बालों से जुड़ी बहुत सी गलत धारणाओं को हम मानते आ रहे है और हमारी समस्‍या ये है कि हमें सही तथ्‍यों को जानते भी नहीं है, और यही वजह है कि न जाने कितने मिथ्य सदियों से हम मानते आ रहे हैं। आज हम आपको बता रहे है ऐसे ही कुछ मिथ्य के बारे में, जिन्‍हें जानकर आप उनमें सुधार कर सकें। तो आइए जानें हमारे बालों से जुड़ी कौन सी बातें सही है और कौन सी गलत।

hair related misconceptions and remove these inside

इसे जरूर पढ़ें: जानिए आपके लिए कौन सी लिपस्टिक है बेहतर मैट, क्रीमी या ग्लॉसी?

मिथ्य: सफेद बालों को तोड़ने से ज्‍यादा सफेद बाल उगते है

ऐसा माना जाता है कि एक सफेद बाल तोड़ने से तीन नए सफेद बाल निकल आते है, लेकिन आपको बता दें कि जैसी धारणा गलत है, ऐसा बिल्‍कुल नहीं होता। बालों का सफेद होना पूरी तरह से आपके खान-पान और आनुवंशिक लक्षण पर निर्भर करती है। इनका सफेद बालों को तोड़ने या नहीं तोड़ने से कोई संबंध नहीं।

मिथ्य: ऑयल के इस्‍तेमाल से दो मुंहे बाल नहीं होते

दो मुंहे बालों पर किसी भी तरह का पैक या तेल बेअसर होता है। अगर आपको दो मुंहे बाल की समस्या है तो यह समस्‍या सिर्फ बाल को काटने से खत्म होते हैं। वैसे दो मुंहे बालों की समस्‍या से छुटकारा पाने के लिए बालों को रात को सोने से पहले बांधकर सोएं।

मिथ्य: रोजाना शैम्पू नहीं करना चाहिए

हम ऐसा सुनते आ रहे है कि रोजाना शैम्पू नहीं करना चा‍हिए, ऐसा करने से बालों को नुकसान पहुंचता है। ऐसा कहा जाता है कि हर दिन शैम्पू करने से बालों के प्राकृतिक तेल अधिक मात्रा में बनने लगते हैं। लेकिन हम आपको बता दें डैली शैम्पू करने से तेल के उत्पादन का कोई संबंध नहीं है, इसलिए आप चाहे तो हर दिन शैम्पू कर सकती हैं।

common hair care myths inside

मिथ्य: बालों को काटने से वो ज्‍यादा बढ़ते है

जैसा की हमें पता है बाल जड़ से बढ़ते हैं, फिर ये धारणा कैसे सही हो सकती है की बालों को काटने से वो ज्‍यादा बढ़ेगे। आपको बता दें कि बालों को काटने से या फिर मुड़वाने से वो बढ़ती नहीं हैं। क्योंकि, बालों का बढ़ना केवल उसके आनुवंशिक कारणों पर निर्भर करता है।

मिथ्य: बालों को ब्लो ड्राय नहीं करना चाहिए

वैसे तो आमतौर पर महिलाएं अपने बालों को तौलिये से घिसकर या फटकार कर सूखाती हैं, लेकिन आपको बता दें कि ये बाल सुखाने का गलत तरीका है। बालों को हमेशा किसी नरम कपड़े से हल्के हाथों से दबाकर सुखाना चाहिए। अगर किसी के बाल छोटे हैं तो उन्हे बिना ब्लो ड्राय किए भी सूखा सकती हैं, लेकिन बाल लंबे हैं, तो उन्हे ब्लो ड्राय करना ही सही रहता है। बालों में ज्‍यादा देर तक पानी सोखे रहने से वो आपके तबीयत के लिए नुकसानदेह हो सकता है। आपको बता दें बालों को ब्लो ड्राय करने से बाल खराब नहीं होते।

मिथ्य: पानी के ठंडे या गरम होने से बाल पर असर पड़ता है

आपको बता दें कि पानी के ठंडे या गरम होने से बालों पर किसी तरह का कोई असर नहीं पड़ता है। पर अगर आपकी तबीयत खराब है और आपको सर्दी-जुकाम या खांसी हो रखी है तो आप ठंडे पानी से बाल न धोएं। वैसे आमतौर पर आप बालों को धोने के लिए ठंडे और सुसुम पानी का इस्तेमाल कर सकती हैं।

मिथ्य: बालों पर कंघी करने से वो साफ्ट होते है

बालों पर बहुत ज्‍यादा कंघी नहीं करना चाहिए, इससे बाल ज्‍यादा टूटते है। ऐसी धारणा है कि बालों पर कंघी करने से वो साफ्ट होते है, लेकिन ऐसा नहीं है। यह बालों के आनुवंशिक कारणों पर निर्भर करता है। हेयर कलर कराने से पहले ध्यान रखें ये 5 बातें, कभी नहीं होंगे बाल खराब

know about common hair care myths inside

मिथ्य: सर की सूखी त्वचा के कारण डैंड्रफ होती है

सर की त्वचा अधिक तैलिय होने से डैंड्रफ होती है, न कि सूखी होने से। अगर आपको डैंड्रफ की समस्या है, तो तेल का इस्‍तेमाल न करें, इससे डैंड्रफ की समस्या बढ़ सकती है। रीठा और शिकाकाई के इस्तेमाल से दूर हो जाती हैं ये 4 हेयर प्रॉब्लम्स

 

मिथ्य: शैम्पू को बदलते रहना चाहिए

शैम्पू के इस्तेमाल को लेकर अकसर लोग असमंजस में रहते हैं, पर हम आपको बता दें कि शैम्पू को बदलने या नहीं बदलने से बालों पर कोई असर नहीं पड़ता है। इस तरह करें शॉर्ट हेयर की केयर, आएगा कूल और पार्टीवियर लुक

know about hair related misconceptions inside

इसे जरूर पढ़ें: Makeup Tips: इन 8 सिंपल स्‍टेप्‍स में ऑफिस के लिए करें अपना पूरा मेकअप

मिथ्य: बालों के देखभाल से वह घने हो जाएंगे

आपके बाल आनुवंशिक कारणों से मोटे या पतले होते है, शैम्पू या कंडीशनर का बालों को मोटा या पतला नहीं कर सकते। यहां तक की ज्‍यादा तेल लगाने या मसाज करने से मोटे या पतले होते है, यह धारणा भी गलत है।