• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

अनीता डोंगरे फैशन के जरिए कर रही हैं महिलाओं का सशक्तीकरण

जानी-मानी भारतीय डिजाइनर अनीता डोंगरे फैशन के जरिए जमीन से जुड़ी महिलाओं का सशक्तीकरण कर रही हैं। अनीता का कहना है कि बेरोजगारी से निपटने के लिए महिला...
author-profile
Next
Article
ANITA DONGRE WOMEN EMPOWERMENT article

भारतीय फैशन डिजाइन अनीता डोंगरे ने हाल ही में न्यूयॉर्क में अपना फ्लैगशिप  बुटीक शुरू किया तो उसमें दो खास मेहमान थे गौरीबेन और सखीबेन। ये दोनों महिलाएं गुजरात के बकूतरा गांव से थीं। गौरीबेन ने इस मौके पर कहा, 'मैं यहां आकर बहुत खुश हूं। हमारी कला यहां जिस तरह से सराही जा रही है, उससे मैं काफी खुश हूं।'

ANITA DONGRE WOMEN EMPOWERMENT inside

अनीता भारत की चोटी की डिजाइनरों में से एक हैं और उन्होंने बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक कई बड़ी शख्सीयतों की ड्रेसेस डिजाइन की हैं। जब उन्होंने साल 2106 में केट मिडिल्टन की ड्रेस डिजाइन की थी, तो उनकी उनकी वेबसाइट पर इतने लोग आ गए कि वह क्रेश ही हो गई। अनीता अपने ब्राइडल, आरामदायक वेस्टर्नवियर और युवा लुक देने वाले ग्लोबल देसी के लिए जानी जाती हैं। तीन साल पहले उन्होंने ग्रासरूट लॉन्च की थी। इस लेबल के लिए भी उन्होंने जमीन से जुड़ी महिलाओं के साथ कोलेबोरेशन किया था। इसी समय में वह पहली बार गौरीबेन से रूबरू हुई थीं। यहां उन्हें सेल्फ एंप्लॉयड वुमन एसोसिएशन नाम के एनजीओ के बारे में भी पता चला, जो महिलाओं को उनके घर में ही रोजगार मुहैया कराता है। तब अनीता ने गौरीबेन से कहा था, 'हम आपकी कला को पश्चिमी दुनिया तक लेकर जाएंगे और निश्चित रूप से यह वहां भी पसंद की जाएगी। उस समय में यह बात मैंने उत्साह में कही थी और अब साढ़े तीन साल बाद मैंने यहां काम शुरू किया और गौरीबेन मेरे साथ है।'

हुनर को मिली पहचान

अनीता का यह लेबल जमीन से जुड़ी महिलाओं की उस प्रतिभा को सामने लाता है, जो सदियों से रही है और जिसने इन महिलाओं को अपने लिए आजीविका कमाने का विश्वास दिया है। राजस्थान की हैंड ब्लॉक पेंटिंग से लेकर उत्तर प्रदेश की हाथ की बुनाई और गुजरात की हाथों से की गई एंब्रॉएड्री तक गौरीबेन और सखीबेन की कलाकारी में कई तरह के हुनर नजर आते हैं। अनीता इसके बारे में कहती हैं, 'दरअसल यही वे महिलाएं हैं, जो हमारे देश में बदलाव लेकर आ रही हैं।'

लौटें गांव की ओर

इन देसी कलाकारों के हाथ का जादू ऐसा है कि उनके टॉप्स, पैंट्स और अनूठे ड्रेसेस की शान देखते ही बनती है। अनीता काफी पहले से ही महिलाओं को फैशन के जरिए सशक्त बनाने की दिशा में काम कर रही हैं। इस बारे में अनीता का कहना है, 'मुझे विश्वास है कि भारत के सामने जो बड़े मुद्दे हैं, उनमें से एक रोजगार है और इस समस्या को सुलझाने के लिए गांव की तरफ लौटने की जरूरत है और दूसरी जरूरत है महिलाओं को सशक्त बनाने की।'

Recommended Video

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।