइटनिंग ही करवायी जाती है लेकिन ऐसा भी नहीं है। केमिकल पील को एक्ने ट्रीटमेंट के लिए भी करवाया जाता है और सैलिसिलिक एसिड पील्स एक्ने के लिए ही हैं।

chemical peeling type benefits and side effects

Image Courtesy: freepik.com

इस तरह होता है केमिकल पील ट्रीटमेंट

केमिकल पील ट्रीटमेंट स्किन के हिसाब से किया जाता है। एक कैमिकल सॉल्यूशन स्किन पर लगाया जाता है। जो दो तरह से काम करता है एक इससे आपकी स्किन की डेड लेयर निकल जाती है और दूसरा को इससे स्‍किन साफ हो जाती है। आप ये भी कह सकती हैं कि केमिकल पील से डेड या पुरानी हो चुके स्किन सेल्‍स में फिर से जान डल जाती है जिससे आपकी स्किन पर ग्लो आ जाता है।

केमिकल पील के फायदे 

एंटी-एजिंग, पिगमेंटेशन से छुटकारा पाने के लिए और एक इवेन स्किन टोन पाने के लिए, ऐसी ही कई वजहों के लिए केमिकल पील्स का इस्तेमाल किया जाता है। यहां तक कि जिन्हें और भी कोई स्किन से जुड़ी समस्या है और अगर आपकी स्किन डल है तो केमिकल पील्स एक अच्छा ऑप्शन है, ये आपकी स्किन में शाइन लाएगा।

केमिकल पील के साइड इफेक्ट 

कुछ पील्स से इन्फेक्शन और रिएक्शन होने की संभावना होती है, इसीलिए इन्हें काफी ध्यान के साथ इस्तेमाल करें। इसीलिए ये ज़रूरी हो जाता है कि इन्हें इन्स्ट्रक्शन्ज़ (निर्देशों) को फॉलो करके ही इस्तेमाल करें इससे आपकी त्वचा बिल्कुल सुरक्षित रहेगी। ध्यान रखने योग्य बातें इसे इस्तेमाल करने के बाद ध्यान रखें कि बिना किसी प्रोटेक्शन के धूप में ना निकलें। सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें और डॉक्टर के इन्स्ट्रक्शन्ज़ को फॉलो करें। रेटिनॉल वाले प्रोडक्ट्स का भी इस्तेमाल ना करें।

वैसे आपको ये भी बताना जरुरी है कि केमिकल पील ट्रीटमेंट प्रेगनेंट महिलाओं को, एक्जिमा या त्वचा की दूसरी किसी बीमारी के मरीजों को अपने डर्मेटोलॉजिस्ट (Dermatologist) की सलाह के बिना गलती से भी नहीं करवानी चाहिए।