खुद को फिट और जवां रखने के लिए अच्‍छी डाइट के साथ-साथ डेली रूटीन में एक्‍सरसाइज को भी शामिल करना चाहिए। अच्छी हेल्‍थ के लिए एक्सरसाइज को सबसे अच्छा माना जाता है। एक्‍सरसाइज करने से हमारी बॉडी फिट और हेल्‍दी रहती है। साथ ही हमें सारा दिन ताजगी महसूस रहती है और हमारी मसल्‍स को मजबूत बनाया जा सकता है। लेकिन अगर इसका सही तरीके से ख्‍याल नहीं रखेंगी तो आपकी बॉडी खराब हो सकती है, और अक्‍सर महिलाएं सुनी-सुनाई बातों में आकर फिटनेस के प्रति लापरवाह हो जाती है। जी हां महिलाओं के मन में फिटनेस को लेकर कई मिथ है, जैसे स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग महिलाओं को नहीं है जरूरत, वेट लॉस करना है तो जिम में ज्यादा टाइम बिताना जरुरी है और बैली फैट कम करने के लिए केवल क्रंचिस ही बहुत हैं।

अगर आपके मन में भी फिटनेस को लेकर इस तरह के मिथ हैं तो इस वीडियो के माध्‍यम से यास्मीन कराचीवाला से फिटनेस से जुड़ें इस मिथ की सच्‍चाई के बारे में जानें। जी हां herzindagi से खास बातचीत में सेलिब्रिटी फिटनेस एक्सपर्ट यास्मीन कराचीवाला ने हमें इस मिथ की सच्‍चाई के बारे में बताया। हमारे साथ-साथ आप भी जानें।   

इसे जरूर पढ़ें: यास्मीन कराचीवाला से जानें पिलाटेस की हिस्ट्री और फायदे 

मिथ : रेजिस्टेंस ट्रेनिंग से महिलाएं चौड़ी हो जाती हैं।

फैक्‍ट : यास्मीन कराचीवाला का कहना हैं कि यह भ्रम महिलाओं को इसलिए हुआ है क्‍योंकि उन्‍हें लगता हैं कि अगर वेट ट्रेनिंग कोई बोल रहा है तो इसका मतलब सलमान खान या बॉडी बिल्‍डर के जैसे वेट उठाना पड़ेगा। लेकिन अगर आप अपना बॉडी वेट उठाकर कोई एक्‍सरसाइज कर रही है जैसे स्क्वॉट, लंग्‍जेज, अपर बॉडी पुशअप या अगर आप वॉल भी कर रही है तो उसको भी वेट ट्रेनिंग बोला जाता है। यह बहुत ही सिंपल है। इसका मतबल ये नही हैं कि आपको 10 किलो का वजन उठाकर एक्‍सरसाइज करनी हैं। 

मिथ : स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग की महिलाओं को जरूरत नही है।

फैक्‍ट : महिलाओं के लिए स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग बहुत ही जरूरी हैं। क्‍योंकि जैसे हमारी उम्र बढ़ती जाती है, महिलाओं की बोन कमजोर हो जाते हैं और महिलाएं मां भी बनती हैं। उम्र बढ़ने के साथ महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस होता है। अर्थराइटिस परेशान करने लगता है। इन सबसे बचने के लिए अपने मसल्‍स को मजबूत रखना बहुत जरूरी है, क्‍योंकि मसल्‍स बोन्‍स की सुरक्षा करते हैं। इसलिए हमारे लिए स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग करना बहुत जरूरी है। इसलिए मुझे पिलाटेस बहुत अच्‍छा लगता है।

मिथ : वेट लॉस के लिए जिम में ज्यादा टाइम बिताना जरुरी है।

फैक्‍ट : महिलाओं का मानना हैं कि वेट लॉस के लिए जिम में ज्‍यादा टाइम बिताना बहुत जरूरी है। लेकिन किसी के लिए भी 3 घंटे से ज्‍यादा एक्‍सरसाइज करना ठीक नहीं होता है। क्‍योंकि वह आपकी बॉडी के लिए अच्‍छा नहीं है। एक टाइम में 45 से 1 घंटा एक्‍सरसाइज करना ठीक रहता है।

इसे जरूर पढ़ें: आलिया और कैटरीना के फिटनेस सीक्रेट के बारे में यास्‍मीन कराचीवाला से जानिए

मिथ : बैली फैट कम करने के लिए केवल क्रंचिस ही बहुत हैं।

फैक्‍ट : आपके बैली फैट को कम करने के लिए बहुत जरूरी हैं कि आप इस बात का ध्‍यान रखें कि आप क्‍या खाते और पीते हैं, क्‍योंकि कहा जाता है कि 75 प्रतिशत एब्‍स आपके किचन में बनते हैं और 30 प्रतिशत आपके वर्कआउट से बनते हैं। दिन में 24 घंटे होते हैं जिनमें से आप सिर्फ 2 घंटे ही एक्‍सरसाइज करते हैं बाकी के 22 घंटे आप अपनी बॉडी में क्‍या डाल रहे हैं, उसका असर भी होता है। आप उस 2 घंटे में उस 22 घंटे का खान-पीना नहीं निकाल सकते हैं। तो बैली फैट को कम करने के लिए अपनी डाइट पर ध्‍यान दें।