• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

आइए जानते हैं हिंदू विवाह के 8 पारंपरिक रूप के बारे में

अगर आप हिंदू विवाह के 8 पारंपरिक रूप के बारे में जानना चाहते हैं तो आइए इस लेख को पढ़ते हैं। 
author-profile
forms of hindu marriage in india

अच्छा अगर आपसे यह सवाल किया जाए कि हिन्दू विवाह के कितने रूप होते हैं तो आपका जवाब क्या हो सकता है? शायद आप बोलें कि हम तो सिर्फ विवाह के बारे में जानते हैं जो हमारे यहां होती है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हिंदू विवाह के 8 पारंपरिक रूप होते हैं। अगर आप हिंदू विवाह के 8 पारंपरिक रूप के बारे में जानकारी चाहते हैं तो आपको भी इस लेख को ज़रूर पढ़ना चाहिए। आइए जानते हैं।  

1गंधर्व विवाह

traditional forms of hindu marriage in india Inside

गंधर्व विवाह को देवताओं से जोड़कर देखा जाता है। ऐसा माना जाता है कि गंधर्व विवाह में वर-वधु के राजी होने पर किसी स्थानीय ब्राह्मण के घर से लाई अग्नि से हवन होता था। हवन होने के बाद दोनों ही हवन कुंड के तीन फेरे लेते थे और इस प्रकार वर और वधू का विवाह संपन्न मान लिया जाता था। कहा जाता है कि गंधर्व विवाह आज भी भारत के कई राज्यों में फॉलो किया जाता है।

 

2ब्रह्म विवाह

 traditional forms of hindu marriage in indiaInside

भारत में अगर विवाह की कोई परंपरा सबसे अधिक प्रचलित है तो उसका नाम है ब्रह्म विवाह। हिन्दू धर्म में इसे श्रेष्ठ किस्म का विवाह माना जाता है। इस विवाह में वर पक्ष और कन्या, दोनों पक्ष की सहमति के बाद विवाह सुनिश्चित होता है। इस विवाह में दक्षिणा एवं उपहार आदि देकर वर के साथ कन्या को सुबह के आसपास विदा कर दिया जाता है। (आगरा में वेडिंग शॉपिंग के लिए बेस्ट जगहें)

3प्राजापत्य विवाह

traditional forms of hindu marriage in india Inside

आपने कभी न कभी बाल विवाह के बारे में ज़रूर सुना होगा। अगर हां, तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्राजापत्य विवाह को ही बाल विवाह कहा जाता है। कहा जाता है कि प्राजापत्य विवाह में दोनों का छोटी आयु में ही उनकी आज्ञा के बिना विवाह करा दिया जाता था।

4पैशाच विवाह

traditional forms of hindu marriage in india Inside

शादी के कई तरीकों का जिक्र हिंदू धर्म ग्रंथों में किया गया है। इन्हीं में से एक है पैशाच विवाह। कहा जाता है कि जबरन या बेहोशी की हालात में कन्या की शादी करना पैशाच विवाह कहा गया है। कई लोगों का यह मानना है कि पैशाच विवाह का जिक्र मनुस्मृति में भी किया गया है।

5आर्ष विवाह

traditional forms of hindu marriage in india Inside

हिंदू विवाह के 8 पारंपरिक रूप में से आर्ष/आर्श विवाह भी एक विवाह है। कहा जाता है कि आर्ष विवाह में वर पक्ष के लोग कन्या को अपने घर ले जाते समय कन्या के घर वालों को गाय या बैल का एक जोड़ा उपहार में देते थे। गाय या बैल का जोड़ा देने के बाद ही विवाह को संम्पन माना जाता था। (कब से शुरू हो रहा है हिंदू नव वर्ष?)

6असुर विवाह

traditional forms of hindu marriage in india Inside

हालांकि, यह विवाह बहुत पहले निर्धन परिवारों की कन्याओं के साथ ज्यादा होता था। कहा जाता है कि इस विवाह में कन्या पक्ष के लोग वर पक्ष के लोग से एक निश्चित मूल्य लेकर कन्या दान कर देते थें। कहा जाता है कि प्राचीन काल में इसका प्रचलन सबसे अधिक था और एक तरह से इस विवाह में कन्या का सौदा होता था।

7राक्षस विवाह

traditional forms of hindu marriage in india=Inside

हालांकि, अब यह विवाह प्रचलन में नहीं है। लेकिन प्राचीन काल में कहा जाता था कि राक्षस विवाह में किसी कन्या को बलपूर्वक, डरा-धमकाकर विवाह किया जाता था जिसे राक्षस विवाह करते हैं। इस विवाह में छल, कपट, बाहुबल का भी प्रयोग किया जाता था।

8देव विवाह

traditional forms of hindu marriage in india Inside

कहा जाता है देव/दैव विवाह ब्रह्म विवाह का ही रूप है। कहा जाता है कि प्राचीन काल में देव विवाह में कोई धार्मिक अनुष्ठान इत्यादि नहीं होता था। कहा जाता है कि देव विवाह किसी विशेष परिस्थितियों में ही किया जाता था।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।