भगवान श्री कृष्ण के बाल स्वरूप को लड्डू गोपाल कहा गया है और यह स्वरूप लगभग हर हिंदू परिवार में आपको घर के मंदिर में रखा मिल जाएगा। शास्त्रों में लड्डू गोपाल की सेवा के कुछ नियम भी बताए गए हैं। दरअसल, लड्डू गोपाल की सेवा बिल्कुल वैसे ही की जानी चाहिए जैसे की आप घर पर किसी बच्‍चे की करते हैं। इतना ही नहीं, मौसम के हिसाब से लड्डू गोपाल की दिनचर्या भी बदलती रहती है। इसलिए उनकी सेवा के दौरान इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि मौसम सर्दी का है या गर्मी का। 

हालांकि, सर्दी और गर्मी के मौसम में लड्डू गोपाल की होने वाली सेवा में बहुत अधिक अंतर नहीं है, फिर भी कुछ चीजों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस बारे में हमने भोपाल निवासी पंडित एवं ज्योतिषाचार्य विनोद सोनी जी से बात की। वह कहते हैं, 'लड्डू गोपाल केवल अपने भक्त की श्रद्धा और आस्था देखते हैं, उन्हें इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि आप उन्‍हें क्‍या अर्पित कर रहे हैं। हालांकि, यदि आप लड्डू गोपाल की सेवा विधि पूर्वक कर पाते हैं, तो इसका फल भी आपको जरूर मिलता है।'

इस वक्त सर्दियों का मौसम चल रहा है, तो आप लड्डू गोपाल की सेवा में थोड़ा बहुत बदलाव जरूर करें- 

इसे जरूर पढ़ें: Aghan Maas 2021: अगहन मास में भगवान श्रीकृष्ण की पूजा से मिलता है विशेष फल

how  to  do  laddu  gopal  seva

लड्डू गोपाल को सुबह कब उठाएं? 

सर्दियों के मौसम में लड्डू गोपाल को 7 बजे के करीब ही उठाएं। हालांकि, गर्मियों के मौसम में आप लड्डू गोपाल को 5 बजे ही उठा सकते हैं, मगर ठंड के मौसम में आप लड्डू गोपाल को थोड़ी देर से ही उठाएं क्योंकि ठंड में जैसे हमें सर्दी लगती है, वैसा ही अनुभव लड्डू गोपाल भी करते हैं। 

कब कराएं लड्डू गोपाल को स्नान?  

लड्डू गोपाल को वैसे तो सुबह ही स्नान करवाना चाहिए, मगर सर्दियों के मौसम में हो सके तो लड्डू गोपाल को धूप में ले जा कर स्नान करवाएं। इतना ही नहीं, उनके स्नान के पानी को हल्का गुनगुना रखें। स्नान के जल में तुलसी की पत्ती जरूर मिलाएं। पंडित जी कहते हैं, 'अगहन मास चल रहा है अगर आप इस दौरान किसी पवित्र नदी के पानी में तुलसी की पत्ती डालकर लड्डू गोपाल को स्नान कराते हैं, तो इससे आपकी सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।'

वैसे तो भगवान श्रीकृष्ण को चंदन अति प्रिय है। मगर चंदन ठंडा होता है इसलिए सर्दियों में चंदन की जगह आप गुलाब के फूल की पंखुड़ियों या फिर शहद के लेप से भी लड्डू गोपाल को साफ कर सकते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: लड्डू गोपाल के कपड़ों को इस तरह करें साफ

laddu  gopal  ki  seva  ke  niyam

कैसा होना चाहिए लड्डू गोपाल का श्रृंगार?  

बाजार में आपको लड्डू गोपाल के लिए बहुत से गर्म कपड़े मिल जाएंगे। मगर आप डायरेक्ट गर्म कपड़ों की जगह पहले लड्डू गोपाल को पोशाक पहनाएं और ऊपर से गर्म कपड़े पहना दें। लड्डू गोपाल का श्रृंगार आपको बिल्कुल वैसे ही करना है जैसे आप नियमित रूप से करते हैं। 

लड्डू गोपाल को भोग में क्या चढ़ाएं?

सर्दियों में गर्म दूध, ड्राई फ्रूट्स, गोंद के लड्डू, गाजर का हलवा, सर्दियों में आने वाले फल और सब्जियों आदि का भोग आप लड्डू गोपाल को लगा सकते हैं। इस मौसम में आपको गुड़, गजक और तिल के लड्डू का भी भोग लड्डू गोपाल को जरूर लगाना चाहिए। यह सभी सर्दियों के मौसम में खाने वाली चीजें हैं, जिन्हें भोग में लड्डू गोपाल को अर्पित किया जा सकता है। (इस विधि से लगाएं लड्डू गोपाल को भोग)

 

लड्डू गोपाल के सोने का वक्त? 

लड्डू गोपाल को सर्दियों में दोपहर और रात के वक्त जब आप सुलाएं, तो पहले उनकी आरती करें और उनके बिस्तर पर गर्म चादर या शॉल बिछा दें। इसके साथ ही, इस मौसम में लड्डू गोपाल को आप थोड़ा जल्दी भी सुला सकते हैं, क्योंकि इस मौसम में हम खुद भी जल्दी सोना पसंद करते हैं। 

अगर आपके घर में भी लड्डू गोपाल हैं, तो आप भी उनकी सेवा इस प्रकार कर सकते हैं। यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हर‍जिंदगी से।  

 Image Credit: Shutterstock