Pregnancy के दौरान एक्सरसाइज करने से कम होता है डिलीवरी pain

By Sunil Kumar22 Feb 2018, 18:07 IST

कई महिलाओं ये सोचतीं हैं कि गर्भावस्था के दौरान किसी भी तरह की फिजकल एक्टिविटी नहीं करनी चाहिए। जिससे बच्चे को किसी भी तरह का नुकसान पहुंचे। लेकिन हकीकत में ऐसा कुछ नहीं है। महिलाओं को बल्कि प्रेग्नेंसी के दौरान हल्का-हल्का व्यायाम जरूर करना चाहिए। हां ये बात सच है कि इस दौरान आपको किसी भी तरह का भारी वजन नहीं उठाना चाहिए। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप बिलकुल भी किसी भी तरह की कोई exercise ना करें। ऐसा करना आपकी और आपके बच्चे की सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

प्रेग्नेंसी pain होता है कम

डॉक्टरों का मानना है अगर कोई भी महिला नियमित व्यायाम या कोई हल्की-फुल्की एक्सरसाइज करती है। तो उसे डिलीवरी पेन बहुत ही कम होता है। जिसका ये मतलब ये है कि उस दौरान आपकी मसल्स काफी स्ट्रॉंग और फ्लेक्सिबल रहतीं हैं। जो आसानी से अपने आकार को बदल लेतीं हैं। वहीं दूसरी ओर ये प्रेग्नेंसी के दौरान पैदान होने वाले रिस्क को भी कम कर देती है। यानिकी वो आपकी प्रेग्नेंसी के हाई रिस्क को लॉ रिस्क में ले आती है।

डायबिटीज को रखती है दूर

Pregnancy में Exercise करने से गर्भावस्था के दौरान होने वाले डायबिटीज की शिकायत भी दूर रहती है, जो कि गर्भ को नुकसान पहुंचा सकता है। गर्भावस्था के अधिकतर दिनों में 20 से लेकर 30 मिनट तक हल्के व्यायाम की सलाह दी जाती है।

स्ट्रेचिंग  एक्सरसाइज

अगर आप चाहतीं हैं की प्रेग्नेंसी के दौरान आपको डिलीवरी में होने वाले दर्द से होकर ना गुजरना पड़े, तो आपको रोजाना अपनी दिनचर्या में हल्की फुल्की स्ट्रेचिंग की एक्सरसाइज करनी चाहिए। जिससे ये आपकी मसल्स को अकड़ने नहीं देगी। जिसका मतलब ये हुआ कि इस दौरान ज्यादातर पर आप घर के काम कम ही करतीं हैं। जिससे आपकी मसल्स एकदम अकड़ जातीं हैं।

Watch more: ये है तमन्ना भाटिया की सेक्सी बॉडी का फिटनेस मंत्रा

Neck को रखें फ्लेक्सिबल

प्रेग्नेंसी के दौरान आपको ज्यादा भारी भरकम वजन नहीं उठाना है। बस रोजाना सुबह-शाम हल्की हल्की एक्सरसाइज करनी है। एक जगह बैठे-बैठे कई बार आपकी गर्दन अकड़ जाती है। इसे एकदम एक्टिव और pain free रखने के लिए आप ये neck रोटेशन की हल्की एक्सरसाइज कर सकतीं हैं। आपको इसमें ज्यादा कुछ नहीं बस हल्के-हल्के अपनी गर्दन को रोटेट करना  है। पहले आपको सीधे से उलटे की तरफ उसके बाद उलटे से सीधे की तरफ घुमाना है। इस एक्सरसाइज से आपकी गर्दन की नसें एकदम खुली रहेंगीं।

कंधों की एक्सरसाइज

आपने साइकिल के पहिये को तो गोल-गोल घूमते हुऐ देखा होगा..। अगर आप यही मूवमेंट अपने कंधों पर लागू करतीं हैं तो ये आपके कंधों को एक हल्की एक्सरसाइज बन सकती है। आपको बस अपने दोनों हाथों को आल्ती-पाल्ती मारकर बैठकर अपने घुंटनों पर रखना है। इसके बाद आपको अपने दोनों हांथो को elbow से किसी भी तरह का बाईंड नहीं करना है। इसके बाद आप अपने दोनो कंधों को एक साथ गोल-गोल घुमाईये। ये आपके कंधो की मसल्स को एकदम ठीक और एक्टिव रखेगा।

भस्त्रिका प्रणायाम

प्रेग्नेनसी के दौरान आपके लिए योगा करना बेहद ही फायदेमंद रहेगा। एक तरफ तो ये आपको मानसिक शांति देगा तो दूसरी तरफ आपके अंदर के ऑर्गन को फ्लेक्सिबल भी रखेगा। इसे करते वक्त आपको बॉडी को बिलकुल हल्का रखना है। लंबी-लंबी सांसो को आपको धीरे-धीरे nose से लेना है और बिलकुल धीरे-धीरे आपको इसे छोड़ना है। आप इसे रोजाना लगभग 5 मिनट तक कर सकतीं हैं।

 

Credits

Producer: Prabhjot Kaur

Video Editor: Syed Afraz